रविवार, 12 सितंबर 2010

लीजिए, पेश है हिंदी का पहला स्पैम कमेंट!

हिंदी ब्लॉगों में वैसे तो नाइस, बढ़िया लिखा है, स्वागत है, सुंदर इत्यादि कमेंट स्पैम की श्रेणी में ही आते हैं, मगर अगर इन्हें नजर अंदाज नहीं किया गया तो ब्लॉगों में टिप्पणियों का अकाल ही हो जाएगा.

जो चिट्ठाकार बंधु वर्डप्रेस पर अपने स्वयं के डोमेन पर ब्लॉग चलाते हैं वे स्पैम कर्मा के आंकड़े जानते होंगे कि अंग्रेजी व नामालूम – चीनी जैसी भाषाओं के कितने हजार स्पैम कमेंट अब तक ब्लॉग पोस्टों पर आने से रोक दिए गए हैं. ब्लॉगर का स्पैम कमेंट रोकने का सिस्टम अभी और तगड़ा बनाया गया है और स्पैम कमेंटों को मॉडरेट करने की ताजी सुविधा अभी हाल ही में जोड़ी भी गई है.

इसके बावजूद यदा कदा कोई न कोई स्पैम कमेंट फिल्टरों की छन्नी से निकल कर जेनुइन कमेंट के रूप में चला आता है.

ऐसी ही एक टिप्पणी मेरी आवक डाक में आई. उसकी हिंदी थोड़ी खिसकी हुई थी. मुझे पहले लगा कि मेरा कोई दक्षिण भारतीय ब्लॉग प्रेमी होगा, जो आड़ी तिरछी हिंदी में अपना संदेश मुझ तक पहुँचाना चाहता है. मगर उसके यूजर नेम से थोड़ी आशंका हुई. संदेश निम्न था -

चैट ने आपकी पोस्ट " सॉफ़्टवेयर मुक्ति दिवस और हिन्दी पखवाड़ा पर हिन्दी... " पर एक टिप्पणी छोड़ी है:
बढ़िया पोस्ट. मैं आगे और अधिक पढ़ने के लिए तत्पर हैं! बहुत बहुत धन्यवाद!

hindi's first spam comment2 

तो मैंने उसके यूजर नेम में दिए लिंक पर जाकर देखने की कोशिश की. जो मैंने पाया वो तो चकित करने वाला था. आप भी देखें -

hindi's first spam comment (Small)

और, इनके उपयोगकर्ता तो अंग्रेज आर्थर, स्टीवन और अल्बर्ट हैं जो कमाल की हिंदी लिखते हैं. देखिए -

hindi's first spam comment3

हुम्म…

चैट?

कभी नहीं!!!

18 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. आपने तो उसको मुफ्त पब्लिसिटी दिला कर उसके मंसूबे ही पूरे कर दिए .. !

    उत्तर देंहटाएं
  2. :) इससे साबित होता है हिन्दी ब्लॉगिंग तेजी से शिखर की ओर बढ़ रही है… :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. गंदे लोग हर जगह सक्रीय हैं ,अच्छी जागरूक करती पोस्ट ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सारे लोग दिल ही दिल में आपका आभार मानेंगे
    ऐसी ही साईट तो लोग खोजते हैं
    -
    -
    -
    आपने फ्री में साईट की पब्लिसिटी कर दी
    अपनी बात को आप स्क्रीन शाट दिए बिना भी कह सकते थे
    यहाँ लोग समझदार हैं

    उत्तर देंहटाएं
  5. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति के प्रति मेरे भावों का समन्वय
    कल (13/9/2010) के चर्चा मंच पर देखियेगा
    और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा।
    http://charchamanch.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  6. बधाई हो बधाई हो !

    उत्तर देंहटाएं
  7. देख तेरे इस देश की हालत, क्या हो गयी भगवान।

    उत्तर देंहटाएं
  8. यह भी खूब रही। काश हम भी चैट के जानकार होते।

    उत्तर देंहटाएं
  9. ==कितना बादल गया इंसान।
    जब ऐसे बिंदास तरीके से लिखता है तब पढ़ने में बड़ा मजा आता है।
    आज पहली बार यहाँ आया हूँ॥ अब तो मिलते रहेंगे।
    इक बात तो कहना ही भूल गया - 'बढ़िया लिखा है'

    उत्तर देंहटाएं
  10. याने अब हिन्‍दी ब्‍लॉग दुनिया के बिना अब इनका काम नहीं चलनेवाला। 'क्‍वाण्टिटी' बढने पर 'क्‍वालिटी' पर असर तो होगा ही। हिन्‍दी ब्‍लॉग अभी से इनकी मजबूरी बनने लगा है। आनेवाला कल हिन्‍दी ब्‍लॉग का ही होगा।
    आपको धन्‍यवाद। बधाई भी।

    उत्तर देंहटाएं
  11. स्पैम में भी हिंदी.................वाह!!!!!!!!!



    छोटी बात:

    आपकी आँखों से आंसू बह गए

    उत्तर देंहटाएं
  12. ग्राम चौपाल में तकनीकी सुधार की वजह से आप नहीं पहुँच पा रहें है.असुविधा के खेद प्रकट करता हूँ .आपसे क्षमा प्रार्थी हूँ .वैसे भी आज पर्युषण पर्व का शुभारम्भ हुआ है ,इस नाते भी पिछले 365 दिनों में जाने-अनजाने में हुई किसी भूल या गलती से यदि आपकी भावना को ठेस पंहुचीं हो तो कृपा-पूर्वक क्षमा करने का कष्ट करेंगें .आभार


    क्षमा वीरस्य भूषणं .

    उत्तर देंहटाएं
  13. अच्छी जानकारी देती पोस्ट ....

    उत्तर देंहटाएं
  14. जय हो !

    लगे रहिये . अभी न जाने कितने ' चट्वालों ' से मुकाबिल होंगे . आपकी ' छन्नी ' धरी की धरी रह जायेगी .

    वैसे बतर्ज़ अरविन्द जी ..........बधाई हो !

    उत्तर देंहटाएं
  15. बढ़िया पोस्ट. मैं आगे और अधिक पढ़ने के लिए तत्पर हैं! बहुत बहुत धन्यवाद!

    :)

    उत्तर देंहटाएं
  16. Hi download Sheel's Dictionary the first hindi to english dictionary from www.sheelgupta.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---