टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

और, ये हस्तलेखन की धूमधड़ाके से वापसी : धन्यवाद गूगल!

जब से निगोड़ा कंप्यूटर आया है, आदमी पेन उठाना भूल गया है. कुछ भी लिखना हो, कहीं दर्ज करना हो, पेन-पेंसिल के बजाए कंप्यूटरों के कीबोर्ड की ओर दौड़ लगाता है.

पर, अब लगता है कि दुनिया ने एक बार फिर पलटी खाई है.

गूगल ने जीमेल तथा गूगल डॉक्स पर क्रमशः 50 और 20 से अधिक भाषाओं में हस्तलेखन से इनपुट की सुविधा प्रदान कर दी है, जिनमें हिंदी भी शामिल है. एण्ड्रायड फ़ोनों में यह सुविधा कुछ समय पहले से मिली हुई है.

मैंने जीमेल में त्वरित जांच परख की तो पाया कि माउस से हाल-फिलहाल लिखने में थोड़ा कष्ट तो होता है, मगर आपके लिखे को पूरी सटीकता से पहचानने में यह पूरा दक्ष है. हाथ कंगन को आरसी क्या? नीचे स्क्रीनशॉट देखें. और, टचस्क्रीन उपकरणों के लिए तो - यह वरदान की तरह है!

image

 

हस्तलिपि में लिखने के लिए जीमेल की  सेटिंग में जाकर शो मोर लैंग्वेज ऑप्शन में क्लिक करें और वहाँ पर इनेबल इनपुट टूल्स चेक बॉक्स में सही का निशान लगाएं और एडिट टूल्स में जाकर हिंदी पेंसिल निशान को जोड़ें.

image

उसके बाद जीमेल में सेटिंग के बाएं ओर सलेक्ट इनपुट टूल ड्रापडाउन मेनू से हिंदी पेंसिल आइकन क्लिक कर चुनें. आपके सामने एक छोटा विंडो प्रकट होगा जिसमें आप माउस कर्सर या टच की सहायता से लिख सकेंगे. फिर कम्पोज विंडो खोलें और वहां कर्सर रख क्लिक करें. फिर मनचाहा पाठ लिखें. आपके लिखे एक एक अक्षर को यह रीयल टाइम में पहचानने की कोशिश करता है और आपको तदनुसार विकल्प देता है - बहुत कुछ प्रेडिक्टिव टैक्स्ट की तरह. तो आप उसमें से चुनें और एंटर बटन दबा दें. आपका हस्तलेख टाइप होकर कम्पोज विंडो में चला आएगा.

हस्तलेखन अमर रहे!

एक टिप्पणी भेजें

इसका मुझे भी इंतजार था।

टैब में हिन्‍दी लिखने के लिए तो यह बहुत उपयोगी होगा भईया, पीसी के लिए जो पेन आता है वह संभवत: इसमें काम करेगा, इसके संबंध में बतावें, यह कितनें में आता है यह भी.

आज की बुलेटिन भैरोंसिंह शेखावत, आर. के. लक्ष्मण और ब्लॉग बुलेटिन में आपकी इस पोस्ट को भी शामिल किया गया है। सादर .... आभार।।

अरे वाह !!! सच कहा वैसे अब कागज कलम से लिखा ही नही जाता हम पूरी कहानी माउस और कीपैड की सहायता से लिख जाते हैं बिना गलती किये ...... मैं भी कोशिश करूंगी इस app को यूज़ करने की ...आभार आपका इतनी उम्दा जानकारी देने के लिय

अभी जाकर देखते हैं, एक राइटिंग पैड तो कब से इसी के लिये रखा है।

हाँ, पीसी के लिए जो पेन आता है उसमें यह शानदार काम करेगा. पेन 2500 से लेकर मिलते हैं. कलाकारों के लिए तो प्रेशर सेंसिटिव टिप वाले पेन भी आते हैं जो रंग को दबाव के अनुसार हल्का और गाढ़ा करते हैं.

बहुत उम्दा जानकारी ...

क्या आपने इसे मोबाइल पर आज़माया।

हाँ, सेमसुंग गैलेक्सी तथा कुछ और ब्रांड के एण्ड्रायड फ़ोनों में यह सुविधा आ चुकी है-

यहाँ देखें - http://raviratlami.blogspot.in/2013/09/9.html

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget