ये तो, असहिष्णुता की हद है सरकार!

image

भले ही अब भारत में कहीं कोई बिहारिया किस्म के चुनाव न हो रहे हों जिसमें प्रायोजित राजनैतिक किस्म की असहिष्णुता की बातें हों, मगर ये कोई टाइम और कोई तरीका है अच्छे खासे ऐन कैन प्रकारेण नावां कमाते जनता के प्रति सचमुच में असहिष्णु होने का!

इस सरकारी असहिष्णुता से बहुत से भले लोग दुबई या स्विटजरलैंड का रूख करेंगे. भारतभूमि तो अब वाकई बहुत असहिष्णु हो गई है. बू हू हू… Sad smile

 

व्यंज़ल

न पूछें कौन हैं लेन-देन में

बाप बेटे भी हैं लेन-देन में

 

कब क्यूं कहाँ कौन किससे

सभी तो लगे हैं लेन-देन में

 

यार ऊंच नीच तो होगी ही

वो प्यार के हैं लेन-देन में

 

जिनकी जमीनें सरकी हैं

वो वक्त के हैं लेन-देन में

 

कोई परग्रही नहीं है रवि

यहाँ हम भी हैं लेन-देन में

--

टिप्पणियाँ

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें