रविवार, 14 अगस्त 2011

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 21-30

101 ई-शिष्टाचार

image5
एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना करते हैं – “क्या यह ठीक होगा कि मैं किसी अजनबी के फ़ेसबुक मित्र निवेदन को अनदेखा कर दूं?” “रेस्त्रॉ में टेबल पर मोबाइल फ़ोन रखना क्या शिष्टाचार के विरुद्ध है?” या “कैफ़े कॉफ़ी डे के फ्री वाई-फ़ाई को मैं बिना कुछ ऑर्डर किए कितनी देर तक मुफ़्त में प्रयोग करता रह सकता हूँ?”
डिजिटल लाइफ़ स्टाइल हमारे दैनिंदनी जीवन और आचार व्यवहार तथा शिष्टाचार में बड़ी मात्रा में परिवर्तन ला रहे हैं. अब लाख टके का सवाल ये है कि ऐसे में, नए, डिजिटल जमाने में ई-शिष्टाचार सीखने के लिए हम किसकी शरण में जाएँ?
यहाँ पर ई-एटीकेट में संकलित 101 ई-शिष्टाचारों को विशेष अनुमति से खास आपके लिए प्रस्तुत कर रहे हैं. इन ई-शिष्टाचारों को लंबे समय के अंतराल में तमाम प्रयोक्ताओं के सुझावों के आधार पर संकलित किया गया है, और हर किसी के लिए उपयोगी हैं. तो, आपके लिए पहला शिष्टाचार यह है कि इसे अधिकाधिक लोगों तक प्रेषित करें ताकि हम सबका डिजिटल जीवन शिष्टाचार मय हो.

ई-शिष्टाचार – 21-30

21.    दूसरों के कंप्यूटर स्क्रीन पर तांक-झांक नहीं करें. दूसरों की निजता का खयाल रखें.


22.    दूसरों के ई-मेल, डाक्यूमेंट या अन्य फ़ाइलों को गोपनीय तरीके से पढ़ना एक तरह से चोरी है - अतः ऐसा न करें.



23.    जब लोग कंप्यूटर, एटीएम अथवा अन्य टर्मिनल पर कोई पासवर्ड भर रहे हों तो पीछे हट जाएँ और दूसरी तरफ देखें.

24.    पेन और काग़ज की शक्ति को भूलें नहीं. हाथ से लिखा धन्यवाद पत्र किसी भी फैंसी ई-मेल से लाख गुना ज्यादा असरकारी होता है.

25.    एक छोटा सा फ़ोन कॉल बहुत से ई-मेल संदेशों के आदान-प्रदान की बचत कर सकता है.

26.    लगातार हल्ला मचाते रहना कि आप बहुत बिजी हैं, ठीक विपरीत अर्थ निकालता है.

27.    भूखे हैं, थक गए हैं जैसे स्टेटस अपडेट न तो दिलचस्प होते हैं और न ही धनात्मक प्रभाव छोड़ते हैं. वही चीजें बताएं जो आपके प्रशंसकों के लिए दिलचस्प हों.

28.    ट्विटर में आप उन्हें भी फ़ालो कर सकते हैं जिन्हें आप जानते भी नहीं.

29.    अपनी पोस्टों में बारंबार सुधार करते रहने से मामला और बिगड़ता है. पब्लिश बटन दबाने से पहले थोड़ा और सोच विचार कर लें.


30.    अपने पोस्टों और सोशल नेटवर्किंग वाल पर अवांछित और अप्रिय टिप्पणियाँ कतई न आने दें और यदि आ भी गई हैं तो उन्हें तत्काल हटाएँ.

1 2 3 4 5 6 7 8 9 10

1 blogger-facebook:

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------