आसपास की कहानियाँ ||  छींटें और बौछारें ||  तकनीकी ||  विविध ||  व्यंग्य ||  हिन्दी || 2000+ तकनीकी और हास्य-व्यंग्य रचनाएँ -

उबुन्तु लिनक्स में हिन्दी सक्षम कैसे करें

उबुन्तु लिनक्स सर्वाधिक लोकप्रिय लिनक्स वितरण है. इसमें यदि आपने बूट के समय या संस्थापना के समय हिन्दी विकल्प नहीं चुना हो तो फिर इसके ताजा संस्करण में  हिन्दी इसके ब्राउजर में ठीक से नहीं दिखती तथा हिन्दी कुंजीपट भी डिफ़ॉल्ट से संस्थापित नहीं होता है. जबकि आश्चर्यजनक रूप से गुजराती, पंजाबी इत्यादि भारतीय भाषा के कुंजीपट इसमें मिल जाते हैं. उबुन्तु के पुराने संस्करण 5 में हिन्दी का पूरा समर्थन था.  जो भी हो, थोड़े से प्रयास से उबुन्तु में हिन्दी का पूरा समर्थन लाया जा सकता है. पर इसके लिए आवश्यक है आपके पास आपके कम्प्यूटर में इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए, क्योंकि स्वचालित अपडेट सुविधाजनक होता है.

उबुन्तु में हिन्दी समर्थन डालने के लिए निम्न सरल से चरण हैं-:

उबुन्तु  Application मेन्यू में क्लिक करें तथा System > Administration > Language Support में जाएं.

भाषा समर्थन (लैंगुएज सपोर्ट) डायलाग प्रकट होगा. डायलाग बक्से में Hindi चुनें तथा Click Apply पर क्लिक करें. सुनिश्चित करें कि आपका इंटरनेट कनेक्शन चालू हो. 

उबुन्तु का स्मार्ट पैकेज इंस्टालर इंटरनेट पर आपके तंत्र के हिसाब से सही पैकेज को ढूंढ कर उसे आपके कम्प्यूटर पर संस्थापित कर देगा. इंटरनेट कनेक्शन की गति के मुताबिक इस हेतु कुछ समय लग सकता है. वैसे कुल 5मेबा के आसपास डाउनलोड होता है.

उबुन्तु एससीआईएम (स्मार्ट कॉमन इनपुट मेथड) का इस्तेमाल भाषाई कुंजीपट समर्थन के लिए करता है. तो जब आप हिन्दी भाषा समर्थन अपने उबुन्तु में कर लेते हैं तो यह एससीआईएम के लिए हिन्दी कुंजीपटों को भी संस्थापित कर लेता है. हिन्दी कुंजीपट अब आपके लिए उपलब्ध होता है जिसे आप  System > Preferences > Keyboard मेन्यू से या  System > Preferences > SCIM setup से लागू कर सकते हैं.

अब Keyboard Layouts में  Add Hindi Keyboard  चुनें तथा अपना मनपसंद हिन्दी कुंजीपट चुनें.

एससीआईएम में इनस्क्रिप्ट तथा फ़ोनेटिक हिन्दी कुंजीपट होता है जिसे आप अपनी सुविधानुसार चुन सकते हैं. एससीआईएम आपको अपने कुंजीपट में अपने हिसाब से परिवर्तन की भी सुविधा देता है. पर वह विवरण फिर कभी.

अपनी समस्याएँ यदि कोई हों तो टिप्पणी में दर्ज करें ताकि उनका समाधान यहीं पर दिया जा सके. 

**-**

 

टिप्पणियाँ

  1. बहुत अच्छी जानकारी दी है आपने

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढिया भाई साहब. आपका ब्लौग पढ़ कर आनंद आ गया.

    उत्तर देंहटाएं
  3. रवि जी, ये बताइए की उबुन्तु में ऑपेरा में ठीक से हिन्दी कैसे दिखे?

    उत्तर देंहटाएं
  4. मैथिली जी, pd जी, धन्यवाद.
    अनुराग जी, दुख की बात है कि दुनिया का सबसे तेज ब्राउजर लिनक्स पर हिन्दी को अभी ठीक से नहीं दिखा पाता है. संभवतः अगले संस्करणों में इसे ठीक करें. तब तक आप फ़ॉयरफ़ॉक्स या कॉन्करर का इस्तेमाल करें- पर ये भी सही है कि ये ऑपेरा के विकल्प नहीं हैं

    उत्तर देंहटाएं
  5. SCIM कीबोर्ड मे ankur लिखने पर ये ामकुर दिखाता है पर बराहा मे अंकुर लिखने के लिए केवल amkur लिखना पड़ता है.

    Baraha is easy for me. can I install Baraha in Ubuntu Linux. If Yes then How?

    उत्तर देंहटाएं
  6. फेडोरा में स्किम के साथ रेमिंगटन, इट्रांस् और हिन्दी टाइपराइटर के भी की-बोर्ड उपलब्ध हैं। मेरे विचार से यह सब भी यूबुन्टू में उपलब्ध होने चाहिये।
    अंकुर जी, फोनेटिक बहुत अच्छा की-बोर्ड है और आसान है। केवल कुछ की को याद करना पड़ेगा। अंकुर लिखने के लिये FMkur टाईप करें

    उत्तर देंहटाएं
  7. उन्मुक्त जी, इट्रांस् को ही तो मैं उबंटू में ढूंढ रहा हूं

    उत्तर देंहटाएं
  8. वाह रवि जी इस तरह के लेख की बहुत आवश्यकता थी। आपसे निवेदन है कि फेदोरा तथा रैडहैट आदि के जो अन्य प्रचलित संस्करण हैं उनके लिए भी ऐसा लेख लिखें।

    उत्तर देंहटाएं
  9. अंकुर आप लिनक्स में SCIM की मदद से बरहा चला सकते हैं। इसके लिए आवश्यक फाइल यहाँ से डाउनलोड करें।

    http://oriya.sarovar.org/download/hi-baraha.mim

    यह जानकारी रवि जी ने ही दी थी। कृपया रवि जी बताएँ कि इस फाइल को कैसे इंस्टाल करना होता है।

    उत्तर देंहटाएं
  10. उन्मुक्त जी, यह स्किम के संस्करण पर निर्भर है. किसी में है किसी में नही. शायद रेडहेट के साथ वितरण में यह है.

    श्रीश जी, अंकुर जी, मैं अगली पोस्ट लिनक्स में बारहा इंस्टाल कैसे करें इस पर लिखता हूँ.

    उत्तर देंहटाएं
  11. रवी जी, बडे दुःख के साथ कहना पड़ रहा है कि अभी लिनक्स ब्राउज़र हिन्दी जालपृष्ठों को सही ढ़ंग से प्रदर्शित करने में अक्षम हैं। चाहे वह ऑपेरा हो या फ़ायरफ़ाक्स हो। जब तक इनको CTL सपोर्ट के साथ कंपाइल न किया गया हो तब तक ये ब्राउज़र हिन्दी जालपृष्ठों को सही ढंग से प्रदर्शित नहीं कर पाते हैं। अगर आपने लिनक्स में हिन्दी सपोर्ट सक्षम किया हो तो कॉन्करर हिन्दी सही - सही ढंग से प्रदर्शित करता है पर वो भी जब आपने Freetype में TT_CONFIG_OPTION_BYTECODE_INTERPRETER option को सेेेट किया हो, तब ही। वरना इ की मात्रा में तथा ई की मात्रा में confusion बना रहता है।
    ंमैं डीबियन का वर्शन ४ प्रयोग करता हूँ, इसमें जो डीफॉल्ट ब्राउज़र है - आइसवीज़ल, वह हिन्दी को अच्छी तरह से सपोर्ट करता है, पर इस में भी फ़्रीटाइप से थोडी छेडाखानी आवश्यक हो जाती है।
    इस के बाद ही आप हिन्दी जालपृष्ठों को पड़ने का सही आनन्द ले सकते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  12. रवि जी नमस्कार,
    मैने कल अपने कम्पयूटर मे उबन्टू का नया वर्जन इन्सटाल किया जिसका साफ़्टवेऐर मुझे उबन्टू free distribution oracle , netherland से प्राप्त हुआ । हिन्दी लिखने के लिये कोई फ़ोनेटिक साफ़्टवेऐर बताये जो उबन्टू मे चल सके । मै विन्डो मे बराह का प्रयोग करता रहा हूँ ।
    विन्डॊ के फ़ायरफ़ाक्स और IE मे पाप अप ब्लाकर की सुविधा रहती है , क्या उबन्टू मे कोई ऐसा विकल्प है ?
    एन्टी वाइरस और फ़ायरवाल कौन सा प्रयोग करें ।
    अब जब उबन्टू इन्सटाल कर लिया है तो जाहिर है इसके बारे मे जानने की इच्छा भी बहुत रहेगी ।

    उत्तर देंहटाएं
  13. प्रभात टंडन जी नमस्कार,
    बारहा आप लिनक्स पर चला सकते हैं. जानकारी पर जानकारी है.
    उबुन्टू में फ़ॉयरफ़ॉक्स है. और यह विकल्प इसमें बाइ डिफ़ॉल्ट उपलब्ध है.
    लिनक्स में आपको एंटीवायरस की आवश्यकता ही नहीं पड़ेगी (आमतौर पर)
    उबुन्टू प्रयोग करते रहिए, साल छः माह में तो आप एक्सपर्ट हो जाएंगे :)

    उत्तर देंहटाएं
  14. रविजी नमस्कार
    उबुन्तु के नए वर्शन ११.०४ पर हिन्दी में टाइपिंग का मंत्र क्या है ???
    मैंने आई बस स्थापित कर लिया है, भाषा समर्थन से जब मै हिन्दी का चयन करता हूँ तो डेस्कटाप और बाकी मेनू तो हिन्दी में आ जाता है, मगर आई बस के प्रीफरेंस वाले भाग में इनपुट में जोडने के लिए हिन्दी कही नज़र नहीं आ रही है.

    कृपया बताएं कि इसमें हिन्दी के लिए फोनेटिक टाइपिंग की जुगाड कैसे हो सकती है.

    सुबोध
    indore.subodh@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  15. सुबोध जी,
    इनपुट इंडिया चुनें वहाँ से फिर आपको हिंदी डिफ़ाल्ट में मिलेगा.

    वैसे, उबुन्टु के नए संस्करणों में आईबस कीबोर्ड का प्रयोग डिफ़ाल्ट रूप में किया जा रहा है जो उन्नत और तेज है. इसमें भी हिंदी टाइपिंग की सुविधा व हिंदी कीबोर्ड अंतर्निर्मित है जिसे इनेबल किया जाना होता है. हिंदी इनेबल करने हेतु कुछ स्टेप्स यहाँ दिए हैं -

    http://askubuntu.com/questions/15648/how-to-type-hindi-in-open-office

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें