सोमवार, 24 मई 2010

छींटें और बौछारें के पाठकों को जेनुइन (असली, लाइसेंस्ड) माइक्रोसॉफ़्ट ऑफ़िस 2010 मुफ़्त में प्राप्त करने का सुनहरी मौका

image

माइक्रोसॉफ़्ट ऑफ़िस 2010 नई विशेषताओं के साथ बाजार में आ चुका है. क्लाउड कम्प्यूटिंग की सुविधा युक्त ऑफ़िस 2010 के नए संस्करण में बहुत सी नई ख़ूबियों को शामिल किया गया है.

ऑफ़िस 2010 तकनीकी पूर्वावलोकन संस्करण की एक संक्षिप्त समीक्षा आप यहाँ पढ़ सकते हैं.

भारत में भी ऑफ़िस 2010 जारी किया जा रहा है. इस मौक़े पर माइक्रोसॉफ़्ट की तरफ से ऑफ़िस 2010 के बारे में और अधिक जानने-समझने तथा सीखने के लिए 25 और 26 मई 2010 को माइक्रोसॉफ़्ट कम्यूनिटी वर्चुअल लांच इवेंट आयोजित कर रही है. आप चाहें तो अपने पास के शहर के आयोजन स्थल पर या इंटरनेट के वेबकास्ट पर इस आयोजन का लाभ निशुल्क ले सकते हैं. इसके लिए आपको मेराऑफ़िस.कॉम http://www.meraoffice.com पर पंजीकृत होना होगा.

इसी प्रकार, जून 2010 के महीने में भारत के कई शहरों में ऑफ़िस 2010 लांच इवेंट आयोजित किया जाएगा. इस अवसर पर प्रतिभागी, ऑफ़िस 2010 के बारे में न सिर्फ बहुत सी नई खूबियों के बारे में जान सकेंगे, बल्कि उन पर काम करने का अनुभव भी प्राप्त कर सकेंगे. अधिक विवरण यहाँ http://office.merawindows.com दर्ज है.

अब आते हैं असली बात पर.

इस ब्लॉग के 2 चयनित पाठकों को कम्यूनिटी ब्लॉग बज़ फ़ॉर ऑफ़िस 2010 आयोजन के तहत माइक्रोसॉफ़्ट ऑफ़िस 2007 के होम-स्टूडेंट लाइसेंस सॉफ़्टवेयर प्रदान किए जाएंगे जो कि मुफ़्त में ऑफ़िस 2010 में अपग्रेडेबल होंगे. चयनित पाठकों के भारत के पते पर सॉफ़्टवेयर सीधे माइक्रोसॉफ़्ट द्वारा भेजे जाएंगे चूंकि इसे माइक्रोसॉफ़्ट भारत की तरफ से प्रायोजित किया जा रहा है.

इसके लिए आपको क्या करना होगा?

बहुत आसान है. इस पोस्ट पर टिप्पणी में लिखें कि आप हिन्दी लिखने के लिए किस औजार का इस्तेमाल करते हैं? हिन्दी लिखने में आपको क्या समस्या आती है? इत्यादि. वैसे आप अपनी मर्जी की Nice नुमा टिप्पणी भी डाल सकते हैं, मगर यदि हिन्दी लेखन के औजार व इसकी दुश्वारियों संबंधी कुछ लिखें तो हम सभी के लिए उत्तम होगा. इस पोस्ट पर आई टिप्पणियों के तमाम टिप्पणीकर्ताओं के नामों की चिट डाली जाएगी, जिसमें से जादू जी  के द्वारा  चिट निकाल कर 2 भाग्यशाली पाठकों को चुना जाएगा. इस आयोजन में शामिल होने के लिए इस ब्लॉग पोस्ट में टिप्पणी दर्ज करने की अंतिम तिथि 8 जून 2010 है. परिणाम 15 जून 2010 से पहले प्रकाशित किए जाएंगे.

जैसा कि ऊपर बताया जा चुका है, चयनित टिप्पणीकर्ता(ओं) को भारत का शिपिंग एड्रेस देना होगा. इस आयोजन के संबंध में किसी तरह का वाद-विवाद/पत्राचार मान्य नहीं होगा, और आयोजक की तमाम शर्तें प्रतिभागियों को अंतिम रूप से मान्य व बंधनकारी होंगी.

इस संबंध में अद्यदन जानकारी हेतु इस ब्लॉग पोस्ट को देखते रहें.

22 blogger-facebook:

  1. सबसे पहले आपको धन्यवाद - में एक मामूली आदमी हूँ जो
    यदाकदा हिंदी टिप्पणी व पत्र लिखता हूँ पर कंप्यूटर पर परेशानी के दोकारन हैं १- देवनागरी लिपि में टाइप करना न जानना २-रोमन में लिखने में देरी व गलती की संभावना . वेसे में हिंदी पैड का प्रयोग करता हूँ -इसमें क वर्ग का अंतिम अक्षर नहीं है च वर्ग का अंतिम अक्षर नहीं है . निर्माता पब्लिक सोफ्ट का कहना है कि यह तकनीक संस्कृत लिखने के लिए नहीं बनी है . पर संस्कृत की भी लिपि तो देवनागरी ही है जी - क्रपा कर समाधान देवें -पुनः धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत अच्छी जानकारी दी है आपने रवि जी!

    हम तो हिन्दी टाइप करने के लिये तख्ती का प्रयोग करते हैं क्योंकि हमें सिर्फ अंग्रेजी टायपिंग ही आती है। वैसे कभी-कभी कुछ-कुछ काम चलाऊ हिन्दी टायपिंग भी कर लिया करते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  3. भाई हिन्दी में लिखने में युनिकोड में लिखने में सबसे बड़ी समस्या कम्प्युटर हैंग होने की होती है। अगर कुर्तीदेव या चाणक्या फोंट पर लिखे तो यह समस्या नहीं होती है। यह समस्या विंडोज व लिनक्स दोनो सिस्टम पर ही है। क्या यह समस्या युनिकोड फोंट की है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. स्टूडेंट एडीशन का मेरे लिये लाभ नहीं है क्योंकि इसमें ऑउटलुक व वननोट नहीं है सम्भवतः ।
    फिर भी,
    मैं मंगल यूनीकोड फोन्ट व देवनागरी इन्स्क्रिप्ट टाईपिंग करता हूँ ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. युनिकोड में लिखने में सबसे बड़ी समस्या कम्प्युटर हैंग होने की होती है।

    यह समझ में नहीं आया....

    उत्तर देंहटाएं
  6. हम गूगल बाबा की शरण में हैं

    ओन आईं हो या आफ लाइन

    बिना कट पेस्ट डायरेक्ट हिंदी

    आफिस २००७ में भी बढ़िया काम करता है :)

    वैसे हम २००७ से संतुष्ट हैं २०१० के लिए मेरा नामांकन रद्द करें

    हम तो ऐसे ही टिपिया दिये :)

    उत्तर देंहटाएं
  7. अच्छा ऑफर है, वैसे हमारे पुराने पीसी महाराज तो २००७ ही रेंग-रेंग कर चलाते हैं २०१० का क्या कहने।

    उत्तर देंहटाएं
  8. हम तो बरहा पैड इस्तेमाल करते हैं जी काफी आसान है इससे लिखना।

    उत्तर देंहटाएं
  9. मेरे लिये तो बेकार ही रहेगा, लिनेक्स पर तो चलेगा नहीं :-)

    उत्तर देंहटाएं
  10. @राजेन्द्र जी - जैसा कि आपने ऊपर पढ़ा, प्रशान्त जी बरहा पैड का प्रयोग करते हैं और काफी आसान है इससे लिखना. आप बरहा पैड आजमा कर देखें. उसमें कई तरह के कुंजीपट भी हैं.

    @शशि भूषण - आपकी समस्या विशिष्ट है और आपके कंप्यूटर या यूनिकोड हिन्दी कीबोर्ड सॉफ़्टवेयर की हो सकती है. आप भी कुछ अन्य सॉफ़्टवेयर जैसे कि बरहा इत्यादि आजमा कर देखें. वैसे आप हिन्दी लिखने के लिए किस सॉफ़्टवेयर का प्रयोग करते हैं? लिनक्स में यूनिकोड हिन्दी लिखने से हैंग होने जैसी समस्या तो है ही नहीं!

    @ प्रवीण - मुझे भी होम स्टूडेंट एडीशन की विशिष्टताओं के बारे में नहीं पता. परंतु आउटलुक की जगह आप थंडरबर्ड का प्रयोग कर सकते हैं. यह बेहद सुरक्षित और बढ़िया है. मैं कोई 7-8 वर्षों से इसी का प्रयोग कर रहा हूं. जीमेल से बढ़िया इंटीग्रेशन है. अलबत्ता इवेंट मैनेजमेंट जैसी चीजों की कुछ कमी सी है इसमें.

    @उन्मुक्त - लिनक्स में वाइन के जरिए यह चल सकता है. मैंने 2003 संस्करण तो चलाया है. भविष्य में 2007 तथा 2010 भी चलेंगे क्योंकि वाइन बहुत सक्रिय डेवलपमेंट स्टेज पर वर्षों से है.

    उत्तर देंहटाएं
  11. मैं हिंदी में लिखने के लिए http://www.google.com/transliterate का प्रयोग करता हूँ. इसकी मुख्या समस्या है की मुझे टाइप करके कॉपी/पेस्ट करना पड़ता है. धन्यवाद.

    उत्तर देंहटाएं
  12. हम तो बराहा पेड का ही उपयोग करते हैं, और इससे लिखना बहुत ही आसान है। हाँ इसकी सबसे बड़ी समस्या यह है यह टोगल स्विच F12 के जरिये अपनी भाषा बदलता है, अगर हिन्दी नहीं लिखना हो उस दौरान भी इसे सिस्टम ट्रे से बंद नहीं किया जाता है तो यह किस विंडो में चलेगा और किसमें नहीं कहना बहुत मुश्किल होता है। हिन्दी लिखने में कोई समस्या ही नहीं है।

    इसका सबसे अच्छा टूल है बराह पेड, अगर किसी कंप्यूटर पर हिन्दी फ़ोन्ट लिखने के लिये नहीं है और आपको लिखने की इच्छा है तो बस केवल रोमन में लिखते जाईये । फ़िर जहाँ बराह पेड हो उसे खोलकर वहाँ रोमन में टाईप किया गया मैटर पेस्ट करके, कौन सी भाषा में परिवर्तित करना है चुनकर F10 दबा दीजिये, चुनी गई भाषा में आपके द्वारा लिखी गई सामग्री बदल जायेगी।

    उत्तर देंहटाएं
  13. हम आईएमई हिन्‍दी टूलकिट प्रयोग करते हैं जिसका लिंक आपके ही ब्‍लाग से पाया था. इसके प्रयोग के पीछे मूल कारण यह है कि हम डॉस के समय से जो हिन्‍दी टायपिंग कीबोर्ड कम्‍प्‍यूटर पर प्रयोग कर रहे हैं वह है रेमिंगटन की बोर्ड. और आईएमई हिन्‍दी टूलकिट में रेमिंगटन की बोर्ड सहित अन्‍य सात प्रकार के की बोर्ड भी उपलब्‍ध हैं जो मुझे और मेरे कार्यालय कर्मियों के लिए सुविधाजनक है.

    मेरे द्वारा टाईप किए गए लम्‍बे पत्रों, अभियोजन पत्रों, अनुबंधों में ट्रांसलिटरेशन की बोर्ड का प्रयोग कर मेरे हिन्‍दी टायपिंग से अनभिज्ञ सहयोगी भी सुधार कर प्रस्‍तुतिकरण हेतु दस्‍तावेज तैयार कर लेते हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  14. आपके इसी चिट्ठे की किसी पोस्ट या टिप्पणी पढ़कर बरहा के बारे में जाना था ! तब से नियमित बरहा इस्तेमाल कर रहा हूँ ! हिन्दी राइटर को भी प्रयोग में लाता हूँ कभी-कभी । ऑफलाइन लिखना हो या ऑनलाइन, बरहा सर्वोत्तम है !

    उत्तर देंहटाएं
  15. मैं बरह तथा, गूगल आईएमई का प्रयोग करता हूँ, किन्तु ये दोनों यूनिकोड के लिए काम करते हैं| यदि कृतिदेव में टाइप करना हो तो इनसे वो टाइप करते नहीं बनता है अत: उसमे समय अधिक लगता है|

    इसके अलावा बारह में मुझे शोर्ट कट कुंजी को एफ ११ से बदलने का विकल्प नहीं मिला| विजुअल स्टूडियो में यदि बरह का प्रयोग करना हो तो एफ ११ दबाते ही प्रोजेक्ट कम्पाइल होने लगता है| ऐसे में गूगल आई एम् ई का प्रयोग करता हूँ|

    लिनक्स में आई ट्रांस का प्रयोग करता हूँ (पिछली बार जो लिनक्स बरह की फाइल मिली थी उसका लिंक अब टूट गया)| किन्तु आई ट्रांस बरह या गूगल आईएमई जितना अच्छा नहीं है|

    उत्तर देंहटाएं
  16. मैं बारहा इस्तेमाल करता हूँ.. और बहुत कस के इस प्रतियोगिता का ईनाम चाहता हूँ.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  17. मैं बारहा इस्तेमाल करता हूँ.. और बहुत कस के इस प्रतियोगिता का ईनाम चाहता हूँ.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  18. 1."माइक्रोसॉफ़्ट ऑफ़िस 2007 के होम-स्टूडेंट लाइसेंस सॉफ़्टवेयर प्रदान किए जाएंगे जो कि मुफ़्त में ऑफ़िस 2010 में अपग्रेडेबल होंगे" जिसके पास यह साफ्टवेयर है उसका भी मुफ्त अपग्रेड होगा क्या .

    2.मैं विंडोज का ही बीटा और गूगल ट्रान्सलिटरेशन उपयोग करता हूँ . बीटा अभी पूरा विकसित नहीं हुआ है .

    उत्तर देंहटाएं
  19. विजेताओं का चयन जादू जी ने कर दिया है. विजेताओं को बधाईयाँ! विवरण यहाँ देखें -
    http://raviratlami.blogspot.com/2010/06/2010.html

    उत्तर देंहटाएं
  20. दुख की बात है कि विजेता राजेन्द्र जी तथा सोनिया जी ने अभी तक दर्शाए ईमेल पर संपर्क नहीं किया है. ब्लॉगर के प्रोफ़ाइल में भी उनका संपर्क सूत्र दर्ज नहीं है.
    अतः आप दोनों ही विजेताओं से फिर से एक बार आग्रह किया जाता है कि तीन दिवस के भीतर यानी भारतीय समयानुसार दिनांक 24 जून सुबह 9 बजे से पहले raviratlami@gmail.com पर संपर्क करें तथा यहाँ पर टिप्पणी भी छोड़ें अन्यथा अन्य दो प्रतिभागियों को चिट निकाल कर ये पुरस्कार दे दिये जाएंगे. तथा इस संबंध में और किसी तरह का विवाद या पत्राचार मान्य नहीं होगा.

    उत्तर देंहटाएं
  21. विजेता राजेन्द्र जी व सोनिया जी को यह अंतिम सूचना दी जाती है कि आपको सिर्फ अपना ईमेल पता प्रेषित करना है जिस पर आपको एक लिंक भेजी जाएगी जहाँ से माइक्रोसॉफ़्ट साइट से आप स्वयं अपग्रेडेबल ऑफ़िस 2007 ऑर्डर कर सकेंगे. इस तरह से आपकी आइडेंटिटी एक्सपोज नहीं होगी. अंतिम तिथी वही है - भारतीय समयानुसार 24 जून सुबह नौ बजे से पहले. उक्त तिथि व समय के पश्चात् जिसका भी संपर्क हमें नहीं मिलेगा तो यह मान लिया जाएगा कि उनको पुरस्कार प्राप्त करने में कोई रुचि नहीं है और अन्य प्रतिभागि(यों) को ये पुरस्कार दे दिए जाएंगे.

    उत्तर देंहटाएं
  22. waiting लिस्ट भी डिक्लैर कर दीजिये :)

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------