क्या आप चिट्ठाकार स्टेपनी बनना चाहते हैं?

 

क्या आपको चिट्ठा फैटीग्यू हो गया है? क्या आपको अपना चिट्ठा लिखने के लिए माल मसाला नहीं मिलता या माल-मसाले का भंडार है, परंतु उससे कोई नावां नहीं मिलता? क्या आप अपने चिट्ठे को धांसू पोस्टों से भर देना चाहते हैं? या आप चिट्ठा लिख-लिख कर एडसेंस की कमाई को भी मात देना चाहते हैं?

 

तो आपके लिए एक शानदार मौका है.

 

आज ही अपनाएँ ये  धांसू आइडिया. इसके लिए बस यहाँ चटका लगाएँ और अपनी तकदीर बदल कर रख दें.

 

और, यकीन मानिए, ये कड़ी किसी अंग्रेजी चिट्ठे की नहीं है.

एक टिप्पणी भेजें

चटका नहीं लग रहा है.

हमसे भी नहीं लगा

अपना तो खटका लग गया..
पर माफ़ किजीयेगा, मैं स्टेपनी बनने को तैयार नहीं हूं... :D

हा हा, बहुत सही!!

कार्टून मस्त बना है

चलिये हम तैयार है, आप तो हमें अपनी स्टेपनी का भी स्टेपनी बना दीजियेगा.
पईसा वईसा के क्या इन्तजामात है?
आपको अप्लीकेशन कहां भेजनी है?
अप्लीकेशन के साथ कुछ ड्राफ्ट तो नहीं लगाना?

संजय बेंगाणी

अपन को स्टेपनी बना लो गुरूदेव...

लग गया चिटका. अब वहाँ पढ़ेंगे और वहीं टिपियायेंगे. यहाँ टिपियाने का क्या फायदा.

मजा नहीं आया रतलामी भाई !व्यंग तो है मगर जायका बिगाड़ने वाला .मेरा इशारा समझ रहे होंगे .

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget