टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

सही किसे मानें - दृष्य, दृश्य या देखें?


राष्ट्रीय संगोष्ठी में, जिसका जिक्र इस चिट्ठे पर है, मैंने व जी. करूणाकर ने एक संयुक्त पर्चा पढ़ा था - अनुवादों व शब्दावलियों का विकास - मुक्त स्रोत के संदर्भ में जिसे अंग्रेज़ी में आप यहाँ पढ़ सकते हैं. इस पर्चे में कम्प्यूटर अनुप्रयोगों के विभिन्न प्लेटफ़ॉर्मों में इस्तेमाल में लिए जा रहे हिन्दी शब्दों पर एक छोटा-सा तुलनात्मक अध्ययन भी प्रस्तुत किया गया है, जो कि निम्नानुसार है -

विंडोज़ एक्सपी हिंदी | शब्दावली आयोग | इंडलिनक्स

Accessories सहायक उपकरण | सहयंत्र सहायक | उपकरण

Active सक्रिय |सक्रिय | सक्रिय

Add जोड़ें |योजी संकलन |जोड़ें

Address bar पता पट्टी |- |पता पट्टी

Address book पता पुस्तिका| पता पुस्तक |पता पुस्तिका

Align संरेखित |संरेखण| कतारबद्ध,पंक्तिबद्ध

Appearance प्रकटन |- |रूप, प्रकटन

Apply लागू करें |- |लागू करें

Apply लागू |- |प्रयोग करें

Arrange व्यवस्थित| - |जमाएँ

Automatic स्वचलित |स्वचालित| स्वचलित

Back वापस| पश्च |वापस, पिछला

Background पृष्ठ भूमि |पृष्ठ भूमि |पृष्ठभूमि

Bar पट्टी |स्तम्भ, रेखिका |पट्टी

Bookmark पसंद |पृष्ठित स्मृति |पुस्तचिह्न, पसंद

Cancel रद्द करें निरसन रद्द

Centred केंद्रित |- |-

Change बदलें |- |बदलें

Clear साफ करे रिक्त साफ करें

Close बंद |बन्द |बंद करें

Comments टिप्पणियां |टिप्पणी |टिप्पणियाँ

Control panel नियंत्रण कक्ष |नियंत्रण पट्टिका |नियंत्रण कक्ष

Copy प्रतिलिपि |प्रतिलिपि |प्रतिलिपि, नकल

Customize अनुकूलित करें - फ़रमाइशें

Default डिफ़ॉल्ट |- |डिफ़ॉल्ट, तयशुदा, सुनिश्चित

Details विवरण| विस्तार, विवरण| विवरण

Display प्रकटन |प्रदर्श |प्रदर्शक, प्रदर्शन

Document दस्तावेज़| प्रलेख |दस्तावेज़

Edit संपादन |संपादन |सम्पादन

Empty रिक्त |रिक्त |खाली, रिक्त

Existing मौजूदा |विद्यमान |मौजूदा

Exit बाहर निकलें| निर्गम| बाहर, निर्गम, निकास

Expand विस्तारित| विस्तारित |फैलाएँ, विस्तार

Favourites पसंद| - |पसंदीदा पसंदीदा

Find ढूंढे |अन्वेषण| ढूंढें

File फ़ाइल |संचिका |फ़ाइल

Format bar स्वरूप पट्टी| संरूप |-

Forward अग्रेषित करें |अग्र |आगे बढाएँ, अग्रेषित

Go to इस पर जाएं| - |यहां पर जाएँ, जाएँ

Help मदद |सहायता| मदद

Home मुख| आमुख, निजी |घर, आशियाना, शुरुआत

Home page मुख पृष्ठ |आमुख पृष्ठ, मूल स्थान |मुख पृष्ठ

Icons चिह्न |- |प्रतीक, चिह्न

Invert selection चयन पलटें |- |चयन पलटें, चुने हुए को उलटें

Keyboard कुंजीपटल |कुंजीपटल, कीबोर्ड |कीबोर्ड, कुंजीपट

List सूची |सूची |सूची

Lock अवरोधित |पाश, लॉक |ताला

Notification सूचनाएं |- |अधिसूचना

Ok ठीक| - |ठीक

Open खोलें |खुला |खोलें,खोलना,खुला,मुक्त

Option विकल्प|विकल्प |विकल्प

Page setup पृष्ठ सेटअप |पृष्ठ सेटअप| पृष्ठ विन्यास

Paragraph अनुच्छेद| पैराग्राफ |अनुच्छेद पैरागाफ

Paste special - |- |विशेष चिपकायें

Print मुद्रण - छापें,छपाई,मुद्रण

Print preview मुद्रण पूर्वावलोकन |मुद्रण |छपाई नमूना, छपाई पूर्वावलोकन

Property गुण |-| गुण

Re do दोहराएं |- |दोहराएँ, पुनः करें, फिर से करें

Refresh ताज़ा करें |पुनश्चर्या ताज़ा करें

Registered पंजीकृत |पंजीकृत |पंजीकृत

Remove हटाएं |- |मिटाएँ

Rename नाम बदलें |पुन:नामकरण |पुनर्नामकरण,नाम बदलें,नया नाम

Replace बदलें |- |बदलें

Restart पुनरारंभ| -| फिर प्रारंभ करें

Restore पुनर्स्थापित करें |पुन:स्थापन |बहाल करें, पुरानी स्थिति में लाएं,

Ruler मापनी| -| -

Save सहेजें| सुरक्षित करो |सहेजें

Save as इस रूप में सहेजें |- |ऐसे सहेजें

Search खोजें |खोज| ढूंढें, खोजें

Security सुरक्षा|सुरक्षा |सुरक्षा

Select all सभी का चयन करें |- |सभी चुनें, सबको चुने

Send to भेजें |-| -

Share साझा |शेयर |साझा, साझेदारी

Shared साझा |- |साझा, साझेदारी

Standard मानक |मानक |प्रमाणिक,मानक,प्रामाणिक

Start प्रारंभ |प्रारंभ |प्रारंभ,शुरू,चालू

Start menu प्रारंभ मेनू |- |स्टार्ट मेन्यू

Status bar स्थिति पट्टी |अवस्थिति| स्थिति पट्टी

Stop रूकें |विराम| रोकें, रुकें, बन्द

Taskbar कार्य पट्टी |- |कार्यपट्टी

Text wrap पाठ लपेट|- |पाठ लपेटें

Tip युक्ति |- |युक्ति, संकेत

Tools उपकरण |उपकरण |उपकरण

Un do पूर्ववत करें| -| पहले जैसा

Untitled अनामांकित| -| बेनाम,अनाम

Up ऊपर |- |ऊपर

Up one level एक स्तर ऊपर|- |एक स्तर ऊपर

Urgent अत्यावश्यक|- |अत्यावश्यक, तत्काल

User उपयोगकर्ता |उपयोगकर्ता, प्रयोक्ता |उपयोक्ता, प्रयोक्ता

View दृष्य |दृश्य |देखें, दिखाएँ, दर्शन, नजारा

Welcome सुस्वागतम| - |सुस्वागतम, स्वागतम्

Window विंडो |विंडो |विंडो

Zip संपीडित |संकुचित |संपीडित

Zoom जूम |जूम |जूम, छोटा-बडा करें

आप देखेंगे कि हमने इंडलिनक्स में अनुवादों को सरल बनाने की भरपूर कोशिश की है और प्रचलित शब्दों के क्लिष्ट अनुवादों को नहीं लिया है, बल्कि उन्हें वैसा ही रहने दिया है - उदाहरण के लिए फ़ाइल को फ़ाइल ही रहने दिया है - संचिका नहीं लिखा है. फ़ाइल को हर कोई फ़ाइल ही कहता है - संचिका नहीं. फ़ाइल शब्द हिन्दी में समाहित हो चुका है और वह अब हिन्दी शब्द है. भले ही विशुद्धतावादी इसे सिरे से नकारें, जब ब्रिटेन की अंग्रेज़ी की ऑक्सफ़ोर्ड डिक्शनरी में आठ हजार भारतीय शब्द शामिल हो सकते हैं तो हिन्दी के शब्दकोशों में क्यों नहीं? इस बात पर संगोष्ठी में हमेशा की तरह गर्मा-गर्म बहसें भी हुईं, परंतु भाषा किसी नियम की मोहताज नहीं है - उसके इस्तेमाल करने वाले ही उसे रूप रंग आकार देते हैं - शब्दावली आयोगों के सदस्यों द्वारा गढ़े गए नए क्लिष्ट शब्दों से नहीं.


संगोष्ठी में पर्चे पढ़ने वालों को उपहार स्वरूप कुछ किताबें भी दी गईं. (चित्र सबसे ऊपर देखें) किताबें जाहिर है, संगोष्ठी के विषयानुरूप ही थीं. कम्प्यूटर शब्दकोश - इलस्ट्रेटिड नाम की एक किताब (लेखक: रितुरंजन सिन्हा, प्रकाशक: मलिक एंड कंपनी, जयपुर, पृष्ठ 375, मूल्य 160, आईएसबीएन नं. 81-7998-000-6) एक मित्र को मिली. किताब में कम्प्यूटर व इंटरनेट संबंधी 4000 अंग्रेज़ी शब्दों की परिभाषा हिन्दी में दी गई है. किताब बहुत ही औसत दर्जे की है, जिसमें बहुत सी जगह पर अपूर्ण-अस्पष्ट-असत्य परिभाषा भी दी गई है. उदाहरण के लिए-

फ़ाइल प्रोसेसिंग - फ़ाइल को व्यवस्थित या क्रमबद्ध करने की प्रक्रिया को फ़ाइल प्रोसेसिंग कहते हैं.

पाइरेसी - किसी ऑरिजिनल सॉफ़्टवेयर की दूसरी प्रति बनाना.

जाहिर है, ऐसी किताबें पाठकों का कोई बहुत भला नहीं करने वालीं.

Tag ,,,

Add to your del.icio.usdel.icio.us Digg this storyDigg this

एक टिप्पणी भेजें

हिंदी वही है जो हमारी बातचीत की भाषा है। हम अपनी आपस की बातचीत में तो कठिन शब्‍दों का इस्‍तेमाल नहीं करते, फिर सरकारी या शिक्षा के तौर पर कठिन शब्‍दों का इस्‍तेमाल करना ठीक नहीं है। विशुद्धतावादी जो बातें करते हैं, असल में उन्‍होंने ही हिंदी का बड़ा नुकसान किया है। मैं तो कहता हूं कि राजभाषा विभाग भी समाप्‍त कर देने चाहिए या फिर वहां से मूर्खों को हटाकर उन लोगों को बैठना चाहिए जो सरल और आम बातचीत के शब्‍द इस्‍तेमाल कर सकते हो। मैंने भी कई ऐसी किताबें देखी हैं जो दिखती तो अच्‍छी है लेकिन पढ़ने की शुरूआत करते ही नींद आने लगती है। कठिन हिंदी नींद आने के लिए बेहतर है।

संजय बेंगाणी

सरल हिन्दी से ही हिन्दी का भला होगा. सरकारी हिन्दी किसी अन्य ग्रह की भाषा लगती है.
जहाँ तक सम्भव हो, विकल्प हो सरल शब्द लिये जाने चाहिए. फिर अंग्रेजी के ज्यों के त्यों ले लिये जाय, बादमें हिन्दी के कठीन शब्द लें, जो उपयोग में आते आते सरल लगने लगेंगे.

सही है भाई, सरल हिन्दी से ही हिन्दी का भला होगा और ये भी मानने की बात है कि हिन्दी पूरी दुनिया मे बोली और समझी जाती है। सिर्फ सुर मे ही गाना ज़रूरी नहीं, सामने वाले को समझ मे आए ऐसा गाओ - हिन्दी तो आम भाषा है मतलब सबकी समझ मे आने वाली। पुस्तकों और सरकारी हिन्दी से लगता है ये कोई आसमानी भाषा हो। जहां तक होसके सरल और आम बोल चाल वाली हिन्दी शब्दों का इस्तेमाल हो, ऐसा नहीं के हिन्दी पढे और फिर कठिन शब्दों के मायने तलाश करें।

भईया आज तो मेरी पसंद की बहस चल पड़ी। इस बात पर मैं पहले भी कई बार बोल चुका हूँ।

मैं वर्तनी के मामले में भयंकर शुद्धतावादी हूँ लेकिन जटिल शब्दों खासकर तकनीकी जटिल शब्दों के प्रयोग का मैं सख्त विरोधी हूँ। ये ऊटपटांग शब्द कहीं से भी सही नहीं होते, कईयों में तो शब्दानुवाद कर दिया जाता है लेकिन भाव उनका कुछ और ही निकलता है। अब अगर मैं किसी हिन्दी के मूर्धन्य विद्वान को भी पूछूँ कि "प्रकटन", "संरेखण" क्या है तो वो भी नहीं बता पाएगा। अनुवाद ऐसा हो जो समझ आ सके जैसे "बुकमार्क" का अनुवाद "पुस्तकचिन्ह" ठीक है समझ आता है परंतु "Text Wrap" का "पाठ लपेट" अनुवाद तो मूर्खतापूर्ण है।

बहुत पहले इस विषय पर एक पोस्ट लिखी थी। लेकिन फिर उसे पब्लिश करने का विचार त्याग दिया था। अब भी वो विंडोज लाइव राइटर में पढ़ी है। उसे पब्लिश करने का सही समय लगता है।

आपने बहुत ही अच्छा विषय उठाया है । मैं इस पर विस्तृत रूप से लिखना चाहूंगा । साधुवाद ।

वैसे भाषा लोक के साथ-साथ शास्त्र भी गढ़ते हैं । बल्कि शास्त्र उसे संस्कारित करता है ।

पर अपने मूल में भाषा वही जो लोक व्यवहार में उपस्थित हो । पर हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि लोक भी शास्त्र से प्रभावित और स्वयं को परिमार्जित करता रहता है जाहिर है कि भाषा भी ।

अनुवाद से भी कई बार हास्यास्पद स्थिति निर्मित होने लगती है । यथा - loding को गूगल वाले बता रहे हैं लादा जा रहा है । यह बात हजम नहीं हो पा रही है । कम से कम मुझे । खैर...

ऐसे अनुदित भाषा या शब्दों के प्रति भी हमारी निगरानी जरूरी है । आमीन

जयप्रकाश जी,
आप सही कह रहे हैं. हमने लिनक्स तंत्र में इसे 'लोड किया जा रहा है' अनुवाद किया है. लोडिंग अनलोडिंग तो हिन्दी में घुस आया है. लादना तो जबरन है!

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget