देखन में छोटे लगें लाभ दें भरपूर...

ये किसी एडसेंसिया ब्लॉग पोस्ट की बात नहीं हो रही है. दरअसल इस ब्लॉग पोस्ट का आइडिया मोकालू गुरु के भूत ने पिछले दिनों मेरे सपने में आकर द...

tona totka

ये किसी एडसेंसिया ब्लॉग पोस्ट की बात नहीं हो रही है. दरअसल इस ब्लॉग पोस्ट का आइडिया मोकालू गुरु के भूत ने पिछले दिनों मेरे सपने में आकर दिया था.

किताबों की फुटपाथिया दुकानों में आपको ऐसी सैकड़ों किताबें मिल जाएंगीं जिनमें लाल किताब से लेकर तंत्र मंत्र और जादू टोने तक – यानी हर किस्म की सामग्री मिलेगी. और, शायद यही वजह है कि भारत में आज भी जादू टोना और तंत्र मंत्र चल रहा है. कुछ समय पहले तक कादम्बिनी जैसी प्रतिष्ठित हिन्दी पत्रिका में राजेन्द्र अवस्थी वार्षिक तंत्र मंत्र विषेशांक निकाला करते थे जिसकी बिक्री और अंकों की अपेक्षा कहीं ज्यादा होती थी और अंक निकलते ही मार्केट में सोल्ड आउट हो जाता था. और क्यों न हो, आखिर, तंत्र मंत्र की शक्ति ही ऐसी होती है.

तो उस सपने से वशीभूत हो एक किताब मैं भी ले आया. किताब है पं. शशि मोहन बहल की लिखी और मनोज पब्लिकेशन्ज, बुराड़ी दिल्ली से प्रकाशित “देखन में छोटे लगें लाभ दें भरपूर – सरल टोनों-टोटकों द्वारा सर्वबाधाओं से मुक्ति” संस्करण 2007 – आईएसबीएन नं. 978-81-313-0315-2 मूल्य 60 रुपए.

किताब में कोई बीस खण्डों में विविध प्रकार के टोने टोटके दिए गए हैं जिनमें धन प्राप्ति से लेकर (हिन्दी ब्लॉगों में एडसेंसिया भी संभव है,) दुश्मन पर विजय इत्यादि के टोने-टोटके शामिल हैं. मुझे उम्मीद थी कि नए जमाने के ताजा संस्करण में मेरे हिन्दी ब्लॉग पर काल-मुर्ग-छाया-प्रभाव (जिसके चलते न पाठक पैदा हो रहे हैं न इनकम जनरेट हो रही है) के इलाज का कोई टोना टोटका दिखेगा. मगर किताब के पूरे 103 पन्ने चाट लेने के बाद भी ऐसा कोई टोटका ब्लॉगों के हिट कराने का नहीं मिला. लिहाजा ये किताब चिट्ठाकारों के लिए शर्तिया फालतू है.

मगर, ठहरिये. चिट्ठाकार आखिर मनुष्य तो हैं ही. कुछ टोने इसी किताब से ढूंढ लाया हूँ आपके लिये. हो सकता है इनमें से कुछ आपके भी काम आएँ.

1

आलसी, स्नान से घृणा (जीतू भाई, आप ये स्वीकारते हैं,) करने वालों के लिए-

पुनर्वसु नक्षत्र के दिन मेहंदी की जड़ और चंदन लाकर अपने पास रख लें. आपके शरीर से दुर्गंध नहीं आएगी. (पृष्ठ 99)

(तो, जब शरीर से दुर्गंध नहीं आएगी तो स्नान की आवश्यकता को तो सिरे से नकारा ही जा सकता है. नहाने के साबुन बनाने वाली कंपनियों के व्यापार बाधित होने की संभावना है. शेयर होल्डर्स ध्यान दें.)

2

चिट्ठाकारों का अपना आलस्य दूर करने के लिए-

रविवार के दिन शराब की एक बोतल खरीद लें. सर्वप्रथम उसे भैरव पर अर्पण करें. इसके बाद उस बोतल को 7 बार आलसी व्यक्ति के ऊपर से उतारकर किसी को दान कर दें या दिन ढले किसी चौराहे, मरघट या पीपल के पेड़ के नीचे रख आएं. वह व्यक्ति आलस्य छोड़कर सभी काम करने लगेगा. (पृष्ठ 103)

(ठीक ललल लिक्कखा है. शररराब तो मररररियल लललोगों हिक्क... में भी ज्ज्ज्ज्जान डाल देता है हिक्क...)

3

बेनामी टिप्पणीकारों का परिचय जानने के लिए-

उल्लू का सिर, मैनसिल और हरताल – तीनों को पीसकर एक गुटिका तैयार कर लें. इसे अपने पास रखने से अंधेरे में भी दिखाई देता है. (पृष्ठ 100)

(भारतीय सेना बुड़बक है जो दुश्मन की गतिविधि पर रात्रि में निगाह रखने के लिए सॉफ़िस्टिकेटेड, अत्यंत महंगे नाइट विजन दूरबीन खरीदती है. और, इस तरह की गुटिका, ब्लॉगों में बेनामी टिप्पणियाँ करने वालों को पहचानने के लिए बनाई जानी चाहिए. यानी ऐसी गुटिका चिट्ठाकार पहन ले तो उसे बेनामियों के आईपीपते समेत नामपता भी दिखाई दे जाए. उम्मीद है, ग्राहकों की अच्छी खासी मांग पर संभवतः किताब के अगले संस्करण में यह टोटका सम्मिलित कर लिया जाएगा)

4

हिन्दी चिट्ठाकारी में सफलता प्राप्ति के लिए-

पीपल के वृक्ष के नीचे शाम को 7 दीपक जलाकर 7 बार परिक्रमा करें. उसके पश्चात् 7 लड्डू कुत्ते को खिलाएँ. ऐसा करने से मन प्रफुल्लित रहेगा और समस्त कार्यों में सफलता प्राप्त होगी. (पृष्ठ 42)

(क्या हिन्दी ब्लॉग लेखन में भी? टोटका तो ठीकेठाक लगता है, चलिए, आने वाले साल 2008 के लिए, इसे आज, अभी ही आजमाते हैं.)

-----------

टिप्पणियाँ

ब्लॉगर: 19
Loading...
नाम

तकनीकी ,1,अनूप शुक्ल,1,आलेख,6,आसपास की कहानियाँ,127,एलो,1,ऐलो,1,गूगल,1,गूगल एल्लो,1,चोरी,4,छींटे और बौछारें,138,छींटें और बौछारें,332,जियो सिम,1,जुगलबंदी,49,तकनीक,39,तकनीकी,681,फ़िशिंग,1,मंजीत ठाकुर,1,मोबाइल,1,रिलायंस जियो,2,रेंसमवेयर,1,विंडोज रेस्क्यू,1,विविध,370,व्यंग्य,506,संस्मरण,1,साइबर अपराध,1,साइबर क्राइम,1,स्पैम,10,स्प्लॉग,2,हास्य,2,हिन्दी,493,hindi,1,
ltr
item
छींटे और बौछारें: देखन में छोटे लगें लाभ दें भरपूर...
देखन में छोटे लगें लाभ दें भरपूर...
http://lh6.google.com/raviratlami/R3JBhACLtcI/AAAAAAAACXg/hSKKJfaHN9M/tona%20totka_thumb%5B1%5D
http://lh6.google.com/raviratlami/R3JBhACLtcI/AAAAAAAACXg/hSKKJfaHN9M/s72-c/tona%20totka_thumb%5B1%5D
छींटे और बौछारें
https://raviratlami.blogspot.com/2007/12/blog-post_26.html
https://raviratlami.blogspot.com/
https://raviratlami.blogspot.com/
https://raviratlami.blogspot.com/2007/12/blog-post_26.html
true
7370482
UTF-8
सभी पोस्ट लोड किया गया कोई पोस्ट नहीं मिला सभी देखें आगे पढ़ें जवाब दें जवाब रद्द करें मिटाएँ द्वारा मुखपृष्ठ पृष्ठ पोस्ट सभी देखें आपके लिए और रचनाएँ विषय ग्रंथालय खोजें सभी पोस्ट आपके निवेदन से संबंधित कोई पोस्ट नहीं मिला मुख पृष्ठ पर वापस रविवार सोमवार मंगलवार बुधवार गुरूवार शुक्रवार शनिवार रवि सो मं बु गु शु शनि जनवरी फरवरी मार्च अप्रैल मई जून जुलाई अगस्त सितंबर अक्तूबर नवंबर दिसंबर जन फर मार्च अप्रैल मई जून जुला अग सितं अक्तू नवं दिसं अभी अभी 1 मिनट पहले $$1$$ minutes ago 1 घंटा पहले $$1$$ hours ago कल $$1$$ days ago $$1$$ weeks ago 5 सप्ताह से भी पहले फॉलोअर फॉलो करें यह प्रीमियम सामग्री तालाबंद है चरण 1: साझा करें. चरण 2: ताला खोलने के लिए साझा किए लिंक पर क्लिक करें सभी कोड कॉपी करें सभी कोड चुनें सभी कोड आपके क्लिपबोर्ड में कॉपी हैं कोड / टैक्स्ट कॉपी नहीं किया जा सका. कॉपी करने के लिए [CTRL]+[C] (या Mac पर CMD+C ) कुंजियाँ दबाएँ