आपकी फ़ाइल में हिंदी टैक्स्ट के बजाए डब्बे दिखते हैं? कुछ समाधान हाजिर हैं...

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

यूनिकोड हिंदी डिस्प्ले की समस्या यदा कदा मुंह मारते ही रहती है. हाल ही में एक पाठक ने अपनी समस्या रखी -

 

आदरणीय रतलामी जी ,
सादर सप्रेम प्रणाम ।

जब जीमेल पृष्ठ पर टाइप मैटर एम एस वर्ड पर पेस्ट करता हूँ तो सिर्फ
डिब्बे दिखाई पड़ते हैं ।

मैं चाहता हूँ कि आज तक जीमेल में संरक्षित समस्त रचनाएँ एम एस वर्ड में
पेस्ट कर मेमॉरीकार्ड में रख लूँ ।

कृपया अवगत कराएँ कम्प्यूटर में कौन-सा फॉन्ट होना जरूरी होगा ।उसकी कोई
लिंक हो तो बेहतर ।

कृपया आपके अति व्यस्त समय में विघ्न डालने का अपराध माफ कीजिएगा ।

आपका स्नेहाकांक्षी
****
 
यह एक बड़ी समस्या है. वैसे आमतौर पर ऐसी समस्या तब आती है जब यूनिकोड सामग्री का फ़ॉन्ट सिस्टम में इंस्टाल न हो. मगर यहाँ ऊपर दी गई समस्या में यह बात नहीं है. आप कोई यूनिकोड टैक्स्ट कॉपी पेस्ट करते हैं तो पाते हैं कि गंतव्य में तो डब्बा दिख रहा है. लगता है यह सारा मैटर कूड़ा हो गया. परंतु ऐसा नहीं होता, दरअसल पाठ तो मौजूद रहता है, बस डिस्प्ले में समस्या के कारण डिब्बे दिखते हैं.
ये डिब्बे आमतौर पर एमएस वर्ड 2007 तथा कुछ एमएस वर्ड 2010 की फ़ाइलों में होता है. इसके लिए कुछ सरल से उपाय हैं -
1 - ऐसी फ़ाइलों का मैटर कॉपी कर नोटपैड में पेस्ट करें और इसे सेव-एज विकल्प लेकर एनकोडिंग में यूटीएफ -8 एनकोडिंग चुन कर फ़ाइल सहेजें और फिर फ़ाइल बंद कर फिर से ओपन करें. आपका मैटर अब सही दिखना चाहिए. यदि इससे भी काम नहीं बनता है या यह झंझट वाला लगता है और यदि आपकी समस्या वर्ड 2010 में है तो आपके लिए यह दूसरा विकल्प उत्तम है -
2 - ऐसी फ़ाइलों को एमएस वर्ड 2010 में सेव एज विकल्प चुन कर docx फ़ॉर्मेट (ध्यान दें कि doc फ़ॉर्मेट में नहीं,)में सहेज लें और फ़ाइल बन्द कर दें. एमएस वर्ड भी बन्द कर दें. अब जो नई फ़ाइल docx फ़ॉर्मेट में सहेजी गई है उसे खोलें. डब्बे गायब हो गए होंगे और आपका मैटर सही दिख रहा होगा. यह एमएस ऑफिस का एक बग है जो उम्मीद है कि नए संस्करणों में दूर कर लिया जाएगा.
3 - यदि आपके पास विंडोज लाइव राइटर है तो डब्बे-दार सामग्री को वहाँ कॉपी-पेस्ट करें. आपको तत्काल ही सामग्री देवनागरी में दिखने लगेगी.
4 - यदि आपके पास वर्ड 2010 नहीं है तो डब्बेदार पाठ सामग्री को एचटीएमएल फ़ाइल के रूप में सहेजें, और फिर इस फ़ाइल को किसी ब्राउजर में खोले. ब्राउजर में हिंदी बढ़िया दिखेगी. अब यहाँ से सामग्री कॉपी-पेस्ट कर काम में लें.
 
यदि अब भी कोई समस्या हो तो नीचे टिप्पणी में विस्तार से लिखें. कोई न कोई समाधान अवश्य निकलेगा.

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

4 टिप्पणियाँ "आपकी फ़ाइल में हिंदी टैक्स्ट के बजाए डब्बे दिखते हैं? कुछ समाधान हाजिर हैं..."

  1. क्रोम में देवनागरी के बीच-बीच में डिब्बे दिखें तो Ctrl के साथ + दबाकर जूम कर लें, डिब्बे गायब हो जायेंगे

    उत्तर देंहटाएं
  2. यूनीकोड में सब बदल डाला है..

    उत्तर देंहटाएं
  3. ईमेल से प्राप्त टिप्पणी-

    बॉक्स वाली समस्या का निदान आपने बड़ा अच्छा बताया है। पर लगता है मंगल फॉण्ट में भी कुछ समस्या दिखती है। क्योंकि कभी-कभी मंगल फॉण्ट में जब बॉक्स दिखते हैं Arial MS Unicode फॉण्ट में सही दिखते हैं। ऐसा क्यूँ होता है यह तो आप ही बता सकते हैं। एक और बात विचित्र लगती है। OpenOffice में हर फॉण्ट के साथ देवनागरी लिपि है, ऐसा लगता है। जबकि MS Word में ऐसा नहीं दिखता। यह सब क्या झंझट है कृपया इस पर कुछ प्रकाश डालें।

    उत्तर देंहटाएं
  4. मैंने कंप्‍यूटर में अक्षर यूनीकोड डाला और MS Word में इसी फॉंट को सि‍लेक्‍ट करके आराम से हि‍न्‍दी टाइप कर लेता हूं.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.