छींटे और बौछारें

व्यंग्य जुगलबंदी - बंगले के मरफ़ी के नियम

बंगले के मरफ़ी के नियम मरफ़ी का नियम, दिए गए किसी भी विषय, वस्तु अथवा विचार पर लागू होता है. यकीन नहीं होता? बंगला को ही लीजिए – *    कोई ...

ग़रीब और गंवार बने रहना चाहते हैं? फ़ेसबुक पर बने रहिए....

क्या आप अभी भी फ़ेसबुक पर हैं? च् च् च् च् ...

तेरे व्यंग्य में कितना महंगा तेल है?

व्यंग्य में सस्ता महंगा तेल तेल – अरे भाई, वही पेट्रोल और डीज़ल - की कीमतों ने सिर उठाया हुआ है. इतना कि एक पैसे की कीमत भी आसमान छूने लगी ...

मेरी नई, अद्यतित प्राइवेसी पॉलिसी

मेरी नई प्राइवेसी पॉलिसी ये निगोड़ी गोपनीयता नीति - प्राइवेसी पॉलिसी, हम जैसे निर्लिप्त, साधु किस्म के, हमारा क्या जाएगा-लेजाएगा टाइप इंटरने...

यह है एक पैसे की असली क़ीमत...

राजीव गांधी के जमाने में एक रूपए की कीमत पंद्रह पैसे हुआ करती थी. याद है फ़ेमस डॉयलॉग? अब एक पैसे  की असली कीमत करोड़ों में है - कुछ इस तरह ...

फ़ेसबुक ट्विटर पर ब्लॉक-ब्लॉक खेलने वालों, जरा संभल कर...

अब मुझे ब्लॉक कर दिखाओ! उम्र कैद की सजा मिलेगी!! व्यंज़ल क्योंकर हो गई है जिंदगी ब्लॉक हर कोई कर रहा दूजे को ब्लॉक वक्त हाथ से हाथ मिलाने का...