टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

हैवलेट्ट पैकर्ड की तकनीकी अश्रेष्ठता – 2


अपने इस पोस्ट में मैंने लिखा था कि कैसे मैं एचपी-कॉम्पैक लॅपटॉप मॉडल वी 3225 एयू खरीद कर उल्लू बन गया.

आगे अभी समस्या जारी थी. लॅपटॉप कुछ दिन चलाने पर मैंने पाया कि यह लॅपटॉप कुछ ज्यादा ही गर्म हो रहा है. जहाँ प्रोसेसर और हार्डडिस्क की जगह है, वहाँ पर लॅपटॉप का हिस्सा बहुत ही ज्यादा तप रहा था. इतना कि उसे छूना भी मुश्किल हो रहा था. इस बीच मैंने कुछ लाइव लिनक्स x64 संस्करण इस्तेमाल किये तो पाया कि मेरा यह लॅपटॉप अपेक्षाकृत बहुत कम गर्म हो रहा है. जबकि लाइव लिनक्स 32 बिट में लॅपटॉप थोड़ा ज्यादा गर्म हो रहा था.

मुझे लगा कि हो न हो यह ज्यादा गर्म होने की समस्या x86 ऑर्किटेक्चर में 32 बिट ऑपरेटिंग सिस्टम चलाने के कारण है. भले ही इसमें बैकवर्ड कम्पेटिबिलिटी हो, परंतु जिस आर्कीटेक्चर के लिए डिजाइन नहीं होने और उसे बल-पूर्वक जबरदस्ती चलाने के कारण संभवतः प्रोसेसिंग पावर ज्यादा लगने के कारण यह ज्यादा गर्म हो रहा है. मैंने इसमें हार्डवेयर के मुताबिक सही सॉफ़्टवेयर डालने का सोचा. यहां पर मेरा एमएसडीएन सब्सक्रिप्शन काम आया और मैंने लॅपटॉप के साथ आए हुए पूर्व संस्थापित विंडो विस्ता होम बेसिक 32 बिट को हटा कर विंडोज़ विस्ता x64 संस्थापित किया. इस संस्थापना में लॅपटॉप के हार्डवेयर के ड्राइवरों को संस्थापित करने में अलग पसीना छूट गया. वह कहानी आगे.

वैसे भी लॅपटॉप के 80 जीबी हार्डडिस्क में बैकअप हेतु 8 जीबी के एक पार्टीशन को छोड़कर बाकी सारा एक ही पार्टीशन था जिसमें लिनक्स संस्थापित करने की कोई जगह ही नहीं थी. मेरा अधिकतर कार्य – अनुप्रयोगों के अनुवादों का – लिनक्स तत्रों पर ही होता है अतः उसके लिए एक अलग पार्टीशन तो बनाना ही था ताकि लिनक्स संस्थापित किया जा सके. (लिनक्स मंड्रिवा स्प्रिंग 2007 इसमें बढ़िया संस्थापित हो गया. 3डी डेस्कटॉप युक्त लिनक्स मंड्रिवा ने आमतौर पर इस लॅपटॉप के सभी हार्डवेयर को स्वयं पहचान लिया, प्रायः सभी हार्डवेयर को आउट-ऑफ-द-बॉक्स समर्थन मिला और यह बढ़िया कार्य कर रहा है.)

विंडोज विस्ता x64 संस्थापित करने के उपरांत मैंने पाया कि अब मेरा लॅपटॉप उतना गर्म नहीं होता है जितना पहले होता था. हालाकि अब भी कई समस्याएँ हैं विस्ता में – बहुत से अनुप्रयोग व हार्डवेयर - जैसे कि परिवर्तन सॉफ़्टवेयर – जिसके जरिए हिन्दी फ़ॉन्ट परिवर्तन होता है, इसमें नहीं चलता है और न ही मेरा स्कैनर! पर, शुक्र है कि यह अब दिमाग को तो कुछ कम तपा रहा है!

विंडोज विस्ता x64 लॅपटॉप में संस्थापित करने के उपरांत मैंने पाया कि यह इसके उन्नत एनवीडिया डिस्प्ले कार्ड को पहचान नहीं पाया है, लिहाजा यह सिर्फ एसवीजीए मोड में ही चलेगा. कुछ स्वचालित अपडेट के उपरांत शुक्र है कि इसने डिस्प्ले कार्ड को पहचान लिया और डिस्प्ले कार्ड के सही ड्रायवर को संस्थापित कर लिया. परंतु इसने मेरे रिलायंस एल जी मोबाइल मॉडम को पहचानने से इंकार कर दिया है. लॅपटॉप लेने के बाद भी मैं मोबाइल कम्प्यूटिंग से महरूम हूँ! विंडोज लाइव राइटर जिससे मैं अपने चिट्ठा पोस्ट करता हूँ, वो भी रीड्यूज्ड मोड में चल रहा है – अपनी आधी विशेषताओं के साथ. और भी समस्याएं हैं विंडोज विस्ता और इस लॅपटॉप के साथ.

मैंने इंटरनेट पर थोड़ा सा सर्च किया तो पता चला कि बहुत से लोगों को इस लॅपटॉप पर कुछ इसी तरह की समस्याएं आईं हैं. औप तंग आकर लोगों ने अंततः इस पर विंडोज एक्सपी डाल लिया है.

सुनने में आ रहा है कि विंडोज विस्ता का सर्विस पैक शीघ्र ही जारी होने वाला है. यदि ये समस्याएँ उसमें ठीक कर दी गई हों तब तो ठीक है, वरना नई तकनॉलाजी और लेटेस्ट गॅजेट के चक्कर में हम उल्लू तो बन ही चुके हैं.

सोच रहा हूँ कि एचपी-कॉम्पैक पर दावा ठोंक दूं – शारीरिक, मानसिक व तकनालाजिक रूप में मुझे अच्छी खासी परेशानी में डालने के एवज में एक करोड़ रुपए हर्जाने का दावा.

यदि किसी की नजर में कोई वकील हो जो अपने फीस के रूप में हर्जाने के 100 प्रतिशत लेने के एवज में यदि मेरा यह केस लेने को तैयार है, तो, मैं भरा बैठा, तैयार हूँ!

------

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

सहानुभूति
दुर्भाग्य से हमने भी इस सप्ताह एचपी 6710B खरीद लिया है.
देखें हमें नसीब से अब अपने क्या मिले?

बिल्कुल दावा ठोकिये रवि भाई , यह सब इसी लायक हैं , सस्ता माल इम्पोर्ट कर कर के यहाँ लोगों को बेच कर बेवकूफ़ बनाने का धन्धा बना रखा है ।

मेरे विचार से दावा ठोक कर भी कुछ नहीं होने वाला है वो लोग कुछ भी तकनीकी लोचा बताकर पल्ला झाड़ लेंगे..और अंत में आपको ही बुद्धू साबित कर देंगे.अपने संस्थान के लिये कई बार लगभग सभी नामी हार्डवेयर कंपनियों से मैने पंगा लिया है ..सर्वर , लैपटोप, प्रिंटर और भी ना जाने क्या क्या ..पर कुछ हाथ नही लगता.इसके लिये यही तरीका है कि लोगों को अपनी सम्स्या बताते रहें ताकि बांकी लोग मूर्ख बनने से बच जायें.

जहां तक विस्टा की बात है इसका पहला पैच SP1 जनवरी 2008 तक आने की संभावना है... लेकिन अभी माइक्रोसॉफ्ट ने कुछ पैच निकाले है ..उनको आप देख सकते हैं...

Windows Vista compatibility and reliability fix KB938194 (x86)
http://list.windowsitpro.com/t?ctl=61B21:63D60ADDCA2B89797F0BAC363C4A1D43

Windows Vista compatibility and reliability fix KB938194 (x64)
http://list.windowsitpro.com/t?ctl=61B22:63D60ADDCA2B89797F0BAC363C4A1D43

Windows Vista performance and reliability fix KB938979 (x86)
http://list.windowsitpro.com/t?ctl=61B1F:63D60ADDCA2B89797F0BAC363C4A1D43

Windows Vista performance and reliability fix KB938979 (x86)
http://list.windowsitpro.com/t?ctl=61B20:63D60ADDCA2B89797F0BAC363C4A1D43

ऊपर वाला कॉमेंट मेरा है रवि जी.

मुझे लगा कि हो न हो यह ज्यादा गर्म होने की समस्या x86 ऑर्किटेक्चर में 32 बिट ऑपरेटिंग सिस्टम चलाने के कारण है.

रवि जी, x86 architecture 32-bit और 64-bit, दोनो तरह की कंप्यूटिंग के लिए होता है। 32-bit वाले को x86-32 कहते हैं और 64-bit वाले को x86-64 कहते हैं। अधिक जानकारी के लिए यहाँ देखें।

जहाँ तक एक पार्टीशन की बात है, तो (लगभग)सभी कंपनियाँ अपने लैपटॉप-डेस्क्टॉप आदि में एक ही पार्टीशन देती हैं, कदाचित इसलिए कि यदि उनकी हार्ड-डिस्क क्रैश हो तो सारा माल inaccessible हो जाए और डाटा रिकवरी के नाम पर बन्दे की जेब हल्की करवाई जा सके!! या हो सकता है इसलिए ताकि बन्दे को performance कम लगे तो वो फालतू पैसे देकर अपग्रेड करवाने को तैयार हो जाए, क्योंकि ऐसा नहीं हो सकता कि इन लोगों को यह ज्ञान नहीं होगा कि एक पार्टीशन पर सब कुछ होने से performance में गिरावट आती है और क्रैश होने पर data loss की संभावना अधिक होती है!!

रहा विस्टा का प्रश्न, तो यदि आप इंटरनेट पर खोजें तो आपको बहुत लेख मिल जाएँगे जो बता रहे हैं कि यह विन्डोज़ का नया वर्ज़न कितना बेकार और वाहियात है, सिर्फ़ अच्छे रंगरोगन और सर्च वगैरह जैसी छोटी मोटी चीज़ों की वजह से ऑपरेटिंग सिस्टम चलते तो सेब का मैक न ले रहे होते लोग जो इन दोनों मामलों में ही बढ़िया है बस!! ;) हाल ही में कहीं पढ़ा था कि डेल(dell) और एकाध दूसरे कंप्यूटर निर्माताओं ने माइक्रोसॉफ़्ट पर दबाव डाला था कि उनको एक्सपी वाले लैपटॉप वगैरह भी बेचने दिए जाएँ क्योंकि विस्टा की incompatibilities के चलते लोग उसको लेने में हिचक रहे हैं!!

अमित जी की बात पर कहना चाहुंगा ..कि फिलहाल कोई भी कंपनी लैपटोप के साथ xp का ओ ई एम पैकेज नहीं दे रही है. सभी विस्टा के साथ आ रहे हैं...

"मुझे लगा कि हो न हो यह ज्यादा गर्म होने की समस्या x86 ऑर्किटेक्चर में 32 बिट ऑपरेटिंग सिस्टम चलाने के कारण है"

मेरी जानकारी ये कहती है कि x86 और 32 Bit एक ही हैं. x64 अथवा 64 Bit नया आया है.
थोड़ा कन्फ़्यूज़न मुझे भी है

पता है कमल जी कि फिलहाल अभी कोई नहीं आ रहा है, इसलिए मैंने कहा कि मैंने ऐसा कहीं पढ़ा था कि माइक्रोसॉफ़्ट से बात की कुछेक निर्माताओं ने। वैसे मौजूदा स्थिति में तो मैं यह समझता हूँ कि बिना ऑपरेटिंग सिस्टम के लैपटॉप लिया जाए और उस पर अपनी पसंद के अनुसार डाल लिया जाए।

मैथिली जी,
उम्मीद करें कि आपके साथ ये समस्याएं न हों :)

डॉ. प्रभात जी,
हाँ, बेवकूफ़ तो बन ही गए. जिस ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए कम्पनी ने पैसा लिया, वो तो इस्तेमाल लायक ही नहीं निकला!

कमल जी,
आपका कहना सही है. ये तो हमें ही बेवकूफ़ सिद्ध कर देंगे. ये अमेरिका नहीं है जहाँ आप कानूनी तौर पर हर्जाना वसूल कर सकते हैं. यदि मैं उपभोक्ता संरक्षण में भी जाऊं तो शायद मुझे पांच हजार रुपए भी हर्जाना न मिले!
आपके सुझाए अपडेट हेतु धन्यवाद. अपडेशन के उपरांत विस्ता और बेहतर चल रहा है अब. लगता है सालेक भर में अपनी तमाम शिकायतें दूर हो जानी चाहिएँ.

अमित जी,
जी हाँ, आर्किटेक्चर x86 ही है, x64 उन्नत है, और मुझे भी आश्चर्य हुआ कि परफ़ॉर्मेंस में ऐसी समस्या क्यों आ रही है. मैं भी मानने को तैयार नहीं हूं कि लगभग 5 डिग्री सेल्सियस ज्यादा तापक्रम 64 बिट आर्कीटेक्चर मं 32 बिट ओएस चलाने पर क्यों आ रहा है!

मैंने विंडोज एक्सपी 64 बिट डालकर भी चलाने की कोशिश की थी. उसका हाल तो और बुरा था. लगभग सभी हार्डवेयर के लिये कोई आउट-ऑफ-द-बॉक्स समर्थन नहीं!

मेरे इस पोस्ट का भी यही उद्देश्य था कि नवीनतम तकनॉलाजी के पीछे जाने के बजाए ट्राइड एंड टेस्टेड चीजें लोग खरीदें तो बेहतर.

अंकुर जी,
ऊपर अमित जी की टिप्पणी में दिए साइट पर जाकर आप और अधिक जानकारी ले सकते हैं.

इस कहानी से हमें शिक्षा मिलती है कि...

हमें तो मिल गई, इस माह लैपटाप लेने की इच्‍छा थी अब नहीं लेंगे- अपना यही डेस्‍कटाप ठीक है जी... हम तो 30-40 हजार का झटका भी न सह पाएंगे :(

Yeah the computers are forcing Vista on us and I have suffered or seen similar issues in previous 2 laptops I bought. HP does get heated soon and temperature is unbearable mostly. Its hardware drivers also give up sometimes.

Recently I tried Acer Aspire and I think I liked that for the small time I used it. Thankfully, it doesn't get hot so soon.

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget