इंटरनेट ऑफ़ एवरीथिंग और दुकालू

clip_image002

यह तो ख़ैर एक अलग सा मसला है कि इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स और अंततः इंटरनेट ऑफ़ एवरीथिंग के जमाने में जब इंटरनेट के फ़ेसबुक पर तलाक होने लगे हैं, तो शादी ब्याह का मामला आमंत्रण-निमंत्रण से लेकर फेरे तक व्हॉट्सएप्प वेब स्ट्रीमिंग पर लाइव होगा, पार्टियाँ, पिज्जा हट और डोमिनोज़ के ‘30 मिनिट्स ऑर फ़्री’ के ऑनलाइन ऑर्डर से, अपने-अपने घरों के कम्फ़र्ट में होंगे, और शायद हनीमून भी लोकल लोकेशन में, खूबसूरत सेज के बाजू में 56 इंची टीवी सेट पर आ रहे वेनिस/स्विटज़रलैंड की खूबसूरत वादियों के यूट्यूब स्ट्रीमिंग के बीच ही होंगे. मगर अपने दुकालू के साथ मसला जरा दूसरे किस्म का रहा. 

इंटरनेट ऑफ़ एवरीथिंग के जमाने में, जब दुनिया की अधिकांश आबादी ने अपने आप को एक अदद स्मार्टफ़ोन और एक अदद इंटरनेट डेटा पैक से लैस कर लिया तो दुकालू ने सोचा कि वो भी क्यों पीछे रहे. नतीजतन उसने भी अपने इधर-उधर के बजट में कटौती की और अपने हिसाब से, इंटरनेट डेटा पैक युक्त एक बढ़िया स्मार्टफ़ोन ले ही लिया. अब बढ़िया स्मार्टफ़ोन खरीदने-बेचने का भी एक अलग मसला है. कंपनियाँ 100 का माल पाँच सौ, हजार, पचास हजार तक में बेचने का अपना-अपना स्मार्टनेस दिखाती हैं, और ग्राहक अपने हिसाब से इनके ट्रैप में फंसने-न-फंसने और एक-दूसरे-को-बताने-दिखाने का स्मार्टनेस दिखाते हैं. और, डेटापैक की तो पूछिए मत. जो जिस भाव से मिल रहा है ले लो – नहीं तो नेटन्यूट्रैलिटी के चक्कर में पता चलेगा कि आप तो बस फ़ेसबुक और ट्विटर में ही उलझ कर रह गए हैं – शायद रह ही गए हैं, है ना?

clip_image004

चलिए, तो एक शानदार, खुशनुमा दिन, दुकालू, इंटरनेट वाला स्मार्टफ़ोन ले आया. यानी वह भी दुनिया के स्मार्ट लोगों में शामिल हो गया. दन्न से उसने फ़ेसबुक एकाउंट बनाया, दसबीस लाइक किए पचीस पचास फ्रेंड रीक्वेस्ट भेज दिए, और इंतजार खत्म हो इससे पहले ही किसी ने उसे पहले-पहल पसंद भी कर दिया और नेट पर वायरल हो रहे चुटकुले के एक पोस्ट को दुकालू को टैग भी कर दिया. दुकालू खुश हुआ और उसने पोस्ट को पढ़ना चालू किया – एक था हाथी और एक थी चींटी...

दुकालू ने अपना सिर खुजाया. इ का है साला. इ चुटकुला तो हमने अपने प्रायमरी क्लास में सुन रखा था. इ साला इंटरनेट पर, फ़ेसबुक पर भी आ गया. तो इहां भी यही चुटकुले बाजी चलती है का. चलो कोई बात नहीं. उसने ट्विटर की ओर रूख किया. ट्विटर ट्रैंड पर हैश टैग ट्रैंड कर रहा था हाथी. उसने क्लिक किया कि अब ये कौन सा हाथी है. एक दो लिंक खड़काने के बाद वही चुटकुला फिर नमूदार हो गया – एक था हाथी....

दुकालू ने किसी से व्हाट्सएप्प का सुन रखा था कि यह बहुत बढ़िया होता है. अपने स्मार्टफ़ोन में व्हाट्सएप्प इंस्टाल किया. सोचा इधर की दुनिया हाथियों से अलग होगी. पर जैसे ही व्हाट्सएप्प इंस्टाल हुआ, दनादन्न मैसेज अपडेट होने लगे. दुकालू का हर कॉन्टैक्ट, हर संपर्क, हर ग्रुप, मार्केट में नया आया, वही चुटकुला फारवर्ड मारने में लगा था – एक था हाथी...

दुकालू बोला – इ साला एही है इंटरनेट ऑफ़ एवरीथिंग. इंटरनेट के एवरीथिंग, एवरीवेयर में एक ही चुटकुला चलता है साला – एक था हाथी...

गुस्से में उसने अपना स्मार्टफ़ोन दीवार पर दे मारा. स्मार्टफ़ोन का नॉनडिस्ट्रक्टिव बॉडी और स्क्रैचप्रूफ़ ग्लास का तो कुछ बिगड़ा नहीं, अलबत्ता स्मार्टफ़ोन के जाने किस हिस्से पर टैप हो गया, और ताबड़तोड़ एक वीडियो डाउनलोड हो गया जिसमें एंकर एक नवीनतम चुटकुला सुना रहा था – एक था हाथी....

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget