बुधवार, 31 जनवरी 2018

व्यंग्य जुगलबंदी - बजट

image


व्यंज़ल

बजट

गड़बड़ाया मानवीयता का बजट

सर पे चढ़ा राष्ट्रीयता का बजट


चलो चलें किसी और दर, यहाँ

हो गया कम जीवटता का बजट


जहाँ चर्चे थे प्रेम और सौहार्द्र के

बढ़ गया उधर है कटुता का बजट


आज कुछ और होता, यदि होता

उनके कहने में स्पष्टता का बजट


फिक्र की बात नहीं रवि के देश में

बहुत है वहाँ अशिष्टता का बजट

***

यूनिकोड हिंदी में कॉपी-पेस्ट किए जाने योग्य व संपादित किए जाने योग्य पीडीएफ़ फ़ाइल कैसे बनाएँ?

अपडेट - यह आलेख - श्रीदेवी कुमार जी के विकिहाऊ पर प्रकाशित मूल आलेख का हिंदी अनुवाद है. उन्हें धन्यवाद.

यह सामुदायिक मुक्त स्रोत की महिमा है, कि अब यह संभव है. एम एस वर्ड या एडोबी या किसी अन्य प्रोप्राइटरी प्रोग्राम से जब आप अपने यूनिकोड हिंदी फ़ाइल की पीडीएफ बनाते हैं तो बाद में उसमें की सामग्री को निकालना या संपादन आदि संभव नहीं हो पाता है.  

XeTeX नामक टूल से आप यूनिकोड टैक्स्ट वाली फ़ाइलों की पीडीएफ़ बना सकते हैं जिसे बाद में संपादित किया जा सकता है, उसका टैक्स्ट ऐक्सट्रैक्ट किया जा सकता है, कॉपी-पेस्ट आदि किया जा सकता है. यह टूल कमांड लाइन आधारित है, तो इसके लिए एक जीयूआई इंटरफ़ेस बनाया गया है जिसका नाम है Lyx जिससे काम करना आसान हो जाता है. साथ ही Miktex नाम का टूल हिंदी वर्तनी जाँच आदि की सुविधा भी प्रदान करता है. इन सभी को संयुक्त रूप से उपयोग कर आप हिंदी के शानदार, त्रुटि रहित दस्तावेज़ तैयार कर सकते हैं.

आपकी सुविधा के लिए निम्न चरण-दर-चरण ट्यूटोरियल प्रस्तुत है -

भाग 1 - सेटअप (केवल एक बार, प्रारंभ में करना होगा)

1 – इस कड़ी - http://www.lyx.org/ से LyX+Miktex का बंडल डाउनलोड कर इंस्टाल करें. डाउनलोड के लिए वैकल्पिक मिरर साइटों पर भी जा सकते हैं जिसकी लिंक वहाँ उपलब्ध है.

clip_image002


2 - विंडोज़ इंस्टालर में हिंदी स्पेल चेक इंस्टाल करने के लिए हिंदी कंपोनेंट तथा हिंदी स्पेलचेकर पर सही का निशान अवश्य लगाएँ

clip_image003

3 – इंस्टालेशन के दौरान Miktex अपडेट पर हाँ करें –

clip_image004

4 – यहाँ - http://salrc.uchicago.edu/resources/fonts/available/sanskrit/sanskrit2003.shtml से Sanskrit 2003  या और भी अन्य  दूसरे फ़ॉन्ट डाउनलोड कर इंस्टाल करें.


5 - Lyx को चलाएँ, और फ़ाइल मेनू से अथवा  Ctrl+N दबाकर नया दस्तावेज़ बनाएँ –

clip_image006

6 - शीर्ष मेनू में Document > Settings में जाएँ.

image

7 - वहां पर जैसा कि ऊपर के स्क्रीशॉट में दिया है, "Document Class" चुनें फिर "Koma-Script Article" चुनें.

8 - वहीं पर, "Language" चुनें और फिर "Hindi" चुनें -

image


9 - फिर, सेटिंग में ही, "Fonts" चुनें. फिर अपने पसंदानुसार ड्रापडाउन मेनू से उपलब्ध विकल्पों में से Roman (Serif), Sans-Serif, या Typewriter (Mono) फ़ॉन्ट चुनें.


10 - फिर,   LaTeX Preamble चुनें. वहाँ देखें कि "\XeTeXgenerateactualtext=1" प्रविष्टि दर्ज है या नहीं. नहीं हो तो यह जोड़ें. इस से बनाई जाने वाली PDF फ़ाइलों में  यूनिकोड देवनागरी फ़ॉन्ट के पूरे ग्लिफ़ कॉपी हो जाते हैं जिससे बाद में टैक्स्ट कॉपी-पेस्ट बिना किसी त्रुटि के किया जा सकता है.

वैकल्पिक रूप से   निम्न प्रविष्टियाँ भी जोड़ें –

· \XeTeXgenerateactualtext=1

· \setmainfont[Script=Devanagari]{Sanskrit2003}

· \setsansfont[Script=Devanagari]{Aparajita}

· \setmonofont[Script=Devanagari]{Mangal}

· \font\dev="Mangal:script=deva" at 12pt\dev

चित्र देखें –

clip_image008

11 - सेटिंग विंडो में "Numbering & TOC" चुनें. नंबरिंग के स्लाइडर को चित्रानुसार, बाईं ओर खिसकाकर सेट करें.

image



इन सेटिंग को डाक्यूमेंट डिफ़ॉल्ट के रूप में सहेजें  (Save as Document Defaults पर क्लिक करें) ताकि हर बार यह सेटिंग न करना पड़े. लागू करें और सेटिंग विंडो बंद करें.


भाग 2 दस्तावेज़ तैयार करना (हर बार, नया दस्तावेज़ बनाते समय करना होगा)


1 -  अब Lyx के मुख्य टैक्स्ट इनपुट विंडो में यूनिकोड देवनागरी सामग्री टाइप करें अथवा किसी अन्य दस्तावेज़ से कॉपी पेस्ट करें और दस्तावेज़ सहेजें. निम्न स्क्रीनशॉट में  इनपुट किया यूनिकोड देवनागरी सामग्री की झलक दिख रही है -

image

2 - शीर्षक सेट करने के लिए  टैक्स्ट चुनें और फिर बाएँ ऊपर दिए गए ड्रापडाउन मेनू से टाइटल चुनें

image

3 - इसी तरह,  सामग्री के अन्य खंडों को सेट कर सकते हैं. जैसे कि उपशीर्षक -

image

4 - लेखक का नाम सेट कर सकते हैं -

image

5 - खंड का शीर्षक सेट कर सकते हैं -

image


6 - इसी तरह और भी खंडों के शीर्षक सेट करें. अलग अलग सेट किए गए खंड कुछ ऐसे दिखेंगे -

image

7 - वैकल्पिक - यदि आप दस्तावेज़ में टेबल शामिल करना चाहें तो इसके लिए  जहाँ आपका कर्सर मौजूद है वहाँ टेबल इंसर्ट करने के लिए मेनू में Insert > Table चुनें और नए चाइल्ड विंडो से आड़ी खड़ी पंक्तियों की संख्या सेट करें.

image

8 - वैकल्पिक - यदि आप दस्तावेज़ में कोई चित्र शामिल करना चाहते हैं तो जहाँ आपका कर्सर मौजूद है वहाँ कोई ग्राफ़िक इंसर्ट करने के लिए मेनू में Insert > Graphics चुनें, और फ़ाइल नाम चुनें व आकार के लिए वांछित % आकार चुनें.


9 - जहाँ आपको विषय सूची (Table of Contents) चाहिए वहाँ कर्सर को रखें और Insert > List > TOC > Table of Contents चुनें.

image


10 - अब आपका दस्तावेज़ साझा करने के लिए तैयार है. यह PDF के रूप में कैसे दिखेगा इसकी झलक देखने के लिए Ctrl+R  दबाएँ.

11 - आपके पीडीएफ़ फ़ाइल बनाने की प्रगति देखने के लिए या कोई त्रुटि संदेश देखने के लिए View > Messages Pane पर जाएँ.


12 – फ़ाइल > एक्सपोर्ट मेनू से PDF (XeTeX) चुनें, और पीडीएफ फ़ाइल सहेजें.

image


हिंदी यूनिकोड सामग्री युक्त, संपादित किए जाने योग्य आपकी पीडीएफ़ फ़ाइल तैयार है. बधाई!

(स्क्रीनशॉट तथा अन्य सामग्री विकिहाऊ - https://www.wikihow.com/index.php?title=Create-a-Searchable-Hindi-PDF-Using-Lyx-with-Xetex से साभार)

मंगलवार, 30 जनवरी 2018

तू डाल डाल तो मैं पात पात...


image

क्रिप्टोकरेंसी. आप नहीं भी चाहेंगे तो भी जाने अनजाने यह आपके कंप्यूटर पर, आपके मोबाइल पर, और आपके पास के यथा-संभव समस्त कंप्यूटिंग उपकरणों पर मौजूद रह सकता है. मगर, आपको लखपति, करोड़पति बनाने नहीं, बल्कि आपके कंप्यूटिंग उपकरण के पॉवर की चोरी कर, हैकरों के लिए क्रिप्टोकरेंसी छापने के लिए.

अब, ऐसी चोरी को आप कैसे पकड़ पाएंगे भला!

बुधवार, 17 जनवरी 2018

लीजिए, पेश है - स्मार्ट चड्ढी

Capture _2018-01-15-12-27-30

और यह कोई केवल बच्चों या बूढ़ों के लिए नहीं है, जिसमें एब्जार्वेंट पैड लगा हो ताकि अप्रिय स्थिति का सामना न करना पड़े.

अब चूंकि शुरुआत हो ही चुकी है, मैं चाहूँगा कि मेरी एक अदद स्मार्ट चड्ढी में न्यूनतम, निम्न  लिखित सुविधाएँ तो हों, नहीं तो वो काहे की स्मार्ट!

  • चड्ढी आपको पहले से यह बता सकने में सक्षम हो कि आप अगले दस मिनट में पादने वाले हैं, पादने के आवाज का डेसीबल 45 रहेगा, और  यह कि तब तक आप कोई सुरक्षित स्थान तलाश लें ताकि किसी घोर अप्रिय स्थिति का सामना न करना पड़े.
  • अगले दस मिनट में पादने वाले हैं का प्रेडिक्शन शत प्रतिशत सही होना चाहिए, फ़ेल सेफ़ की कोई गुंजाइशन नहीं होना चाहिए.
  • केवल प्रेडिक्शन से काम नहीं बनेगा, स्मार्ट चड्ढी यह भी बता पाने में उतना ही स्मार्ट होना चाहिए कि एक से लेकर 10 के स्केल में आपकी पादी गई गैस का बदबू का स्तर क्या कैसा होगा. बेहतर होगा कि स्मार्ट चड्ढी में अंतर्निर्मित फ़िल्टर व कैमिकल लगे हों  और नॉइस कैंसलिंग सिस्टम लगे हों जिससे कि बदबू खत्म कर उसमें खुशबू डाली जा सके और पाद के आवाज का लेवल न्यूनतम किया जा सके. बेहतर यह होगा कि पाद की आवाज के साथ शहनाई या बांसुरी की आवाज को मिलाकर कोई फ़्यूज़न संगीत की रचना कर सकने में सक्षम हो तो सारा अनुभव खुशबूदार, खुशनुमा, संगीतमय भी हो सकता है.
  • आपकी स्मार्ट चड्ढी यह भी बता सकने में सक्षम होनी चाहिए कि जब आप लांग ड्राइव पर जा रहे हों तो यह आपको पहले से आगाह कर दे कि भइए, आने वाले 50 मील दूर दूर तक कोई ढंग का टायलेट नहीं है, अभी से अपना ब्लैडर खाली कर ले, या ज्यादा बीयर और थम्प्सअप के कैन खाली नहीं कर, नहीं तो किसी रोड साइड स्थल पर फारिग होने की कोशिश करनी होगी जिसे पूरी तरह से  असफल करने के प्रयास ओडीएफ़ वाले कार्यकर्ता और सीटी बजाने वाले गुरुजी लोग (भारतीय संदर्भ में पढ़ें) कर सकते हैं.
  • इस स्मार्ट चड्ढी की सबसे बड़ी स्मार्ट खासियत यह होनी चाहिए कि इसे धोने की जरूरत न हो. सेल्फ क्लीनिंग हो. इतिहास गवाह है, और इस बात पर बहुत बवाल मच सकता है, मगर यह सही है कि बहुत से कुंवारे मर्दों ने, केवल चड्ढी धोने के लिए ही शादियाँ कीं. मर्दों को चड्ढी न पहनना पसंद है, मगर चड्ढी धोना नहीं.
  • स्त्रियों के लिए, बकौल ट्विंकल खन्ना - इसमें स्मार्ट सेंसर लगे हों जो पहले से यह बताने में सक्षम हों कि सेनिटरी पैड ओवरफ्लो होने जा रहा है या नहीं. मगर बात इससे भी आगे हो तो बेहतर. पेडलैस फुल्ली ड्राई सिस्टम हो जो एनवायरनमेंटल फ्रेंडली भी हो - यानी महीनों के उन दिनों की कोई चिंता फिकर न हो - कब आया कब गया पता ही न चले - खासकर पुरातन पंथी सासु माताओं की सोच स्मार्ट बनाने में बेहद उपयोगी.

बुधवार, 3 जनवरी 2018

पुरुषों (और, पुरुष मानसिकता वालों ) के लिए एक अल्टीमेट गॅजेट

बस, इसी की तो जरूरत थी!

भारतीय बाजारों में यह किसी भी अन्य सर्वाधिक विक्रय/पसंदीदा उपकरणों से अधिक बिकेगा. शर्तिया.

image

टेबल टॉप, पर्सनल व्हिस्की, रम, ब्रांडी, बीयर बनाने की मशीन. तीन घंटे में पसंदीदा टेस्ट का लिकर तैयार.

image

चलें, खरीदने?

ल्यौ इब 8के टीभी!


लगता है कि भविष्य मेंं, उच्च तकनीकी की टीवी देखने के लिए हमें अपनी आंखों को कम्पेटिबल बनाने के लिए उसमें एक अदद चिप लगानी होगी! 🤔