किसी मंत्री की संपत्ति को 5 साल में कितने गुना हो जाना चाहिए?

AK MANTRI KI SAMPATI

कम से कम 5 हजार गुना तो होना ही चाहिए, अन्यथा वो मंत्री किस काम का? यदि इससे कम हुआ तो फिर तो वो एक  बेहद नाकारा, निकम्मा और डरपोक किस्म का मंत्री होगा जो ठीक से खाना/खिलाना नहीं जानता.  राजाओं और कोड़ाओं के जमाने में जहाँ मंत्रियों ने अपनी क्या कहें अपने आसपास के लोगों की संपत्तियाँ 5 साल में 5000 गुनी कर दीं हैं, ऐसे मंत्री तो सिस्टम में कलंक हैं. इन्हें मंत्री पद पर रहने का कोई अधिकार ही नहीं है. भारत की जनता ने इन्हें खाने कमाने के लिए चुना था, परंतु ये तो पूरे निकम्मे निकले. पूरे  पांच वर्षों में ये खुद अपना ही भला नहीं कर पाए तो जनता का क्या खाक करेंगे?

जनता को ऐसे नाकारा, असफल मंत्रियों को अगले चुनावों में वोट न देकर हरा देना चाहिए. साथ ही जैसे कि राजनीतिक पार्टियाँ चुनावी घोषणा करती हैं, जनता को भी घोषणा करनी चाहिए कि विधायकों/सांसदों को अपने पांच साला कार्यकाल के दौरान अपनी आय में न्यूनतम 5 हजार गुना और मंत्री बने तो 10 हजार गुना इजाफा करना होगा, अन्यथा उन पर जुर्माना लगाया जाएगा. जनता को साल-दर-साल इनके प्रोग्रेस रिपोर्ट पर नजर रखनी चाहिए और जो इस न्यूनतम मापदंड पर खरे नहीं उतरते उन्हें वापस बुलाने का अधिकार भी जनता के पास होना चाहिए ताकि लाइन में लगे दूसरे टैलेंटेड नेताओं को चांस दिया जा सके.

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

खुद अपना ही भला नहीं कर पाए तो जनता का क्या खाक करेंगे?

सही कहा :)
इस शानदार व्यंग्य के लिये आभार
प्रणाम स्वीकार करें,

shame....shame.....


pranam.

सटीक व्यंग्य

यह देश में चमत्कारों को सिद्ध करता है।

बेनामी

सर पुलिस वालो के वारे में कोई मीडिया क्यों नहीं लिखती. आप अपने शहर के जो टीआई लोगो को देखें तो सबसे जायदा माल इन्होने ही बनाया है

कौन नहीं इस होड़ में.

सकल पदारथ है जग माहीं।
करमहीन नर पावत नाहीं।

एकदम सही बात... नकारा मंत्रियों को वापस बुलाओ... नयी 'प्रतिभाओ' को चांस दो :)

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget