मंगलवार, 29 मई 2007

टंबलर - एक नया, चिट्ठास्क्रैपबुक?


टंबलर - एक नया, नई-नई ख़ूबियों वाला चिट्ठा स्थल

चिट्ठाचर्चा में मैंने अपने टंबलर का जिक्र किया था. उसी टंबलर से मैंने एक विजेट भी बनाया है जिसे आप इस चिट्ठे के बाजू पट्टी में दाहिनी ओर देख सकते हैं.

टंबलर क्या है? टंबलर एक नया, नई-नई ख़ूबियों वाला चिट्ठा स्थल है जो आपके ब्लॉग प्रकाशन को और भी सरल बनाता है. और, यह मुफ़्त है - व्यक्तिगत इस्तेमाल के लिए बिलकुल मुफ़्त.

सरसरी निगाह में यह वर्डप्रेस और ब्लॉगर - दोनों की ही सम्मिलित ख़ूबियों को अपने में समेटा हुआ प्रतीत होता है.

इसकी कुछ ख़ूबियाँ मुझे पसन्द आईं जैसे कि आप इसमें आरएसएस फ़ीड के जरिए पोस्ट कर सकते हैं. और चाहे जितनी फ़ीड डाल सकते हैं.

उदाहरण के लिए, यदि मैं नारद की फ़ीड इसमें डाल दूं तो यह स्वयंमेव नारद की प्रविष्टियों को ब्लॉग पोस्ट के रूप में सम्मिलित करता रहेगा.

इसकी इसी ख़ूबी को जांचने परखने के लिए मैंने गूगल ब्लॉग सर्च की फ़ीड इसमें डाल दी.

नतीजा आपके सामने है. गूगल नए नए ब्लॉगों को ढूंढता है और उसकी फ़ीड टंबलर का मेरा यह चिट्ठा खींच लेता है, व स्वयंमेव प्रकाशित करता रहता है.

यही नहीं, इसमें आप फ़्लिकर, यू-ट्यूब, पॉडकास्ट इत्यादि जैसी सेवाओं को इंटीग्रेट कर सकते हैं - उदाहरण के लिए, जब भी आप फ़्लिकर में कुछ फोटो अपलोड करेंगे तो वह फ़ोटो आपके टंबलर में एक ब्लॉग प्रविष्टि के रूप में दर्ज हो जाएगी.

टंबलर का इस्तेमाल और पंजीकरण दोनों ही बेहद आसान है. 30 सेकण्ड से कम में! - सचमुच! स्पैमरों की नज़र शायद अभी लगी नहीं है टंबलर पर!

वैसे, टंबलर - टंबललॉग को इनके प्रस्तुतकर्ताओं ने स्क्रैपबुक के रूप में प्रस्तुत करने बातें की हैं जिसमें आप तमाम चीजों को भर रख सकते हैं और जिसका इस्तेमाल आप आसानी से, चलते फिरते कर सकते हैं. जैसा कि उनका कहना है -

"ब्लॉग तो बढ़िया हैं ही, परंतु उन्हें लिखने और प्रकाशित करने में बहुत सारे श्रम की आवश्यकता होती है. और उन्हें लंबे लंबे आलेखों के लिहाज से बनाया गया है. इसके विपरीत टंबललॉग को इस तरह से बनाया गया है कि जो कुछ कहीं आप पाते हैं या कुछ बनाते हैं उसे आप आसानी से व तीव्रता से पोस्ट कर सकते हैं."

मगर फिर भी इसका प्रमुख इस्तेमाल मल्टीमीडिया युक्त ब्लॉग लेखन के रूप में ही होगा, और शायद धुँआधार होगा.

तो फिर देर किस बात की? जाइए, एक टंबलर अपना भी बना लीजिए.

Tag ,,,

5 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. बहुत अच्छी जानकारी दी है आपने

    उत्तर देंहटाएं
  2. नारद की फ़ीड का टंबलर बना कर देखा। जो यहाँ
    http://malwa.tumblr.com/
    पर है। कृपया जाँच कर बताएँ कि यह सही बन पाया है।
    एक बात और, आपने जो टंबलर दाईं ओर साइडबार में लगाया है उसमें यूमिनि डॉट कॉम क्या है?

    उत्तर देंहटाएं
  3. बेनामी9:09 am

    I have created new Hindi category for sharing ‘Hindi’ articles on http://www.bestofindya.com.

    Share your articles at BestOfIndya

    -Indya

    उत्तर देंहटाएं
  4. खास बात जो मुझे लगी वह है, फटाफट पोस्टींग. बिना ओपचारिक्ताओं के. सही है. उपयोगी भी.

    उत्तर देंहटाएं
  5. अतुल,
    आपने बढ़िया टंबलर बनाया है. यूमिनि तो एक विजेट बनाने वाली साइट है. आप अपने इस टंबलर का भी विजेट बना सकते हैं!

    और, क्या आपको पता है कि आपको आपके टंबलर के जरिए नारद का एक बेहतर विकल्प मिल गया है? पर वह भी नारद की फ़ीड के जरिए! है न कमाल की बात!

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---