मंगलवार, 30 जून 2015

रिलायंस नेटकनेक्ट+ वायरलेस ब्रॉडबैंड का फ्रॉड

यह पोस्ट मैं बड़ी ही दुखद मनःस्थिति में लिख रहा हूँ.

पिछले कोई चार छः महीने पहले रीलायंस सीडीएमए नेटकनेक्ट + वायरलेस ब्रॉडबैंड में एक बेहतरीन ऑफर आया था - तीन हजार रुपए जमा करो, और लाइफ़टाइम वेलिडिटी पाओ, हर महीने 1 जीबी डाटा मुफ़्त.

हालांकि फ़ाइन प्रिंट में लिखा था - अनयूज्ड 1 जीबी डाटा एकत्रित नहीं होगा, बल्कि महीने के अंत में खतम हो जाएगा, और खाते में फिर से 1 जीबी डाटा जमा हो जाएगा.

फ़ाइन प्रिंट के बावजूद, आफर ठीक ही था, जो कि एक बैकअप इंटरनेट कनेक्शन के लिहाज से ठीक ही था.

तो न केवल मैंने इसे ले लिया बल्कि अन्य फ़ोरमों में भी इसकी वकालत की और शायद कुछ लोगों ने इसे ले भी लिया.

परंतु मैं गलत था. रिलायंस (के तथाकथित मैनेजरों) की लालची प्रवृत्ति और उपयोगकर्ताओं को उल्लू बनाने की प्रवृत्ति ने इस योजना को पूरा फ्रॉड बना दिया है.

जानें कैसे-

मेरे रिलायंस के ब्रॉडबैंड का यह खाता हर महीने के 27 तारीख को रीसेट होता है. यानी कि अनयूज्ड डाटा जीरो हो जाता है और उस दिन 1 जीबी डाटा खाते में जमा हो जाता है.

परंतु यदि मैं 27 तारीख को अपने खाते में 1 जीबी डाटा जमा होने के तुरंत बाद भी इस कनेक्शन को चालू करता हूँ तो यह निम्न सूचना स्क्रीन पर दिखाता रहता है  -


यह अलर्ट कर बताता है कि आपके खाते में 1 एमबी से भी कम बैलेंस है! कभी कभी तो यह शून्य बैलेंस बताता है. जाहिर है कि यह संदेश उपयोग कर्ता को भ्रमित कर उससे नाहक ही रीचार्ज करवाने को प्रेरित कर लूटने की कोशिश की जाती है.

अब, जबकि उपयोगकर्ता के पास उसका डाटा बैलेंस जानने का कोई सीधा उपाय नहीं है, आपका कनेक्शन कभी भी इनऑपरेटिव हो जाता है - यानी डाटा बैलेंस जीरो बताता है - भले ही आपने 10 -20 प्रतिशत डाटा उपयोग किया हो. कोढ़ में खाज यह कि इसका डायलर जब भी कनेक्ट होता है, हर बार रिलायंस की भारी भरकम साइट खोलता है जिसमें फ्लैश आधारित विज्ञापनों की भरमार रहती है- यानी आपका कीमती डाटा फोकट में बेकार जाता है.

साथ ही, इस सुविधा के लिए ऑनलाइन बैलेंस चेक करने या डायलर के द्वारा बैलेंस चेक करने का कोई विकल्प ही नहीं है. जो विकल्प था, उसे समाप्त कर दिया गया है. रजिस्टर्ड उपयोगकर्ता के खाते में भी बैलेंस चेक करने का विकल्प नहीं है!

जब आप कस्टमर केयर फोन करते हैं तो वो चार्जेबल होता है, और अपना बैलेंस का स्टेटमेंट मांगने पर 25 रुपए जमा करवाने की बात की जाती है. वह भी एक बार के लिए!

और, एक समय तो रिलायंस सीडीएमए की कनेक्टिविटी बेहतरीन होती थी, मैंने तो चलती ट्रेन से भी पोस्टें लिखी हैं, मगर आजकल भोपाल जैसे शहर में भी सीडीएमए ब्रॉडबैंड ढंग से नहीं चलता और बाहरी स्थानों में तो कई जगह कनेक्शन भी नहीं मिलता.

मजबूरन मुझे इस लाइफटाइम कनेक्शन को कचरे के डब्बे में डालना पड़ रहा है और इसके विकल्प के तौर पर दूसरा कनेक्शन लेना पड़ रहा है.

मैं कोई पिछले पंद्रह-बीस वर्षों से इंटरनेट का उपयोग करता आ रहा हूँ, और कई कंपनियों के कनेक्शन इस बीच उपयोग कर देखे हैं, और छोटी मोटी शिकायतें हुई हैं, मगर यह इस तरह का पहला फ्रॉड है.

इस कनेक्शन और इस इंटरनेट सेवा प्रदाता  की घटिया सेवाओं के संबंध में आप भी अपने अनुभव साझा करें और जनता को आगाह करें.


0 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---