सोमवार, 11 मई 2015

# अच्छे दिन?

यह तो, निश्चित तौर पर अच्छे दिनों के संकेत हैं. अब भले ही कर्म किसी का हो,  तकदीर किसी की!

जिस देश में अंडरफ्रिक्वेंसी लोडशेडिंग होती थी,  और ओवरलोड से नेशनल ग्रिड फेल होने की घटनाएं आम थीं, वहाँ यह हो रहा है तो वाकई ईश्वर का चमत्कार है! 

0 blogger-facebook

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------