बुधवार, 25 जून 2008

मॉज़िल्ला फ़ॉयरफ़ॉक्स 3 में हिन्दी क्यों नहीं? अंग्रेज़ी अख़बारों सहित सर्वत्र हल्ला

हिन्दी ब्लॉग जगत् में सबसे पहले संजय ने इस बात की ओर इंगित किया कि मॉजिल्ला फ़ॉयरफ़ॉक्स3 में जो कि किसी भी तरह के अनुप्रयोगों में एक दिन में सर्वाधिक डाउनलोड का रेकार्ड बना रहा है, हिन्दी नहीं है, जबकि वहां पंजाबी और गुजराती मौजूद हैं? एक चर्चा चिट्ठाकार समूह में भी चली थी तो इंडलिनक्स समूह में भी एक गहमागहम चर्चा चली थी

मगर आग में ऑक्सीजन तब लगी जब अंग्रेज़ी अखबार डीएनए में यह रपट छपी कि मोज़िल्ला में हिन्दी के नहीं होने के पीछे हिन्दी भाषा में अनुवादों का काम कर रहे स्वयंसेवकों में प्रेरकतत्वों का अभाव है! इस बारे में लिंगो24 में भी लिखा गया और हिन्दी ऑन द वेब पर भी.

जबकि वस्तुस्थिति यह है कि मॉजिल्ला फ़ॉयरफ़ॉक्स के अनुवादों का वर्तमान कार्य देख रहे राजेश रंजन ने कोई डेढ़ साल पहले ही अनुवादों का यह कार्य सम्पन्न कर लिया था और सराय सीएसडीएस दिल्ली में एक कार्यशाला में हिन्दी अनुवादों की जांच परख कर उन्हें छांट-सुधार भी दिया गया था. मॉजिल्ला में लोकलाइजेशन देखने वालों ने राजेश से कहा था कि इसे वे जल्द ही फ़ॉयरफ़ॉक्स2 में पहले लाएंगे, और फिर उसे 3 पर ले जाएंगे. परंतु ये कभी नहीं हुआ.

तो, जब लोगों ने चहुँओर हल्ला मचाया, तो उसके बाद मोजिल्ला के एक्सेल हेच का जवाब कुछ यूँ आया –

We have a few very devoted volunteers for some Indic languages, sadly we
had process problem, technical problems and then Firefox 3 just flooded
the gates of folks like me, who are needed to make this happen.

Axel

तो, अब उम्मीद करें कि बात जल्द ही बनेगी?

5 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. हम तो इंतजार कर रहें हैं.. देखिये आगे-आगे होता है क्या..
    शायद आपको पता हो कि मैं चेन्नई में हूं.. यहां अपने आफिस वाले कंप्यूटर में जिस हद तक संभव हो सकता है सभी कुछ हिंदी में डाल रखा है.. अधिकतर लोग(तमिलीयन) चिढ़ते हैं इससे.. मगर औपचारिकतावश कुछ कहते नहीं.. खैर हम तो इसे नहीं बदलने वाले हैं.. :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. कुल मिला कर अब आप हिन्दी की अनदेखी नहीं कर सकते :) खुशी हुई.

    उत्तर देंहटाएं
  3. हिन्दी की अनदेखी तो अब की ही नहीं जा सकती। हिन्दी एक अलग तरह की भाषा है। जिसे आने में, अपनाने में समय लगता है। लेकिन यह सब से आधुनिक भाषा भी है। और हिन्दी का भविष्य सब भाषाओँ से उज्जवल है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. हिन्दी सब से आधुनिकतम भाषा है और इस का निरंतर विकास भी जारी है। इस की उपेक्षा नहीं की जा सकती है। इस का दायरा बढ़ेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  5. इंतजार है हिंदी दिखने का वहां FF3 में।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---