बुधवार, 7 जुलाई 2010

एंटरटेनमेंट का बाप - माईवे आईपीटीवी : 50 लोकप्रिय रेकॉर्डेड चैनल अब देखें 7 दिनों के भीतर कभी भी वो भी विज्ञापनों के बिना!

image

माईवे आईपीटीवी की एक विस्तृत समीक्षा कुछ समय पूर्व मैंने लिखी थी, तब से आईपीटीवी के जरिए बहुत से चैनल देखे जा चुके हैं, और अब मामला बहुत कुछ मजेदार और रंग जमता जमाता प्रतीत होता है. क्वालिटी और सेवा में सुधार हुआ है. मनोरंजन सामग्री भी जुटाई गई है.

चंद शुरूआती मुश्किलों को झेलने के बाद मेरा माईवे आईपीटीवी बढ़िया चलने लगा और अभी अभी इसमें बहु-प्रतीक्षित नई सुविधा जोड़ी गई है. ऑटो रेकॉर्डिंग की. 50 लोकप्रिय चैनलों (जिनमें सोनी, स्टार प्लस, स्टार वन, कलर, जूम, आजतक इत्यादि शामिल हैं) के रेकॉर्डेड सीरियल और प्रोग्राम अब आप पिछले 7 दिनों के भीतर कभी भी देख सकते हैं. और न सिर्फ आप इन्हें देख सकते हैं, इन प्रोग्रामों को फारवर्ड, रिवर्स और पॉज कर सकते हैं. साथ ही यदि आप चाहें तो यूएसबी एक्सटर्नल हार्डडिस्क लगाकर अपने अन्य पसंदीदा चैनल को भी स्वयं रेकॉर्ड कर सकते हैं. एक तरह से दर्शकों को एंटरटेनमेंट का जैकपॉट दिया गया है.

इसका अर्थ है कि टीवी पर अब आपको बारंबार लगातार एक ही सीरियल में और एक ही ब्रेक में एक ही विज्ञापन को सिर धुनते हुए देखने की आवश्यकता नहीं है. आप लाइव प्रोग्राम के बजाए घंटाभर बाद प्रोग्राम देखें और जैसे ही विज्ञापन आए, उसे आगे फारवर्ड कर दें. एक रेकॉर्डेड चैनल पर मैंने फ़िल्म देखने के लिए लगाया जो कल प्रसारित किया गया था. फिल्म दो घंटे बीस मिनट की थी, जबकि विज्ञापन सहित चार घंटे दस मिनट का समय प्रोग्रेस बार पर दिख रहा था. विज्ञापनों और फूहड़ बेसिरपैर के गानों को आगे खिसका कर मैंने सवा घंटे में फिल्म देख ली, जबकि यदि इसे मैं लाइव देखता तो विज्ञापनों सहित फिल्म को चार घंटे झेलना पड़ता!

फिर, कल यह फ़िल्म प्राइम टाइम यानी रात आठ बजे से लेकर ग्यारह बजे तक दिखाई जा रही थी, जबकि मुझे इस दौरान आवश्यक कार्य से बाहर जाना था. चूंकि यह प्रोग्राम आईपीटीवी में बाद में मेरे लिए स्वचालित रूप से रेकॉर्डेड किया हुआ 7 दिनों तक उपलब्ध रहेगा यह मुझे पता था, अतः मैंने आराम से अपना आवश्यक कार्य निपटाया और फिर इस जरूरी देखे जाने वाले फिल्म का आनंद बाद में अपनी सुविधानुसार लिया. और, जहाँ बिजली आती जाती रहती है वहाँ तो यह बड़ी सुविधा है. इनवर्टर चार्ज हो न हो, चिंता नहीं! तकनॉलाज़ी ने आपके आराम, सुविधा और मनोरंजन में एक और आयाम जोड़ दिया है. है ना?

माईवे आईपीटीवी में फ़िल्में और तमाम अन्य इन्फ़ोटेनमेंट सामग्री भी तेजी से जुटाई जा रही है. हालाकि कुछ मामलों में क्वालिटी खराब है, और रेडियो चैनल के नाम पर पता नहीं क्या बकवास तेज संगीत बजाते रहते हैं, फिर भी यह सेवा अब अतुल्य हो गई है और इसका कोई विकल्प नहीं है. यदि आप किसी अन्य डीटीएच की रेकॉर्डेड सेवा भी लेते हैं तो उसे आपको शेड्यूल करना होगा और आप एक बार में एक से अधिक तथा कुल मिलाकर 100-200 घंटे की लाइव रेकॉर्डिंग ही कर सकते हैं. मगर 50 चैनल के 24 घंटों की पिछले 7 दिन की रेकॉर्डिंग आप नहीं कर सकते. और, 50 चैनल की सीमा आगे बढ़ेगी ही.

माईवे आईपीटीवी – आपकी भी टीवी देखने की आदतों में शर्तिया परिवर्तन कर देगा, जैसे कि इसने मुझमें परिवर्तन कर दिया है. एंड आ’एम लविंग इट.

15 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. रोचक है..

    खर्चा कितना?

    उत्तर देंहटाएं
  2. @ रंजन जी,
    खर्चा तो बहुत ज्यादा नहीं है. नए कनेक्शन में इंस्टालेशन मुफ़्त है. मॉडम चार्जेस 50 रु. महीना है (खरीदना चाहें तो यूनिवर्सल रिमोट के साथ 1500 रु का है). आपके घर पर बीएसएनएल / एमटीएनएल का ब्रॉडबैण्ड होना चाहिए. न हो तो बेस पैक 125 रु वाला ले सकते हैं. माईवे के चार्जेस 400 - 550 रु महीना है (टैक्स इत्यादि समेत) - रेकॉर्डिंग सेवा के साथ. बंडल्ड फ्री-बी में बहुत सारी फ़िल्में भी मुफ़्त देख सकते हैं. यानी वेल्यू फ़ॉर मनी!

    उत्तर देंहटाएं
  3. ये तो बहुत बढिया काम की चीज है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपके द्वारा दी गयी जानकारी पहली जानकारी होती है | अभी तो इसे हम जैसे लोग शायद वाहन नहीं कर सकते है | लेकिन कुछ लोग जो खर्चा कर सकते है | और जिन्हें इसका शौक भी है वो इसे जरूर काम में ले सकते है |

    उत्तर देंहटाएं
  5. ये तो बहुत ही काम की चीज बताई है आपने.

    उत्तर देंहटाएं
  6. निस्‍सन्‍देह अत्‍यधिक उपयोगी और रोचक जानकारी है। आपसे व्‍यक्तिश: सम्‍पर्क कर इस बारे में विस्‍तार से जानना पडेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  7. बेनामी1:43 pm

    chies too badiya hai, per kuch aur jankari chayea

    उत्तर देंहटाएं
  8. ये तो हमें पता ही नहीं था नहीं तो यही लेते, पिछले साल नवंबर में ही वीडियोकोन डीटीएच में ज्याद पैसे खर्च कर दिये, नहीं तो ये बढ़िया था।

    उत्तर देंहटाएं
  9. 600-700 रूपए महीना खर्च करने की जगह 2500-3000 का बढ़िया सा टीवी ट्यूनर कार्ड लेकर 200 रूपए वाले केबल कनेक्शन में ही न रिकॉर्डिंग सुविधा प्राप्त की जाए? ऑटो रिकॉर्ड पर उसको भी लगा सकेंगे, आराम से काम निपटाया जाए उधर मामला रिकॉर्ड हो लेगा और बाद में तसल्ली से विज्ञापन भगा-२ के देख लिया जाएगा। :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. @अमित जी,
    नहीं, आईपीटीवी की ऐसी सुविधा आप घर पर प्राप्त नहीं कर सकते. पूरे 50 चैनल को एक साथ, पिछले 7 दिनों की पूरी रेकॉर्डिंग रखने के लिए घर पर कितना हार्डवेयर संभालना होगा? ठीक है, अपनी पसंद के एक दो ही चैनल होते हैं, मगर घर में यदि 4 लोग हैं और चारों की अपनी अपनी पसंद हो तो?
    और, अब तो 50 चैनल के पिछले 7 दिनों की रेकॉर्डिंग ऑन डिमांड मिलने से हमारे घर का प्राइम टाइम टीवी दर्शन का फंडा ही बदल गया है. 7 दिनों के भीतर जिसको जिस समय फुरसत मिले, अपना पसंदीदा प्रोग्राम देख ले - जब चाहे तब! टीवी रिमोट के लिए झगड़ा बंद!

    उत्तर देंहटाएं
  11. जानकारी तो मस्त हैं लेकिन, टीवी देखना तो १५ साल से बंद हैं पिता जी कहते हैं कि इससे दिमाग खराब होता हैं....
    पता नहीं कैसे? आँख खराब होती हैं ऐसा तो सुना था.... उसके लिए भी तो ढेर सारे जुगाड़ हैं...
    फिर भी मना करते हैं....

    आज के युग में घर में टीवी नहीं हैं.... :( :( जबकि कम्प्यूटर हैं...

    उत्तर देंहटाएं
  12. अच्छी जानकारी , पर मुझे तो bsnl के साथ गठजोड़ वाला 'i-control IPTV' ज्यादा पसंद आया क्यों की वो 399 Rs. में जितने भी चेनल्स वो दिखता है उन्हे 7 दिनों के अंदर आप कभी भी देख सकते हैं इसके अलावा और भी है जैसे की 600+movie Free , 150live Channel Free,
    Cool फीचर जिससे की आप लाइव चैनलों Pause/Rewind or Fast Forward भी कर सकते है (free) ज्यादा जानकारी के लिए लिंक ये रहा
    www.icontrol.in

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---