डिजिटल लाइब्रेरी की लाखों किताबों को पीडीएफ़ ईबुक के रूप में निःशुल्क डाउनलोड करें

डिजिटल लाइब्रेरी में लाखों किताबें स्कैन कर अपलोड की गई हैं जिनमें हिंदी भाषा में भी तमाम उपयोगी व मनोरंजक किताबें हैं. अधिकांश पुरानी किताबें स्कैन कर अपलोड की जा चुकी हैं. बहुत संभव है कि पचास सौ साल पुरानी कोई किताब यदि आप किसी संदर्भ के लिए खोज रहे हों तो वह यहाँ स्कैन किया हुआ मिल जाए.

परंतु इस लाइब्रेरी की सबसे बड़ी समस्या यह है कि स्कैन की हुई बहुमूल्य किताबें ऑनलाइन पठन पाठन के लिए ही उपलब्ध हैं और आमतौर पर एक विशेष प्लगइन को इंस्टाल किये बगैर इन्हें पढ़ पाना मुश्किल होता है.

यहाँ किताबों को डाउनलोड कर ऑफलाइन उपयोग करने की सुविधा प्रदान नहीं की गई है जिससे इस खूबसूरत प्रयास का लाभ अधिकांश लोग नहीं ले पाते.

इस समस्या को कुछ उत्साही, व समाज के लिए समर्पित डेवलपरों ने ठीक करने की कोशिश की है.

आप डिजिटल लाइब्रेरी की इन किताबों को एक टूल के जरिए पीडीएफ फ़ाइल के रूप में डाउनलोड कर सकते हैं. यह टूल निःशुल्क है.

इस टूल का नाम है डीएलआई डाउनलोडर

इसे आप यहाँ से -

http://www.shunyafoundation.com/

 

अथवा यहाँ से -

 

http://www.sanskritdocuments.org/scannedbooks/dlidownloader/

 

डाउनलोड कर सकते हैं.

 

यह टूल कैसे काम करता है?

यह टूल उपयोग में बेहद आसान है, और इसमें अंतर्निर्मित सर्च की सुविधा है जिससे आप डिजिटल लाइब्रेरी की किताबों को सर्च कर डाउनलोड कर सकते हैं, परंतु यदि आप डिजिटल लाइब्रेरी से सर्च कर उस किताब का बारकोड आईडी प्राप्त कर लें तो यह बेहद आसान हो जाएगा.

उदाहरण के लिए आपने डिजिटल लाइब्रेरी में नरेंद्र कोहली का कविता संग्रह परिणिति ढूंढा -

image

अब आप उसका बारकोड नोट कर लें जो कि है  - 99999990007057.

अब आप डीएलआई डाउनलोडर चालू कर लें. और इसके सर्च बॉक्स में उक्त बार कोड को पेस्ट करें.

image

आप देखेंगे कि उक्त किताब यहाँ दिखने लगेगी. उस पर दायाँ क्लिक करें. पीडीएफ फ़ाइल के रूप में डाउनलोड का विकल्प दिखेगा. उसे चुनें. बस, काम हो गया. थोड़ी ही देर में पूरी किताब पीडीएफ़ फाइल के रूप में आपके कंप्यूटर पर उपलब्ध होगी. किताब का आनंद उठाएं. चाहें तो इस पीडीएफ किताब को अपने मोबाइल उपकरण, किंडल या टैबलेट पर ट्रांसफर कर सकते हैं.

image

 

संस्कृतडाक्यूमेंट.ऑर्ग से डाउनलोड किए प्रोग्राम का फ्रंटएंड कुछ भिन्न है, परंतु इसी तरह कार्य करता है -

image

 

--

How to download digital library indi pdf e book as pdf file

एक टिप्पणी भेजें

आपका बहुत बहुत हार्दिक आभार
बहुत जरुरत थी इस टूल की......बडी मुश्किलों का सामना करना पडता था..लाईब्रेरी से पुस्तकें पढने में
altrinatiff की मदद से पढनी पडती थी और पेज गुम जाते थे....बीच में छोडने पर फिर से सर्च करना पडता था

पर इस टूल की मदद से भी अभी भी कई पुस्तकें डाऊनलोड नहीं हो पा रही हैं ...कुल मिलाकर आठ पुस्तकें डाऊनलोड करने की कोशिश की ...परन्तु केवल तीन पा सका हूं...बाकी faild हो गई
टूल मुफ़्त है पर डोनेशन का ऑप्शन दिया है......डोनेट करना अच्छा लगा...
धन्यवाद आपका

प्रणाम स्वीकार कीजियेगा

आपने अच्छा किया डोनेट कर. मैंने भी किया. यथा संभव सभी उपयोगकर्ताओं को करना चाहिए इससे उत्पाद में निरंतर डेवलपमेंट के लिए प्रेरणा मिलती रहती है.

जी, प्रणाम।

आपकी ब्लॉग पोस्ट को आज की ब्लॉग बुलेटिन प्रस्तुति अंतरराष्ट्रीय योग दिवस और ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। सादर ... अभिनन्दन।।

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget