मंगलवार, 7 फ़रवरी 2012

आसपास बिखरी हुई शानदार कहानियाँ - Stories from here and there - 78

sunil handa story book stories from here and there in Hindi

आसपास की बिखरी हुई शानदार कहानियाँ
संकलन – सुनील हांडा
अनुवाद – परितोष मालवीयरवि-रतलामी

393

विचार शुद्धि

स्वामी रामकृष्ण परमहंस के एक पक्के शिष्य मथुराबाबू ने एकबार उन्हें बहुत महंगे वस्त्र भेंट किए। परमहंस ने उन वस्त्रों को धारण किया और माँ काली का ध्यान करने बैठ गए। ध्यान के बाद जब वे दंडवत प्रणाम करने लगे तब उनके दिमाग में वह विचार कौंधा कि कही ये महंगे वस्त्र मैले न हो जायें।

    बाद में जब उन्होंने विचार मंथन किया तो यह पाया कि उन्हें ऐसे वस्त्र कतई नहीं पहनने चाहिए जो ध्यान में बाधा पहुंचाते हों और उन्होंने वे वस्त्र वापस कर दिए।
--
394

प्रवाह के साथ बहना


    ताओ दंतकथा के अनुसार एक बार एक वयस्क व्यक्ति दुर्घटनावश नदी में गिर कर भंवर में फंस गया और एक खतरनाक जलप्रपात की ओर बहने लगा।

    सभी प्रत्यक्षदर्शी यह दृश्य देखकर घबड़ा गए क्योंकि उस प्रपात में गिरकर मनुष्य का मरना तय था। तभी आश्चर्यजनक रूप से वह व्यक्ति जलप्रपात में गिरकर भी सकुशल नदी से बाहर निकल आया। लोगों ने उससे पूछा कि उसके जीवित बचने का क्या राज़ है?

    उस व्यक्ति ने उत्तर दिया - "मैंने नदी के प्रवाह को अपने अनुरूप बदलने के बजाए स्वयं को नदी के प्रवाह के अनुरूप ढ़ाल लिया। बिना कुछ भी सोचे हुए मैं नदी के प्रवाह के अनुरूप बहने लगा। मैं भंवर के साथ ही डूबा और भंवर के साथ ही ऊपर निकल आया। इस तरह मैं जीवित बच गया।"  
--
(सुनील हांडा की किताब स्टोरीज़ फ्रॉम हियर एंड देयर से साभार अनुवादित. कहानियाँ किसे पसंद नहीं हैं? कहानियाँ आपके जीवन में सकारात्मक परिवर्तन ला सकती हैं. नित्य प्रकाशित इन कहानियों को लिंक व क्रेडिट समेत आप ई-मेल से भेज सकते हैं, समूहों, मित्रों, फ़ेसबुक इत्यादि पर पोस्ट-रीपोस्ट कर सकते हैं, या अन्यत्र कहीं भी प्रकाशित कर सकते हैं.अगले अंकों में क्रमशः जारी...)


1 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. धारा कठिन हो तो प्रवाह के साथ बह चलें..थोड़ी दूर तक ही सही..

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---