टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

क्या स्मार्ट टीवी आपकी जासूसी करते हैं?

तकनीक दिनोंदिन स्मार्ट होती जा रही है. यहाँ तक कि, एक जमाने में बुद्धू बक्सा कहा जाने वाला टीवी भी अब स्मार्ट हो गया है. ठीक है, परंतु क्या आप स्वयं इतने स्मार्ट हुए भी हैं या नहीं कि इन स्मार्ट तकनीकों का स्मार्ट तरीके से प्रयोग करें, नहीं तो मामला उल्टे गले पड़ जाए!

 

उदाहरण के लिए, यदि आपने अपने बेडरूम में स्मार्ट टीवी लगाया हुआ है तो क्या आपको यह पता है कि आपका स्मार्ट टीवी आपके बेडरूम में की जाने वाली इंटीमेट बातों को रेकार्ड कर उन्हें इंटरनेट पर अपलोड कर सकता है? और, यदि स्मार्ट टीवी में कैमरा लगा है तो ...?

 

जी हाँ, यह संभव है.

तो क्या स्मार्ट टीवी नहीं खरीदें?

जी नहीं, स्मार्ट टीवी जरूर खरीदें. और यदि नहीं भी खरीदना चाहें तो क्रोमकास्ट जैसे डांगल से अपने टीवी को स्मार्ट अवश्य बनाएं. आखिर दुनिया स्मार्ट हो रही है तो आपका टीवी क्यों नहीं?

हाँ, कुछ उपायों से आप इस तरह की समस्याओं से बच सकते हैं और अपने स्मार्ट टीवी का भरपूर उपयोग स्मार्ट तरीके से कर सकते हैं.

 

आपकी आवाज, हावभाव पहचानता है आपका स्मार्ट टीवी :

image

(एल जी स्मार्ट टीवी - टीवी में सर्च करने के लिए आपकी आवाज सुनता हुआ आपका स्मार्ट टीवी - शुक्र है कि यह फंक्शन तब चालू होता है जब आप अपने रिमोट के माइक्रोफ़ोन बटन को दबाते हैं.)

स्मार्ट टीवी में दो प्रमुख बातें होती / हो सकती हैं. आपकी जिंदगी आसान बनाने के लिए, तथा आवाज और हावभाव से टीवी कंट्रोल करने व स्काईप जैसी सेवाओं से वीडियो टेलीफोनी  का बेहतर इस्तेमाल करने के लिए इसमें अंतर्निर्मित कैमरा तथा आवाज पहचानने हेतु रिमोट में माइक्रोफ़ोन होता है. जब आप स्काईप जैसी सेवा चालू करते हैं तो ये स्वचालित सक्रिय हो जाते हैं. इसी प्रकार यदि आप टीवी को आवाज या हावभाव से नियंत्रित करने हेतु तैयार कर देते हैं तो इसका कैमरा तथा आवाज पहचानने वाला माइक्रोफ़ोन चालू हो जाता है और आपके हावभाव तथा आवाज को पहचान कर टीवी के फंक्शनों को नियंत्रित करता है.  कुछ स्मार्ट टीवी के माइक्रोफ़ोन हमेशा सुनने वाले मोड में होते हैं और जैसे ही आप कुछ पूर्व निर्धारित शब्द जैसे कि -  "हाई टीवी" कहते हैं तो यह आपकी आवाज को रेकार्ड करने लगते हैं कि आप आखिर क्या कहना या करना चाह रहे हैं. और यदि आप कहेंगे "हाई टीवी स्टार्ट" तो आपका टीवी चालू हो जाएगा, और आप कहेंगे "हाई टीवी शट डाउन" तो यह बंद हो जाएगा. आमतौर पर, सामान्य उपयोग हेतु ये सेवाएं सुरक्षित, समस्या रहित मानी जाती हैं.

 

तो फिर समस्या कहाँ है?

समस्या वहाँ आ सकती है, जब आपका स्मार्ट टीवी आपके आवाज को ठीक से पहचानने के लिए आपके आवाज को रेकॉर्ड कर रीयल टाइम में अपने क्लाउड सर्वरों अथवा किन्हीं तृतीय पक्ष की सेवा पाने के लिए (जैसे कि स्पीच रिकग्नीशन अथवा स्पीच टू टैक्स्ट / टैक्स्ट ट्रांसलेटर सेवा आदि के लिए) उनके क्लाउड सर्वरों पर अपलोड करता है. आमतौर पर सभी स्मार्ट टीवी यह करते हैं. स्थानीय रूप से ऑफलाइन में आमतौर पर यह कार्य नहीं होता क्योंकि आपका स्मार्ट टीवी और उसमें रखा डेटाबेस इतना सक्षम नहीं होता, और इस कार्य के लिए प्रायः ऑनलाइन डेटा और वृहद सक्षम तंत्र की आवश्यकता होती है.

उदाहरण के लिए, आप अपने स्मार्ट टीवी में अपनी आवाज का उपयोग करते हुए कोई खोज कर रहे हैं. परंतु इसबीच आप कुछ आपसी वार्तालाप भी कर लेते हैं तो वह सारा कुछ रेकॉर्ड हो जाएगा और आपके स्मार्ट टीवी से संबद्ध सर्वरों पर पहचानने के लिए भेज दिया जाएगा, जो कि आप कतई नहीं चाहेंगे. ऊपर से, चूंकि आपका स्मार्ट टीवी इंटरनेट से कनेक्टेड व ऑनलाइन होता है तो उसमें भी हैकिंग से नियंत्रण प्राप्त कर उसके बेजा उपयोग के खतरे वैसे भी हैं.

 

image

(स्मार्ट टीवी का स्मार्ट पैनल)

 

 

तो फिर इस समस्या से कैसे निपटें?

आसान है. बस, अपने स्मार्ट टीवी को चलाते समय थोड़ा स्मार्टनेस दिखाएं. निम्न उपायों को आजमा कर इन खतरों को कम कर सकते हैं.

1 - यदि अपने स्मार्ट टीवी का उपयोग ऑनलाइन नहीं कर रहे हों तो भले ही थोड़ा झंझट भरा हो, इसका नेट कनेक्शन बंद कर रखें.

2 - स्मार्ट टीवी का कैमरा यदि उपयोग में न आ रहा हो तो उसे बंद कर रखें.

3 -  स्मार्ट टीवी की सेटिंग में मोशन रिकग्नीशन बंद कर रखें.

image

(एल जी स्मार्ट टीवी का मैजिक रिमोट जिसमें आवाज से नियंत्रण करने के लिए माइक्रोफ़ोन है जिसका नियंत्रण एक अलग बटन से किया जा सकता है)

4 - टीवी पर माइक्रोफोन का चिह्न दिखाई दे रहा हो तो यह मान लें कि आपका स्मार्ट टीवी आसपास हो रही तमाम आवाजों को रेकॉर्ड कर रहा है. ऐसे में सावधानी बरतें तथा कार्य समाप्त (जैसे कि स्काईप कॉल पूरा)  हो जाने के बाद माइक्रोफ़ोन बंद कर दें.

5 - आवाज नियंत्रण सुविधा का इस्तेमाल न करें या करें तो ध्यान रखें कि उस वक्त दूसरे किस्म के वार्तालाप न करें.

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget