माइक्रोसॉफ़्ट भाषा इंडिया पुरस्कार..

Microsoft BhashaIndia Best Hindi Blog of 2006


माइक्रोसॉफ़्ट की भारतीय भाषा कम्प्यूटिंग साइट भाषाइंडिया ने भारतीय भाषा ब्लॉगरों के पुरस्कारों की घोषणा की है।

मेरे इस चिट्ठे को सर्वश्रेष्ठ हिन्दी चिट्ठे का पुरस्कार मिला है.

मैं उन सभी सज्जनों का आभार व्यक्त करता हूँ जिन्होंने इस चिट्ठे को नामांकित किया व पुरस्कार के योग्य समझा.

पिछले वर्ष भर से मेरा नियमित लेखन अन्यत्र चिट्ठे पर चलता रहा है जिसका नाम है छींटें और बौछारें.

इस चिट्ठे पर छींटें और बौछारें में प्रकाशित रचनाओं को आर्काइविंग के दृष्टिकोण से पुनःप्रकाशित करता रहा हूँ, और, भविष्य में कुछ समय तक यही स्थिति बनी रहेगी.

मेरे नए, ताज़े लेखन के लिए देखें छींटें और बौछारें

साथ ही, साथी मित्रों की रचनाओं को इंटरनेट पर चिट्ठे के माध्यम से लाने का एक सार्थक प्रयास भी किया जा रहा है. इस चिट्ठे की कड़ी है रचनाकार

आशा है, आपका प्यार और विश्वास मेरे लेखन के प्रति बना रहेगा.

अद्यतन #01 - सहारा समय मध्यप्रदेश/छत्तीसगढ़ टेलिविजन चैनल ने दिनांक 7 जुलाई 2006 को मेरा व डॉ. जगदीश व्योम का जीवंत साक्षात्कार प्रसारित किया, उसकी कम-गुणवत्ता की वीडियो फ़ाइल (5 मेबा) डाउनलोड कर विंडोज में विंडोज मीडिया प्लेयर या विनएम्प पर तथा लिनक्स में एमप्लेयर पर देखा जा सकता है. वीडियो डबल्यूएमवी फ़ॉर्मेट में है तथा इस कड़ी से डाउनलोड की जा सकती है-

http://www.archive.org/download/Sahara_Samay_BhashaIndia_Live_9_July_2006/Sahara_Samay_BhashaIndia_Live_9_July_2006.wmv

टिप्पणियाँ

  1. बेनामी4:06 pm

    रवि रतलामी जी
    आपके ब्लाग को हिन्दी का सर्वश्रेष्ठ माइक्रोसॉफ़्ट भाषाइंडिया पुरस्कार मिलने के लिए बधाई।
    डॉ॰ व्योम

    उत्तर देंहटाएं
  2. वाह रवि भाई आपने हिंदी के ब्लॉग जगत को ही नहीं बल्कि पूरे हिंदी समुदाय को गौरवान्वित किया है।

    ऐसी खबरें हमारे हिंदी अखबारों की नजरों में क्यों नहीं आती?

    हिंदी को इंटरनेट पर लोकप्रिय बनाने और हम हिंदी वालों को नेट पर भटक कर हिंदी की साईटें खोजने में रवि भाई ने प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से ज़बर्दस्त योगदान दिया है। गूढ़तम और कठिन तकनीकी बातों को आपने सरलतम हिंदी में प्रस्तुत कर मुझ जैसे कई हिंदी प्रेमियों को प्रेरित किया है और आत्मविश्वास बढ़ाया है। आपकी यह यात्रा अनवरत जारी रहे और दुनिया के तमाम पुरस्कार आपकी झोली में आएं।

    इसी शुभकामना के साथ
    आपका हिंदी प्रेमी
    मुंबई

    उत्तर देंहटाएं
  3. रवि भैया,

    बहुत बहुत बधाई.

    उत्तर देंहटाएं
  4. रवि भाई, बहुत बहुत बधाई, आपको इनाम मिला यह हमारे लिये भी गर्व की बात है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बधाई स्वीकारें.
    वास्तव में आपने हिन्दी चिट्ठाकारीता को सम्मानित करवाया हैं.
    आपका लेखन अनवरत जारी रहे

    उत्तर देंहटाएं
  6. आप सभी को धन्यवाद.

    दरअसल, एक लेखक को पुरस्कार मिलता है तो उसके सही हकदार तो उसके पाठक ही होते हैं - खासकर ब्लॉग लेखन के क्षेत्र में, जहाँ से उसे लिखने और लिखते रहने की प्रेरणाएँ मिलती रहती हैं.

    आप सभी को एक बार फिर धन्यवाद एवं आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  7. रवि भैया,
    बहुत-बहुत बधाई.
    सितारे तो कई हैं ब्लॉग की दुनिया में लेकिन 'रवि' एक ही है.
    आपका
    शशि

    उत्तर देंहटाएं
  8. आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद. :)

    उत्तर देंहटाएं
  9. Girish Shah SBI8:51 pm

    Wonderful, You are a gem no doubt.

    Keep it up, we all are with you.

    उत्तर देंहटाएं
  10. रवि भाई:

    देर से सही लेकिन पुरुस्कृत किये जानें पर बहुत बहुत बधाई ।
    अब पुरुस्कार इस ब्लौग को मिला है तो टिप्पणी भी इसी पर छोड़ी जायेगी ।

    उत्तर देंहटाएं
  11. आपको पुरस्कृत होते देख छत्तीसगढ़ की धरती स्वयं को फूला नहीं समा रही है । वाह, इसे ही कहते हैं माटी-पुत । हिंदी के विकास की जब भी चर्चा की जायेगी आप याद किये जाते रहेंगे । (गाड़ा, गाडा बधाई सिरिफ आपे बर)

    जयप्रकाश मानस

    उत्तर देंहटाएं
  12. रवि जी देर से बधाई दे रहा हूं, हिन्दी प्रेमियों के लिये इससे बढ कर खुशी और क्या हो सकती है।
    डा प्रभात टन्डन

    उत्तर देंहटाएं
  13. पुरस्कार घोषित हुआ और मिला नहीं ?.........बड़ी ना-इंसाफी है .....!!!

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें