टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

ये तो, असहिष्णुता की हद है सरकार!

image

भले ही अब भारत में कहीं कोई बिहारिया किस्म के चुनाव न हो रहे हों जिसमें प्रायोजित राजनैतिक किस्म की असहिष्णुता की बातें हों, मगर ये कोई टाइम और कोई तरीका है अच्छे खासे ऐन कैन प्रकारेण नावां कमाते जनता के प्रति सचमुच में असहिष्णु होने का!

इस सरकारी असहिष्णुता से बहुत से भले लोग दुबई या स्विटजरलैंड का रूख करेंगे. भारतभूमि तो अब वाकई बहुत असहिष्णु हो गई है. बू हू हू… Sad smile

 

व्यंज़ल

न पूछें कौन हैं लेन-देन में

बाप बेटे भी हैं लेन-देन में

 

कब क्यूं कहाँ कौन किससे

सभी तो लगे हैं लेन-देन में

 

यार ऊंच नीच तो होगी ही

वो प्यार के हैं लेन-देन में

 

जिनकी जमीनें सरकी हैं

वो वक्त के हैं लेन-देन में

 

कोई परग्रही नहीं है रवि

यहाँ हम भी हैं लेन-देन में

--

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget