शनिवार, 10 मई 2008

गुरुजी संगीत खोज – इंटरनेट पर हिन्दी फ़िल्मी संगीत ढूंढने हेतु एक त्वरित और भरोसेमंद सेवा.



पिछले हफ़्ते भारतीय भाषाओं के खोजक गुरुजी खोज द्वारा भारतीय फ़िल्म संगीत खोज के लिए एक नई सेवा प्रस्तुत किया गया.

वैसे तो हिन्दी फ़िल्मी गीतों को इंटरनेट पर ढूंढने के लिए कई प्रकल्प हैं, जिनमें एक प्रमुख, बढ़िया सेवा की कड़ी इस चिट्ठे की बाजू पट्टी में उपलब्ध है. यह सेवा भी अच्छे परिणाम देती है. परंतु आरंभिक जांच परख में गुरुजी संगीत खोज के परिणाम ज्यादा बेहतर रहे.

मैंने एक हिन्दी गाना उसके बोलों से ढूंढने की कोशिश की. जिसके बोल हैं – रेखा ओ रेखा जिसने तुम्हें देखा.


गुरूजी संगीत खोज इस गीत की कोई तीन कड़ियाँ खोज लाया और उसमें से कोई दो कड़ी पर उसके ऑनलाइन प्लेयर पर सुना भी जा सका. तीसरी कड़ी, बस देर तक लोड होती रही और बजी नहीं.


गुरुजी संगीत खोज में आप गानों के बोल, गायक, संगीत कार, फ़िल्म, गीत कार, कलाकार (एक्टर), एलबम इत्यादि के आधार पर भी खोज सकते हैं. 1932 से लेकर 2008 तक के हिन्दी (अन्य भारतीय भाषाओं के गाने भी) आप ढूंढ सकते हैं.

गुरुजी संगीत खोज में अभी आप हिन्दी गानों को सिर्फ रोमन में ही खोज सकते हैं. इसके पीछे कारण ये है कि अधिकतर सर्वरों में इन गानों को इनके रोमन नामों व उच्चारणों के आधार पर सहेजा गया है. जिससे यूनिकोड हिन्दी के द्वारा खोजा जाना अभी लागू नहीं हो पाया है. संभवतः भविष्य में रोमन-देवनागरी परिवर्तन के जरिए शायद ये भी संभव हो जाए.

कुल मिलाकर, यदि आप मेरी तरह संगीत के दीवाने हैं तो आपके लिए निश्चित ही काम की सेवा. अभी ही बुकमार्क कीजिए.

6 blogger-facebook:

  1. वाह इतने साल बाद भी रेखा ओ रेखा गाते हैं :)

    उत्तर देंहटाएं
  2. मैथिली जी,
    हालात बदले नहीं हैं. बिलकुल भी नहीं. पहले दूर से देखकर खाना पीना सोना दुश्वार हो जाता था. अब साथ रहकर...

    उत्तर देंहटाएं
  3. धन्यवाद रवि जी इस गुरूजी के बारे मे बताने के लिए।

    उत्तर देंहटाएं
  4. रवि भाई संगीत प्रेमियों के लिये तो यह
    अलादीन का चिराग़ है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. सिर्फ़ रेखा ही क्यों , बाकी और क्यों नहीं , बडी नाइन्साफ़ी है :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. रवि जी, पहले मैं http://www.s-anand.net/hindi# पर जाकर सर्च करता था, इसके रिजल्ट भी अच्छे हैं, लेकिन अब गुरुजी को भी ट्राय करूँगा… धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------