ईवीएम में छेड़छाड़ के ये हैं पूरे सौ, आईआईटीयाना तरीके….

image 
ईवीएम से छेड़छाड़ के आपको कितने तरीके पता हैं?
[ads-post] 
यदि आप एक आईआईटी इंजीनियर हैं तो शर्तिया आपको ये दस तरीके तो पता होंगे ही–

1. एक हथौड़ी लें, ईवीएम पर दन्न से दे मारें. बल्कि हथौड़ा ठीक रहेगा. वो भी लुहार वाला.

2. एक प्लायर लें, ईवीएम के बटनों को, फिर सर्किट को और अंत में प्रोसेसर व रोम को प्लायर की सहायता से क्रम से उखाड़ें. बेतरतीब से उखाड़ने में न तो ईवीएम को मजा आएगा न देखने वालों को.

3. ईवीएम के बैटरी कंपार्टमेंट को खोलें और उसमें सीधे 440 वोल्ट का करेंट दें. करेंट कैसे दें यदि नहीं पता तो आईआईटी में फिर से एडमीशन लें. इस बार सब्जैक्ट मेटलर्जी लें. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में करेंट कैसे देना यह नहीं सिखाया जाता. वैसे, सीखकर भी क्या हासिल होगा? थ्योरी और प्रैक्टिक में जमीन आसमान का अंतर होता है. आजकल करेंट वैसे भी फेज़ में नहीं आती, आती भी है तो बार बार जाती है जबकि न्यूट्रल और अर्थ में आती है तो फिर जाती नहीं. 

4. गैस बर्नर को चालू करें. सब्सिडी छोड़ी गई वाली गैस से छेड़छाड़ अच्छी होगी. हाँ, तो गैस जलाएँ, उस पर चाय की पतीली जिस तरह रखी जाती है उस तरह ईवीएम को रखें. मस्त छेड़छाड़ होगी. सुगंध सूंघकर धुंआ देखकर एनजीटी वाले आ धमकेंगे ऐसा अगर सोच रहे हैं तो निश्चिंत रहें, ऐसा कुछ नहीं होगा. उनके अपने एजेंडे हैं, उनकी अपनी अलग समस्याएँ हैं.

5. एक हेलिकॉफ्टर किराए पर लें. चार्टर्ड हो तो उत्तम. मालिकाना हो तो सर्वोत्तम. फिर पंद्रह हजार फुट की ऊँचाई से ईवीएम को नीचे गिराएं. यदि तीस हजार फुट ऊंचे से गिराएंगे तो छेड़छाड़ सर्वोत्तम तो होगी ही, छेड़छाड़ का सबूत भी नहीं मिलेगा.

6. सर्वोच्च न्यायालय की रोक के बावजूद बाजार में बेधड़क बिक रहे एसिड का पूरा एक ड्रम खरीदें. उस ड्रम में ईवीएम को डाल दें. बड़ी रासायनिक किस्म की छेड़छाड़ होगी, पूरी तरह विकृत करती हुई. बाजार में यदि एसिड न मिले तो मुहल्ले के मजनूं के पास शर्तिया बढ़िया स्टॉक होगा, और असली भी और सस्ती भी.

7. ईवीएम को पेचकस की सहायता से ठीक से खोलें. सर्किट बोर्ड अलग करें. डीसॉल्डरिंग मशीन से सारे कंपोनेंट अलग करें. डीसॉल्डरिंग मशीन चलाना नहीं आता तो आईटीआई में वेल्डिंग कोर्स में एडमीशन लें. आईआईटी व आईटीआई में केवल अक्षरों के क्रम का अंतर है.

8. ईवीएम को लेकर किसी जलाशय के किनारे जाएँ. अच्छा होगा उस जलाशय के किनारे जाएँ दुर्गा गणेश आदि विसर्जित होते हैं. ईवीएम को भी उसी तरह विसर्जित करें. यह नारा भी लगाएं – ईवीएम तोरया, अगले चुनाव तू मत आ! (यह भी ठीक रहेगा - ईवीएम मोरया, अगला चुनाव मुझे जितवा)

9. मटन काटने वाला छुरा लें. आजकल यह बहुतायत में कबाड़ियों के पास मिल रहा है. ईवीएम को इससे काटें. समस्या हो तो गौरक्षक सेना की सहायता लें.

10. शराब दुकान जाएँ. ताज़ा ताज़ा राष्ट्रीय राजमार्ग से डीनोटीफ़ाई होकर अर्बन सिटी सड़क के किनारे की शराब दुकान हो तो ज्यादा अच्छा. ईवीएम को सामने रखें और अपनी पसंद की वह्सिकी या रम के तीन चार तग़ड़े शॉट मारें. दारू नहीं पीते हों तो भोलेनाथ की पसंदीदा प्रसाद स्वरूप भाँग / गांजे की दुकान में ठंडाई या सुट्टे का शॉट मारें. आप पूछेंगे कि ईवीएम में छेड़छाड़ कहाँ हो रही है? हो रही है भाई, बखूबी हो रही है. थोड़ा नशा चढ़ने दो. फिर दिखेगा कि एक नहीं, दस ^ दस तरीकों से हो रही है!

भूल से, यदि आप आईआईटीएन नहीं हैं, तो फिर आपके अपने तरीके होंगे ईवीएम में छेड़छाड़ के. जरा हमें भी तो बता दें?













विषय:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन अयोध्यासिंह उपाध्याय 'हरिऔध' और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget