आसपास की कहानियाँ ||  छींटें और बौछारें ||  तकनीकी ||  विविध ||  व्यंग्य ||  हिन्दी || 2000+ तकनीकी और हास्य-व्यंग्य रचनाएँ -

गीत संगीत के दीवानों के लिए एक नया चैनल इनसिंक

image

गीत संगीत के दीवानों के लिए एक नया चैनल - इनसिंक.

 

अगर आप मेरी तरह गीत-संगीत के दीवाने हैं, तो अब तक इनसिंक के बारे में जान ही चुके होंगे, और शायद सप्रयास यह चैनल लगवा भी चुके होंगे. यदि नहीं, तो आइए, इसके बारे में कुछ जानकारी लें कि क्यों यह नया चैनल आपकी गीत-संगीत की दीवानगी में एक नया आयाम जोड़ने की क्षमता रखता है.

पहली बात - भारत में जितने भी गीत-संगीत के चैनल हैं, वे सभी अपने दर्शकों को मूर्ख समझते हैं. वे ज्यादातर तो प्रोमो गाने ही बजाते-दिखाते हैं, और उनका संग्रह बेहद सीमित होता है, जिसमें वे बारंबार एक ही किस्म के कंटेंट दिखा-दिखा कर दर्शकों को सड़ा डालते हैं. एक संगीत के चैनल में हर दूसरे घंटे चिकनी चमेली दिखता है. ऊपर से इन चैनलों में ध्वनि की क्वालिटी मोनो / 18-20 केबीपीएस होती है, क्योंकि सेटेलाइट चैनल अधिकाधिक न्यूज़ चैनल भरने के चक्कर में आवाज की गुणवत्ता को मार ही डालते हैं. ऐसे में, शास्त्रीय संगीत आधारित, भारत का यह पहला (और शायद अब तक का अकेला?) चैनल है, जिसमें इस किस्म की समस्या अभी नहीं दिखती है. इसकी सलाहकार समिति में पंडित हरिप्रसाद चौरसिया, उस्ताद राशिद खान, नीलाद्री कुमार, पंडित विजय घाटे और पंडित राजन साजन मिश्र जैसे लोग हैं तो लगता है कि यह अन्य चैनलों से भिन्न ही बना रहेगा.

दूसरी बात - इसमें शास्त्रीय गीत-संगीत-नृत्य की चुनिंदा प्रस्तुतियाँ न केवल भारतीय, बल्कि पूरे विश्व से संकलित होती हैं जो लाजवाब, मनोरंजक तो होती ही हैं, शिक्षाप्रद भी होती हैं.

तीसरी बात - मैं इसे कोई महीने भर से सुन-देख रहा हूँ और इसके गीत संगीत की प्रस्तुति में रिपीटीशन भी कम है, और चूंकि चैनल नया है तो विज्ञापन भी नहीं के बराबर.

और, सामग्री ऐसी कि आप चौबीसों घंटे सुनते रह सकते हैं.

कुछ झलक पाने के लिए इसका यू-ट्यूब चैनल https://www.youtube.com/channel/UCLb7GBAWxARQDKAiflF9OVw देख सकते हैं

 

इसमें किस तरह के प्रोग्राम आते हैं इसकी झलक आप इसके कार्यक्रम शेड्यूल से देख सकते हैं - http://www.insyncmusic.tv/schedule

image

 

इनसिंक - शानदार, लाजवाब, मनोरंजक, शिक्षाप्रद - चौबीसों घंटे बेहतरीन संगीत.

धन्यवाद इनसिंक! हमारी संगीतमय दुनिया में और सरगम भरने हेतु!

टिप्पणियाँ

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें