टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

हिंदी टाइपिंग सीखने का एकदम नया और शानदार प्रोग्राम : स्पर्श

फ़ोनेटिक टाइपिंग में कठिन शब्दों को टाइप करते समय आपकी जान निकल जाती है? रेमिंगटन (कृतिदेव) पद्धति से यूनिकोड हिंदी टाइप करने का कोई बेहतरीन औजार आपके पास अभी भी नहीं है? हिंदी टाइपिंग के लिए बेहतर विकल्प की तलाश में घूम रहे हैं?
इनस्क्रिप्ट हिंदी टाइपिंग क्यों नहीं सीखते?
अब कोई बहाना नहीं चलेगा. क्योंकि अब आ गया है आपको परिपूर्ण वैज्ञानिक पद्धति से तैयार इनस्क्रिप्ट हिंदी टाइपिंग सिखाने का एक नया, शानदार प्रोग्राम :  स्पर्श.
इस नए प्रोग्राम - स्पर्श बीटा संस्करण 1 को तैयार किया है हिंदी प्रौद्योगिकी व हिंदी जाल-जगत के महत्वपूर्ण हस्ताक्षर श्री बालेंदु शर्मा दाधीच ने.
baalendu sharma dadhich
पर, इस प्रोग्राम की खूबियों और उसके इस्तेमाल के बारे में चर्चा करने से पहले कुछ बातें इनस्क्रिप्ट की करें, ताकि आप इनस्क्रिप्ट हिंदी टाइपिंग सीखने के लिए प्रेरित तो हों!
नीचे दिया गया मसाला भी स्पर्श प्रोग्राम के गाइड बुक से ही निकाला गया है :

इनस्क्रिप्ट क्या है और इसे क्यों सीखें?

  1. इनस्क्रिप्ट हिंदी और दूसरी भारतीय भाषाओं में कंप्यूटर पर टाइप करने के लिए भारत की आधिकारिक पद्धति है। इसे भारतीय मानक ब्यूरो ने एक मानक (स्टैंडर्ड) के रूप में मान्यता प्रदान की है, ठीक वैसे ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यूनीकोड एक मानक है या फिर भारत में उत्तम गुणवत्ता की वस्तुओं के लिए ISI मानक प्रचलित है। अन्य कोई भी कीबोर्ड भारतीय भाषाओं के लिए मानक के रूप में स्वीकार नहीं किया गया है और इसके वैज्ञानिक कारण हैं।
  2. हर डिजिटल डिवाइस (कंप्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल फोन या अन्य) पर भारतीय भाषाओं के लिए इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड स्वतः मौजूद होता है, क्योंकि यही हमारा आधिकारिक मानक कीबोर्ड है। अन्य सभी कीबोर्ड पद्धतियों को लाने के लिए अलग से साधनों की जरूरत होती है।
  3. हर आपरेटिंग सिस्टम में इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड टाइपिंग पद्धति स्वतः मौजूद होती है। भले ही वह विंडोज का कोई भी संस्करण हो, मैकिन्टोश हो या लिनक्स हो। सभी मोबाइल फोनों और अन्य डिजिटल युक्तियों पर भी यही स्थिति है। भविष्य में भी ऐसा ही होगा।
  4. इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड में कुंजियों (keyboard keys) का संयोजन इस तरह किया गया है कि यह तेज गति से टाइप करने में मदद करता है। यदि समय लगता है तो टाइपिंग के अभ्यास के दौरान। उसके बाद गति अन्य पद्धतियों की तुलना में तेज होती है।
  5. इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड का आधार वैज्ञानिक है। इसमें मात्राएँ बाईं तरफ रखी गई है क्योंकि उनका प्रयोग सामान्य अक्षरों की तुलना में कम होता है। कीबोर्ड पर दाईं ओर वे अक्षर रखे गए हैं जिनका अधिक प्रयोग होता है। कीबोर्ड की मध्यवर्ती पंक्ति में वे अक्षर लिए गए हैं जो सबसे ज्यादा इस्तेमाल होते हैं।
  6. इनस्क्रिप्ट पद्धति वास्तविक रूप से ध्वन्यात्मक (फोनेटिक) पद्धति है, जो देवनागरी लिपि के लिए अत्यंत अनुकूल है। स्वयं देवनागरी भी ध्वन्यात्मक लिपि है, जिसमें उसी तरह से लिखा जाता है जैसे कि हम बोलते हैं।
  7. इस टाइपिंग पद्धति में हलंत का प्रयोग कर आधे अक्षरों के लिए अलग से कुंजियां याद रखने की समस्या खत्म कर दी गई है। हर पूर्ण अक्षर के बाद हलंत दबाने पर उससे जुड़ा अर्धाक्षर निर्मित हो जाता है। जैसे क + ् से स्वतः आधा क बन जाता है।
  8. संयुक्ताक्षर भी विभिन्न अक्षरों और हलंत के संयोजन से खुद ही बन जाते हैं। जैसे द्ध बनाने के लिए द + ् + ध लिखने की जरूरत है। इस प्रकार इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड पर काम करने के लिए बहुत कम कुंजियों को याद करने की जरूरत है।
  9. नुक्ते और अक्षरों के नीचे लगने वाली बिंदु दोनों के लिए एक समान कैरेक्टर ( ़ ) का प्रयोग किया जाता है जो बड़े कोष्ठक के समापन चिह्न ] वाली कुंजी पर मौजूद है। यह चिह्न अक्षर के हिसाब से स्वयं ही सही स्थान पर लग जाता है।
  10. मूल रूप से रोमन से आए चिह्नों को अंग्रेजी के कीबोर्ड से ही ज्यों का त्यों हिंदी में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। जैसे प्रश्नवाचक चिह्न लगाने के लिए पहले अपने कीबोर्ड की लिपि रोमन करें और फिर ? कुंजी दबाएं। इसके बाद लिपि पुनः देवनागरी कर लें। यूनिकोड में विभिन्न भाषाओं के अक्षर साथ-साथ प्रयुक्त किए जा सकते हैं।
  11. याद रखें- जो लोग सिर्फ एकाध बार हिंदी में काम करना चाहते हैं या शौकिया तौर पर कभी-कभार दो-चार पंक्तियां देवनागरी में लिखते हैं और प्रामाणिक ढंग से हिंदी की टाइपिंग सीखने के लिए समय निकालने में असमर्थ हैं, वे ट्रांसलिटरेशन या किसी भी अन्य सहायक टूल का प्रयोग कर ऐसा कर सकते हैं। लेकिन यदि आपका व्यवसाय ही हिंदी से जुड़ा है, आपको बड़े पैमाने पर हिंदी में काम करना है या फिर आप हिंदी के प्रामाणिक तरीके से ही कंप्यूटर पर काम करना चाहते हैं तो इनस्क्रिप्ट जरूर अपनाएं। चार-पांच दिन तक रोजाना एक-दो घंटे के अभ्यास से इसे सीखा जा सकता है और उसके बाद कंप्यूटर बहुत आसान और मैत्रीपूर्ण बन जाता है।

इनस्क्रिप्ट टाइपिंग पद्धति : जरूरी नियम और तौर तरीके :

1. छोटी इ की मात्रा (ि) को भी बड़ी ई की मात्रा की ही तरह मूल अक्षर के बाद में टाइप किया जाता है। 'चिता' शब्द टाइप करने के लिए च + ि + त + ा कुंजियां दबाएंगे।
2. हर पूर्ण अक्षर के आगे हलंत कैरेक्टर ( ् ) टाइप करने पर पूर्ण अक्षर स्वतः आधे अक्षर में बदल जाता है। जैसे- क + ् + य + ा से 'क्या' बनेगा।
3. हर महा-प्राण अक्षर (जैसे ख) अपने अल्प-प्राण अक्षर (जैसे क) की कुंजी पर ही मौजूद होता है। उसे टाइप करने के लिए पहले Shift कुंजी का प्रयोग करें।
4. स्वर और उनसे जुड़ी मात्राएँ एक ही कुंजी पर मौजूद होती हैं। जैसे 'इ' स्वर और ि की मात्रा एक ही कुंजी पर होंगी। स्वरों को टाइप करने के लिए Shift कुंजी पहले दबाएं।
5. संयुक्ताक्षरों का निर्माण संबंधित कैरेक्टर्स और हलंत के प्रयोग से स्वतः हो जाता है। जैसे 'क्ष' लिखने के लिए क + ् + ष लिखना पर्याप्त है। 'त्र' के लिए त + ् + र टाइप करें।
6. नुक्ता कैरेक्टर बड़े कोष्ठक के समापन वाले चिह्न ] की कुंजी पर मौजूद होता है। मूल अक्षर टाइप करने के बाद यह कुंजी दबाने पर नुक्ता लग जाता है।
7. इनस्क्रिप्ट टाइपिंग पद्धति ध्वन्यात्मक (फोनेटिक) है। इसमें ठीक उसी तरह टाइप करें जैसे कि आप बोलते हैं। जैसे इन्दिरा के लिए इ + न + ् + द + ि + र + ा। 'अड्डा' टाइप करने के लिए अ + ड + ् + ड + ा क्रम का प्रयोग करें।
8. कर्ता में जिस तरह ऊपर की ओर आधा र आता है, वैसा चिह्न बनाने के लिए ध्वन्यात्मक तरीके से ही र + ् टाइप करते हैं। कर्ता को यूं लिखेंगे- क + र + ् + त + ा
9. जिन अक्षरों में रेफ का प्रयोग होता है (जैसे प्रण) वहां भी ध्वन्यात्मक ढंग से टाइप करते हैं। जैसे प्रयोग के लिए प + ् + र + ण
10. जहां र के साथ छोटे या बड़े ऊ की मात्रा आती है, वहां सही अक्षर स्वतः बना दिया जाता है। आपको सिर्फ र के बाद मात्रा लगानी है। उसे किस तरह प्रदर्शित किया जाएगा, इसका निर्णय कंप्यूटर खुद करेगा।
11. 'आ' स्वर का स्वयं में स्वतंत्र चिह्न है इसलिए इसे अ + ा के रूप में न लिखें। Shift कुंजी दबाने के बाद रोमन की E कुंजी दबाने पर आ चिह्न स्वयं बन जाता है। इसे अ + ा के रूप में लिखने की परिपाटी गलत है क्योंकि तकनीकी रूप से यह एक अक्षर नहीं है। उस रूप में ये दो अक्षर होते हैं जिन्हें साथ रख दिया गया है। देवनागरी वर्णमाला में आ का एक ही अक्षर के रूप में स्वतंत्र अस्तित्व है।
--
इनस्क्रिप्ट हिंदी टाइपिंग सीखने का वैसे तो एक-दो और प्रोग्राम उपलब्ध हैं, मगर यह नया प्रोग्राम बेहतर है, इन्ट्यूटिव किस्म का है और तेजी से टच-टाइपिंग सीखने के लिहाज से डिजाइन किया गया है. स्पर्श के बारे में बालेंदु जी का कहना है -
 
‘स्पर्श’ एक टच-टाइपिंग सॉफ्टवेयर है जो  हिंदी यूज़र्स को मानक हिंदी
कीबोर्ड (इनस्क्रिप्ट) के इस्तेमाल के लिए प्रेरित करने के मकसद से बनाया गया
है। यह न सिर्फ उन्हें इनस्क्रिप्ट की खूबियों से परिचित करवाता है बल्कि
टाइपिंग सीखने की प्रक्रिया में उनकी दिलचस्पी भी बनाए रखता है। इसमें
लंबे-चौड़े ट्यूटोरियल देने की बजाए सीधे अभ्यास की पद्धति अपनाई गई है। कहते
हैं कि किसी भी सॉफ्टवेयर को सीखने का सबसे आसान और सही तरीका है- उस पर काम
शुरू कर देना। ‘स्पर्श’ इसी सिद्धांत पर काम करता है। इसमें यूज़र अभ्यास के
दौरान ही सीखता है और वहीं अपने प्रदर्शन को जाँच भी लेता है। इनस्क्रिप्ट
कीबोर्ड की कतारों में आने वाले अक्षरों को आधार बनाकर ये अभ्यास बनाए गए हैं।
हर कतार के चित्र देकर उस पर अंकित अक्षरों का अभ्यास कराने का प्रयास किया गया
है। शुरूआत बहुत सरल अभ्यास से होती है और धीरे-धीरे अभ्यास का स्तर कठिन होता
जाता है। लेकिन चूंकि इस बीच यूज़र की दक्षता भी बढ़ती जाती है इसलिए उसे
जटिलता महसूस नहीं होती।

‘स्पर्श’ में कुल मिलाकर 45 ट्यूटोरियल-कम-प्रैक्टिस पेजेज हैं जो किसी भी
यूज़र को इनस्क्रिप्ट टाइपिंग का ठीकठाक अभ्यास कराने में सक्षम हैं। हर
एक्सरसाइज के दौरान यूज़र द्वारा की गई गलतियों और रफ़्तार को भी मापा जाता है
और अंत में दिलचस्प अंदाज में परिणाम दिखाए जाते हैं।

स्पर्श इन्स्टाल करने से पहले कंप्यूटर में माइक्रोसॉफ्ट डॉट नेट 4 फ्रेमवर्क
इन्स्टाल होना जरूरी है।

--
जब आप स्पर्श को अपने कंप्यूटर पर  इंस्टाल कर चलाते हैं तो पाते हैं कि इसका प्रारंभिक प्रोग्राम मेन्यू और इंटरफ़ेस बेहद साफ सुथरा और आकर्षक है -
sparsh hindi typing tutor program
इसके प्रोग्राम विंडो में तीन बटन हैं जो हिंदी में हैं. इनस्क्रिप्ट परिचय माला और टाइपिंग के तौर तरीके बटनों को क्लिक करने पर क्रमशः इनस्क्रिप्ट का परिचय और इनस्क्रिप्ट हिंदी टाइपिंग के तरीके पर मदद विंडो खुलती है. इसका सारा पाठ ऊपर दिया गया है जिसे आप पढ़ चुके हैं.
प्रोग्राम का तीसरा बटन अभ्यास शुरू करें है, जिसे क्लिक करने पर (अथवा फ़ाइल > लर्न टू टाइप मेन्यू से चालू करने पर) टाइपिंग ट्यूटर चालू हो जाता है.
sparsh typing tutor
अभ्यास को चरणों में आसान से कठिनतर बनाया गया है. पहले चरण में मध्यक्रम की कुंजियों को टाइप करना सिखाया गया है. अभ्यास पूरा होने पर आपको आपका स्कोर भी बताया जाता है.
sparsh report card
(हम्म... मेरी गति अच्छी है, और गलती - काम चलाऊ है. चलिए, ठीक है. कुछ और अभ्यास से गलतियों को सुधारते हैं, ताकि उसका स्कोर भी  अच्छा हो.)

शुरू में छोटे छोटे अक्षरों को, फिर मात्रा युक्त अक्षरों को - यानी बारहखड़ी को और फिर अक्षरों व संयुक्ताक्षरों को टाइप करना सिखाया जाता है. आखिरी अभ्यासों में लंबे वाक्यों को टाइप करना सिखाया जाता है.
sparsh abhayas 22

sparsh abhayas 24

sparsh abhayas 32

आप चाहें तो अभ्यास के समय कीबोर्ड दिखाएँ बटन को क्लिक कर इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड को स्क्रीन पर ला सकते हैं.
inscript keyboard
परंतु इस बात की अनुशंसा की जाती है कि टाइप का अभ्यास करते समय जितना संभव हो ऑनस्क्रीन कीबोर्ड लेआउट को स्क्रीन पर न रखें. एक बार नजर मार कर लेआउट को याद रख कीबोर्ड लेआउट विंडो बंद कर अभ्यास करें.
इस शानदार प्रोग्राम के लिए बालेंदु दाधीच जी को धन्यवाद.
इस मुफ़्त  प्रोग्राम को आप यहाँ से डाउनलोड कर सकते हैं -

http://balendu.com/labs/sparsh/

याद रखें कि यदि आपके कंप्यूटर में पहले से ही माइक्रोसॉफ़्ट .net 4 का संस्करण स्थापित है, तो स्पर्श का संस्करण 1 (4 मेबा आकार) डाउनलोड करें अन्यथा .net4 युक्त संस्करण 2 (50 मेबा से अधिक आकार) डाउनलोड कर संस्थापित करें.













एक टिप्पणी भेजें

बहुत अच्छा लगता है आपलोगों की मेहनत देखकर। मैं हिन्दी राइटर से लिख रहा हूँ। गति भी अच्छी है। बहुत खुशी हुई यह जानकर कि स्पर्श बनाया गया। उम्मीद है एक दिन हिन्दी और भारतीय भाषाओं में प्रोग्रामिंग और डाटाबेस(डाट नेट और ओरेकल) जैसी सुविधाएँ भी मौजूद हो जाएंगी। यह काम वैसे हिन्दी में दो-तीन जगह किया गया है लेकिन उतना सफल नहीं है। इसपर बाद में लिखूंगा। मैं चाहता हूँ कि एकदिन भारत कम्प्यूटर के हर क्षेत्र में पूर्णत: हिन्दी या भारतीय भाषाओं में काम करनेवाला हो जाय।

रवि जी,
मुझे यह बताइए कि हिन्दी कम्प्यूटिंग में अभी तक शब्द, टेक्स्ट, वाचक आदि के अलावा कहाँ तक पहुँचा काम?
यह जानकारी तो दीजिए कि सौ प्रतिशत हिन्दी आधारित काम करेंगे कैसे? मैं भविष्य में हिन्दी-भोजपुरी कम्प्यूटिंग में जाऊंगा। मुझे पूर्णत: हिन्दी में प्रचालन तंत्र (आपरेटिंग सिस्टम) चाहिए।

एक बार फिर से रवि रतलामी, आलोक, अनुनाद सिंह, बालेन्दु शर्मा, जगदीप जी, सीडैक, आई आई टी सबको बधाई और जो कुछ बन पड़ा इस सहयोग के लिए हाजिर

चंदन कुमार मिश्र

एक और बात कि इन्स्क्रिप्ट जानता बहुत दिन से हूँ लेकिन फोनेटिक में आदत हो गई है। एक गड़बड़ी है कि फ्रेमवर्क का इस्तेमाल किया गया है। अभी अधिकांश जगह फ्रेमवर्क(वह भी चौथा)नहीं है। अच्छा होता इसे आसान और स्वतंत्र साफ्टवेयर बनाया जाता।

जब साफ्टवेयर पूरा हिन्दी में है तो टाइटल बात भी हिन्दी में ही होना चाहिए था।

मेरा खयाल है कि यह साफ्टवेयर डाट नेट से बनाया गया है और उसमें यह विकल्प है कि डाट नेट फ्रेमवर्क के किस संस्करण को आप इस्तेमाल करना चाहते हैं। इसलिए आप बालेन्दु जी से कहिए कि यह साफ्टवेयर फ्रेमवर्क एक या दो पर इसका सेट अप बनाकर अपलोड कर दें। इससे धीमे इंटरनेट वालों को पचास एमबी डाउनलोड नहीं करना पड़ेगा।

ऐसा मेरा सुझाव है। बालेन्दु जी तक पहुँचाइये।

चंदन जी,
आपके विस्तृत फ़ीडबैक के लिए धन्यवाद.
स्पर्श प्रोग्राम से संबंधित फ़ीडबैक बालेंदु जी तक अवश्य ही पहुँचाया जाएगा.
बाकी सवाल हिंदी / भोजपुरी में संपूर्ण ओएस का, तो आपको लिनक्स तंत्र में यह मिल सकता है. यही नहीं, छत्तीसगढ़ी और अवधी जैसी क्षेत्रीय भाषाओं में भी लिनक्स उपलब्ध है, और आप भी अपना योगदान वहाँ दे सकते हैं.

मैं हिंदी टाइपिंग तो नहीं जानता लेकिन इनस्क्रिप्ट पद्धति का उपयोग दो साल से कर रहा हूँ. यह सबसे सरल और वैज्ञानिक पद्धति प्रतीत होती है.

आपने लिखा है कि संयुक्ताक्षरों का निर्माण संबंधित कैरेक्टर्स और हलंत के प्रयोग से स्वतः हो जाता है लेकिन मैं 'क्ष' लिखने के लिए शिफ्ट के साथ 7 दबाता हूँ और 'त्र' लिखने के लिए शिफ्ट के साथ 6 दबाता हूँ. अन्य संयुक्ताक्षर लिखना भी इसी प्रकार आसान है. जिन शब्दों में ऊपरी रेफ लगती है जैसे 'अर्थ', उसके लिए 'अ' लिखने के बाद शिफ्ट+4 दबाकर रेफ लगाता हूँ, फिर 'थ' लिखता हूँ.

मेहनत करने वाले लोगों को साधुवाद.
फ़ोन का टच कीबोर्ड इंस्क्रिप्ट स्टाइल है. एक उंगली का ही काम है. इसलिए सीखने के बजाय याद रखने का काम चल रहा अपने यहां तो :)

यह तो लिनेक्स में SCIM या IBUS के फोनेटिक की तरह लग रहा है। बस अन्तर यह है कि SCIM या IBUS का फोनेटिक रेमिंगटन के की बोर्ड पर कार्य करता है।

हम तो जब से इसके परिचय में आये हैं, पूर्ण रूपेण अपना चुके हैं।

bahut khoob.. Learning Hindi Typing is one of the most difficult thing to do on computer. Thanks for making it easy & available..

बिलकुल ही उपयोग में नहीं लाता हूँ इस की-बोर्ड को . अब इसे सीख कर ही ठहरूंगा. आभार इस ट्युटोरियल की जानकारी के लिए. उपयोग में लाने पर ही जिज्ञासाएं सामने आ सकती हैं. जरुरी हुआ तो यहीं पूछूँगा.

बढ़िया प्रयास! तख्ती का इतना आदि हो चुका हूँ कि अब फोनेटिक से इनस्क्रिप्ट पर जाने का औचित्य नज़र नहीं आता . पर नए लोगो के लिए बेहद उपयोगी.

अपुन तो रेमिंगटन के दीवाने हैं।

वैसे जानकारी के लिए शुक्रिया।

---------
टेक्निकल एडवाइस चाहिए...

अपुन तो रेमिंगटन का दीवाना है। पर जानकारी के लिए शुक्रिया।

---------
टेक्निकल एडवाइस चाहिए...
क्‍यों लग रही है यह रहस्‍यम आग...

ipad2 पर inscript keyboard उपलब्ध है?
apple i store पर ढूंढा था पर मिला नहीं
फ़िलहाल Hindiwriter का उपयोग कर रहा हूँ
शुभकामनाएं
जी विश्वनाथ

अब लगता है कि इनस्क्रिप्ट सीखना ही पड़ेगा! यह कीबोर्ड ले आउट हर ओ एस मे है, विन्डोज, लिनक्स और मैक मे !

बहुत बदिया सॉफ्टवेर बनाया है आपने में भी इसे आजमाकर देखता हू |

पूरा आलेख पढा। रेमिंगटन या गोदरेज की टाइप रायटर नये की बोर्ड पर अभ्यास था वही अभ्यास यहां कम्प्युटर पर काम आरहा है
क्या इन्सिक्रिप्ट के की बोर्ड और हिन्दी नये कीबोर्ड क्रुतिदेव में अन्तर होगा ।
क्रृतिदेव में टाइप करके आपके व्दारा बताये गये यूनीकोड परिवर्तन टूल से परिवर्तित कर लेता हूं ।

विस्तृत विश्लेषण और प्रोत्साहन के लिए रवि भाई जी का हार्दिक आभार। सभी मित्रों के सुझाव और शिकायतें भी महत्वपूर्ण हैं। एक अच्छा सुझाव सुमित कुमार जी ने यह आलेख पढ़कर ईमेल के जरिए दिया और वह यह कि 'स्पर्श' में Hindi Traditional कीबोर्ड भी शामिल किया जाना चाहिए, जिसमें दायीं Alt कुंजी के साथ विभिन्न संयोजनों से कई अंग्रेजी और संस्कृत चिह्न टाइप किए जा सकते हैं। फिलहाल नए प्रशिक्षुओं के लिए चीज़ों को सरल रखने के लिहाज से 'स्पर्श' को Hindi Inscript कीबोर्ड पर ही केंद्रित रखा गया है। लेकिन मैं प्रयास करूंगा कि दूसरे चरण के तौर पर इसमें Hindi Traditional कीबोर्ड की विशेषताओं को भी समाहित किया जाए। वैसे भी अभी यह 'बीटा' अवस्था में ही है। जहां तक .नेट फ्रेमवर्क का सवाल है, विंडोज 7 में इस फ्रेमवर्क को अलग से इन्स्टाल करने की जरूरत नहीं है। मैं ज़रूर देखूंगा कि क्या इसे Backward Compatible बनाया जा सकता है। आप सबका पुनः धन्यवाद।

किंतु मित्रो स्वयं अपने और अपनी भाषा के हित में INSCRIPT ज़रूर सीखिए। मैं अन्य कीबोर्डों पर भी काम करने में सक्षम हूं इसलिए तुलनात्मक आधार पर राय दे रहा हूं। मेरा पक्का मानना है कि मानक होने के साथ-साथ यह कीबोर्ड दूसरों से बेहतर भी है।

मैं भी कोई पिछले 25 वर्षों से (एमएस डॉस के जमाने से, जब अक्षर नाम का हिंदी वर्ड प्रोसेसर होता था) हिंदी कंप्यूटरों में काम कर रहा हूँ और तमाम कीबोर्डों - शुषा से लेकर फोनेटिक, इस्की, रेमिंगटन सभी - को आजमा चुका हूँ और मैंने पाया है कि इनस्क्रिप्ट से बढ़कर, इससे उम्दा कोई अन्य कीबोर्ड नहीं है.

निश्चित रूप से एक उपयोगी उपक्रम है यह ! कल ही जहां तक हुआ शेयर किया इसे ! आप सब को बधाई ! कोई सवाल हुआ तो पुनः हाजिर होउंगा ! आभार !

अभी आपकी पोस्ट पढ़ नहीं पाया हूँ। इन्स्क्रिप्ट सीखने के सम्बन्ध में एक कोर्स तैयार करने की योजना मेरी भी है। बालेन्दु जी का यह प्रयास सराहनीय है, अब आसान टाइपिंग ट्यूटर के अलावा दूसरा विकल्प भी है और उम्मीद है उससे बेहतर ही होगा।

फिलहाल हम भी कुछ दिनों में इन्स्क्रिप्ट प्रयोक्ताओं के लिये एक तोहफा लेकर आने वाले हैं। आशा है जून की छुट्टियों में पूरी कर लेंगे।

रविजी,

पिछले पोस्ट में आपने Ipad 2 के बारे में पूछताछ की।

Ipad2, आजकल बेंगलूरु में कई कंप्यूटर दूकानों पर उपलब्ध है।
नया स्टॉक आते ही, घंटों में बिक जाता है।
मुझे दो सप्ताह इन्तजार करना पडा।
16 GB, 32GB and 64 GB में उपलब्ध है।
और साथ में 3G option भी उपलब्ध है।

कीमत करीब Rs 29000/- से लेकर Rs 49000/- तक
3G चुनने से करीब Rs 7000/- अधिक खर्च होता है।
मैंने 16GB with 3G चुना।
दाम: Rs 36900/-
3G के लिए मैंने Tata Docomo चुना और Rs 1000/- प्रति महीने का अतिरिक्त खर्च उठा रहा हूँ।
Speed 3.6 MBPS. 5GB upload/download limit.
Service अब तक अच्छा रहा है. Call drop का अनुभव नहीं हुआ।
चलती कार में भी नहीं हुआ।
पहली बार You Tube without buffering का अनुभव कर रहा हूँ।

सुना है कुछ लोगों का 3G अनुभव सुखद नहीं रहा था।
यह service provider और शहर और शहर के अन्दर इलाके पर निर्भर है।
मुझे अब तक कोई परेशानी नहीं हुई।
हमारे इलाके में connectivity बहुत अच्छी है।


खेद इतना ही है कि इस पर Inscript Keyboard का प्रयोग नहीं कर पा रहा हूँ।
Apple I store पर जाकर ढूँढा था पर असफ़ल रहा

आशा करता हूँ कि निकट भविष्य में Ipad2 पर Inscript Keyboard का प्रयोग कर सकूँगा

शुभकामनाएं
जी विश्वनाथ

@चंदन कुमार मिश्र,
चंदन जी स्वतन्त्र सॉफ्टवेयर विजुअल बेसिक ६ में बनता था बाद के सभी विजुअल स्टूडियो संस्करणों में बने प्रोग्राम चलाने के लिये डॉट नेट फ्रेमवर्क नामक रनटाइम ऍन्वायरनमेंट चाहिये होता है, जैसे जावा प्रोग्रामों को चलाने के लिये JRE (जावा रनटाइम ऍन्वायरनमेंट) चाहिये होता है। कुछ प्रोग्रामिंग भाषाओं में बिना रनटाइम वाले प्रोग्राम बनाये जा सकते हैं लेकिन डॉट नेट प्रोग्रामिंग हेतु कई सुविधायें प्रदान करता है।

दूसरी बात डॉट नेट फ्रेमवर्क का संस्करण अपनी मर्जी से सैट नहीं कर सकते बल्कि वह सॉफ्टवेयर बनाये जाने के लिये प्रयोग किये गये विजुअल स्टूडियो के वर्जन पर निर्भर करता है। उदाहरण के लिये विजुअल स्टूडियो २००३ में बने प्रोग्राम को चलाने के लिये डॉट नेट फ्रेमवर्क 1.x, विजुअल स्टूडियो २००५ में बने प्रोग्राम के लिये .नेट फ्रेमवर्क २.०, विजुअल स्टूडियो २००८ में बने सॉफ्टवेयर के लिये ३.५ तथा विजुअल स्टूडियो २०१० में बने के लिये .नेट फ्रेमवर्क ४.० चाहिये होता है। यह टूल विजुअल स्टूडियो २०१० में बनाया गया होगा इसलिये इसको ४.० चाहिये। नया डॉट नेट फ्रेमवर्क हो तो पुराने के लिये बने प्रोग्राम भी चल जाते हैं, पुराने से नये के प्रोग्राम नहीं चलते इसलिये आप एक बार कष्ट करके नवीनतम ४.० संस्करण डाउनलोड कर लें।

@Debashish,
दादा आप का नाम गिनीज बुक में दर्ज होना चाहिये जो आज भी वर्चुअल कीबोर्डों के जमाने में तख्ती जैसा कॉपी-पेस्ट के झंझट वाला औजार प्रयोग करते हैं। अगर आपको तख्ती के लेआउट की ही आदत है माइक्रोसॉफ्ट कीबोर्ड लेआउट क्रियेटर से उस लेआउट का IME बनाकर इंस्टाल कर लें। कॉपी-पेस्ट से तो छुटकारा मिलेगा।

@G Vishwanath,
विश्वनाथ जी Hindi Email Keyboard नामक ऍप्लिकेशन ऍप स्टोर में ढूँढ कर इंस्टाल करें। यह इन्स्क्रिप्ट पर आधारित है, इससे सीधे हिन्दी में मेल भेज सकते हैं, बाकी जगह प्रयोग के लिये कॉपी-पेस्ट करना पड़ेगा पर वो तो HindiWriter में भी करना पड़ता है।

e panditजी,
Hindi email keyboard install करने के लिए Apple istore पर गया था। पर वहाँ review पढकर रुक गया। लिखा था "It is not a complete App. You can't type joint Hindi words where two Devanagari letters are joined. When I checked with support they say this functionality is not yet available. Don't buy this app. Complete waste of money. I lost my money."
हम इन्तज़ार करेंगे।
फ़िलहाल Hindiwriter से काम चलाएंगे
शुभकामनाएं
जी विश्वनाथ

ई-पंडित जी,

मैंने विजुअल स्टुडियो 2008 में काम किया है। उसमें यह विकल्प है कि हम 3.5 के पहले के भी फ्रेमवर्क से एप्लिकेशन बना सकते हैं। इसका उदाहरण है कि अभी भी मेरे पास कई ऐसे प्रोग्राम हैं जो मैंने 2008 विजुअल स्टुडियो पर बनाए हैं और वो आज भी रन करते हैं बिना किसी दिक्कत के। जबकि मेरे पास अभी 2.0 फ्रेमवर्क ही है।

ई-पण्डित जी,
आपने जी विश्वनाथ जी से कहा है कि हिन्दी राइटर में कापी-पेस्ट करना पड़ता है। ऐसा तो कुछ नहीं है। किसी भी टेक्स्ट इनपुट वाली जगह पर लिख सकते हैं।

@चंदन कुमार मिश्र,
हम्म, शायद ऐसा विकल्प हो, मैं ध्यान नहीं दिया कभी। पर पुराने फ्रेमवर्क का इस्तेमाल करने से डेवलपर CLI की नवीनतम फीचर्स का उपयोग नहीं कर पायेगा।

HindiWriter मैंने आजमाया नहीं, विपुल जी से इन दोनों ऍप्स का पता चला था। वैसे इसका अर्थ है कि हिन्दीराइटर के डेवलपर यदि चाहें तो इन्स्क्रिप्ट लेआउट में भी ऐसी ऍप्लिकेशन बना सकते हैं जिससे कहीं भी सीधे लिखा जा सके। उनसे इसके लिये अनुरोध किया जाना चाहिये।

आज डाऊनलोड किया है | अभी तक तो गूगल हिन्दी इनपुट के जरिए फोनेटिक में ही टाईप कर रहा था लेकिन अब उसमे राजस्थानी भाषा में लिखने में परेशानी होती है | इस लिए इनक्रिप्ट को ही अपनाना पडेगा |

हम तो इन्स्क्रिप्ट के दीवाने हैं, स्पर्श वाकई स्पर्श कर गया। मुबारक हो।

मुझे एक बात समझ नहीं आती कि रेमिंग्‍टन को लेकर सभी के मन में इतना दुराग्रह क्‍यों है!!! खैर... आपने लिखा है हर डिजिटल डिवाइस (कंप्यूटर, लैपटॉप, मोबाइल फोन या अन्य) पर भारतीय भाषाओं के लिए इनस्क्रिप्ट कीबोर्ड स्वतः मौजूद होता है... मेरा आग्रह है कि श्री जी. विश्वनाथ के सवालों का जवाब भी दिया जाए ताकि मैं भी जान सकूं कि उनके ipad2 पर यह आधिकारिक कीबोर्ड क्‍यों मौजूद नहीं है...? बहरहाल नए हिंदी टंकण सीखने वालों के लिए स्‍पर्श एक बेहद उम्‍दा प्रोग्राम साबित होगा। बालेंदु जी को इस काम के लिए साधुवाद। एक सुझाव मेरा यह है कि .net4 वाली बाध्‍यता यदि समाप्‍त कर दी जाए तो यह कई लोगों को और सुलभ हो जाएगा।

अ​ब कृतिदेव में लिखने का इतना आदी हो चुका हूं कि इस तरह का कोई भी कीबोर्ड सीखने का मन ही नहीं होता है। बहुत गहरे अचेतन में कृतिदेव कीबोर्ड उतर गया है।

बेनामी

बहुत बहुत धन्यबाद

हिंदी का यूनिकोड का ऐसा फॉण्ट बताये जो हस्तलिखित लगता हो ?

रवि जी, लिंक बदल गया है कृपया अपडेट करदें.
http://balendu.com/labs/sparsh/

जगदीश जी,
त्रुटि की ओर ध्यान दिलाने का शुक्रिया. लिंक ठीक कर दिया है.

श्रीमान जी ये कोई ऐसा साफ्टवेयर बताय जो कोड को कि बोर्ड पर शो करे। जैसे की टाइपिंग मास्टर में २७ में है उपाय बताय कैसे लिखा जाएगा

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget