हमें भी चाहिए एक अदद नेतारबॉक्स!

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

लीजिए सुनिए! वैज्ञानिकों ने एक ऐसा कैटरबॉक्स बना लिया है जिसे बिल्लियों के गले में टांगने के बाद उसके मुँह से निकली हुई मियाँऊँ को मनुष्य (के समझने ) की आवाज में रूपांतरित किया जा सकता है।
अब, आपको नहीं लगता है कि हमारे नेताओं के श्रीमुख से निकलने वाले उवाचों के सही सही अर्थों के लिए नेतारबॉक्स बनाना चाहिए? फिर ये समस्या नहीं होगी कि उन्हें संदर्भ से बाहर समझा गया या उन्हें गलत उद्धृत किया गया।

--- विज्ञापन ---

----------- *** -----------

_____________________________________

0 टिप्पणी "हमें भी चाहिए एक अदद नेतारबॉक्स! "

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.