सोमवार, 10 सितंबर 2007

क्या आप चिट्ठाकार स्टेपनी बनना चाहते हैं?

 

क्या आपको चिट्ठा फैटीग्यू हो गया है? क्या आपको अपना चिट्ठा लिखने के लिए माल मसाला नहीं मिलता या माल-मसाले का भंडार है, परंतु उससे कोई नावां नहीं मिलता? क्या आप अपने चिट्ठे को धांसू पोस्टों से भर देना चाहते हैं? या आप चिट्ठा लिख-लिख कर एडसेंस की कमाई को भी मात देना चाहते हैं?

 

तो आपके लिए एक शानदार मौका है.

 

आज ही अपनाएँ ये  धांसू आइडिया. इसके लिए बस यहाँ चटका लगाएँ और अपनी तकदीर बदल कर रख दें.

 

और, यकीन मानिए, ये कड़ी किसी अंग्रेजी चिट्ठे की नहीं है.

8 blogger-facebook:

  1. हमसे भी नहीं लगा

    उत्तर देंहटाएं
  2. अपना तो खटका लग गया..
    पर माफ़ किजीयेगा, मैं स्टेपनी बनने को तैयार नहीं हूं... :D

    उत्तर देंहटाएं
  3. हा हा, बहुत सही!!

    कार्टून मस्त बना है

    उत्तर देंहटाएं
  4. चलिये हम तैयार है, आप तो हमें अपनी स्टेपनी का भी स्टेपनी बना दीजियेगा.
    पईसा वईसा के क्या इन्तजामात है?
    आपको अप्लीकेशन कहां भेजनी है?
    अप्लीकेशन के साथ कुछ ड्राफ्ट तो नहीं लगाना?

    उत्तर देंहटाएं
  5. संजय बेंगाणी5:44 pm

    अपन को स्टेपनी बना लो गुरूदेव...

    उत्तर देंहटाएं
  6. लग गया चिटका. अब वहाँ पढ़ेंगे और वहीं टिपियायेंगे. यहाँ टिपियाने का क्या फायदा.

    उत्तर देंहटाएं
  7. मजा नहीं आया रतलामी भाई !व्यंग तो है मगर जायका बिगाड़ने वाला .मेरा इशारा समझ रहे होंगे .

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------