शुक्रवार, 26 नवंबर 2010

फेसबुक और एमएस आफिस बने दोस्त डॉक्स.कॉम पर

अपनी वर्ड, एक्सेल, पॉवर प्वाइंट फाईलें फेसबुक मित्रों से साझा करें

Docs.com

मारी कंप्यूटिंग की दुनिया तेजी से क्लाउड की ओर अग्रसर है – मतलब ये कि वो पूरी तरह ऑनलाइन होने जा रही है। इसके प्रत्यक्ष प्रमाण रूप में जब माइक्रोसॉफ़्ट ने अपने ऑफ़िस सूट 2010 (जिसमें तमाम आफिस तंत्राँश जैसे कि वर्ड, एक्सेल, पॉवर प्वाइंट आदि शामिल होते हैं) को जारी किया तो उसमें न केवल ऑनलाइन दस्तावेज़ों के संपादन व साझा करने की सुविधा मुहैया कराई बल्कि ऐसे प्रयोक्ताओं के लिए जो ऑफ़िस सूट ख़रीद कर प्रयोग करने की कतई श्रद्धा नहीं रखते थे, डॉक्स.कॉम-बीटा नाम से ऑफ़िस सूट 2010 का ऑनलाइन संस्करण भी फ़ेसबुक के रास्ते जारी किया।

हालांकि माइक्रोसॉफ़्ट फ्यूज लैब्स द्वारा जारी डॉक्स.कॉम अब अभी अपने बीटा संस्करण में ही है और इसमें संपूर्ण ऑफ़िस सूट की सुविधाएँ शामिल नहीं की गई हैं, मगर इस पर त्वरित नजर डालने से इसकी संभावनाओं सुविधाओं के बारे में मालूमात किए जा सकते हैं और ये भी कयास लगाए जा सकते हैं कि भविष्य में क्लाउड कंप्यूटिंग का बिज़नेस मॉडल किस तरह आकार ग्रहण करेगा। यकीनन व्यक्तिगत या घरेलू प्रयोग करने वाला प्रयोक्ता आने वाले समय में बेहद फायदे में रहेगा क्योंकि उसे भारी भरकम राशि खर्च कर महंगे सॉफ़्टवेयर उत्पाद खरीदने नहीं पड़ेंगे। आमतौर पर सभी प्रमुख ऑनलाइन उत्पाद उसे मुफ़्त या अत्यंत किफायती कीमतों में और पूर्णतः कानूनी तरीके से हासिल होंगे। पर्सनल कंप्यूटिंग >>> (पूरा आलेख पढ़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें)

4 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. सर आपके ब्लॉग पढ़ कर काफी कुछ सीखा है, वैसे क्लाउड क्म्पुटिंग यूं तो बहुत अच्छी तकनीक है पर भारत में इन्टरनेट के सुविधा के बिना यह थोडा मुश्किल है, हालांकि ओपन ऑफिस तथा ओपन सोर्स सॉफ्टवेर से मेरा यह काम तो हो जाता है|

    सर मैंने अभी हाल ही में हिन्दी ब्लोगरों के लिए फोरम की स्थापना की है (हिन्दी में ), आप यहाँ विसिट कर सकते हैं ब्लोगर फोरम कुछ सुझाव दीजिए जिससे इसको उपयोगी बनाया जा सके|

    वैसे आपको बता दूं की आपका इंटरव्यू पढ़ने के बाद ही यह फोरम बनाने का विचार आया|

    उत्तर देंहटाएं
  2. उपयोगी जानकारी.. आभार

    हैपी ब्लॉगिंग

    उत्तर देंहटाएं
  3. क्लाउड कम्प्यूटिंग पर क्लाउड चढ़े हैं अभी।

    उत्तर देंहटाएं
  4. मेरे पास samsung GT- C 6112 मोबाइल है यह हिनदी फ़ान्ट को सपोर्ट नही करता। ओपेरा मिनी को भी सपोर्ट नही करता। इसमे हिन्दी ब्लाग देखने के लिए कोइ browser या कोई टेक्नीक हो तो कृपया बताएं ।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---