टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

एक टिप्पणी भेजें

हमारी बेगम ने पाला है एक :)

हमने भी यही सुना है कि कुत्ता पालने से घर का वातावरण टेंशन रहित होता है,काम करना का ढंग सुचारु हो जाते हैं , आदतों में नियमन आ जाता है ,मन भी बोझ रहित और आपने जो लिखा वो भी पता करके ही लिखा होगा :
पाल लीजिए सुबह-शाम टहलाने से स्वास्थ्य भी बनेगा ही !

मुझे पाले जाने वाले कुत्ते की अपेक्षा सड़क का कुत्ता ज़्यादा पसंद है - कारण :
कहीं भी शंका निवारण करे आपके घर कोई ताना देने आने वाला नहीं होगा
पट्टा पकड़ कर उसके पीछे जाने की अपेक्षा आप शान्न से उसके आगे चल सकते हैं
पत्नी के प्रेम को कोई बाँटने वाला नहीं होगा
पड़ोसियों को लड़ने के एक मुद्दे का अभाव हो जाएगा
कुत्ते को खिलाने के लिए उसके नखरे नहीं सहने पड़ेंगे जो डाल दोगे खा लेगा
और भी बहुत कारण हैं पर आपकोबुरा न लगे इसलिए नहीं लिख रहा.
कुत्ता प्रेमी क्षमा करे जहाँ जहाँ "कुत्ता " शब्द लिखा है कृपया 'डॉगी' पढ़ने का कष्ट करें.

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget