गुरुवार, 11 जनवरी 2007

हिन्दी लेखक के बाद हिन्दी शब्द...

इंडीवर्ड : एक नया बहुभाषी ऑनलाइन शब्द संसाधक

एक नया ऑनलाइन (वस्तुतः बहुभाषी) हिन्दी शब्द संसाधक बीटा स्वरूप में जारी किया गया है. इंडीवर्ड नाम के इस ऑनलाइन हिन्दी शब्द संसाधक में निम्न खूबियां हैं -

1 यह इंटरनेट एक्सप्लोरर के साथ साथ फ़ॉयरफ़ॉक्स पर भी चलता है

2 अन्य ऑनलाइन कुंजीपटों के विपरीत यह ब्राउज़र विंडो में तीव्र गति से चलता है.

3 हिन्दी के अतिरिक्त अन्य भारतीय भाषाओं का समर्थन है, तथा इन भाषाओं में लिपि परिवर्तन की सुविधा ऑनलाइन है.

4 चार कुंजीपटों का समर्थन है - सिस्टम, फ़ोनेटिक, इनस्क्रिप्ट, आईट्रांस

5 असीमित अनडू-रीडू समर्थन

6 इसे आसानी से जाल स्थलों पर इंटीग्रेट किया जा सकता है. इसका मीडिया विकि के साथ जुड़ा तमिल संस्करण यहाँ देखें-

http://te.indiwiki.org/

भविष्य में इसमें रिच-टेक्स्ट संपादन विशेषता जोड़ने की योजनाएँ हैं - ऐसा इसके विकासकर्ता कृष्ण मोहन का कहना है.

जाँच करें व अपने बग रपट यहाँ भेजें - gkmohan at gmail dot com

संबंधित आलेख : हिन्दी राइटर डिजिट पर

टैग: ,,,

Add to your del.icio.usdel.icio.us Digg this storyDigg this

6 blogger-facebook:

  1. बेनामी4:32 pm

    बहुत सुन्दर! एक अच्छा प्रयास।
    इन्टरनैट पर हिन्दी को गति मिल रही है। पिछले साल से इस साल की प्रगति काफी अच्छी है।

    आओ हम सब वैब पर हिन्दी और आगे बढाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस अनुप्रयोग के बारे मे और तकनिकी जानकारी चाहीये होगी।
    यह AJAX का प्रयोग कर रहा है, जिसका मतलब यह है कि इसे सर्वर पर कोई Code चाहीये । सर्वर पर Code किस भाषा मे लिखा गया है यह इसके बाकी अनुप्रयोगो के साथ अनुकलन मे परेशानी पैदा कर सकती है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. साथमें वर्तनी-जाँचक भी हैं क्या?

    उत्तर देंहटाएं
  4. काम में लेकर देखा, काफी तेज है. लिपि परिवर्तन भी अच्छा है. वर्तनी ठीक नहीं करता.

    उत्तर देंहटाएं
  5. बेनामी8:25 pm

    अच्‍छी जानकारी है।

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत खुशी की बात है कि एक के बाद दूसरा सम्पादित्र आते जा रहे हैं जिनमे कुछ न कुछ अतिरिक्त सुविधाएं हैं। इसी तरह एक धांसू भारतीय भाषा सम्पादित्र अपना रूप धारण कर रहा है।

    भाई कृष्णमोहन को बहुत-बहुत धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------