रविवार, 20 जनवरी 2013

आपके लिए पैसे का क्या उपयोग है?

मेरे पास होता तो कुछ यूँ उपयोग करता- याच खरीदता निजी ड्रीमलाइनर खरीदता (बैटरी खराब है तो क्या, ठीक करवा लेता) बीच समंदर में कोई द्वीप खर...

बुधवार, 16 जनवरी 2013

फ़ेसबुक और सेल्फ-कंट्रोल

फ़ेसबुक के जमाने में सेल्फ कंट्रोल? अमां, क्या बात करते हो! निगोड़े फ़ेसबुक ने तो सचमुच हम सबका स्व-नियंत्रण खत्म ही कर डाला है और इस ब...

सोमवार, 7 जनवरी 2013

ओह, तो यह है संकट की असली वजह!

बहुधा, असली वजहें कुछ और ही होती हैं. अगर आपको याद होगा तो पिछले पूरे वर्ष भर बारदाना का भारी संकट रहा. गेहूं की फसल जब पक कर तैयार हुई तो ...

रविवार, 6 जनवरी 2013

निःशुल्क हिंदी लेखक : चाणक्य, कृतिदेव व यूनिकोड फ़ॉन्ट परिवर्तन व हिंदी वर्तनी जांचक सहित

पिछली पोस्ट में मैंने निःशुल्क चाणक्य फ़ॉन्ट हिन्दी वर्तनी जाँचक के बारे में बताया था. वस्तुतः यह औजार उसी का एक्सटेंशन है. इसमें हिन्दी ...

शनिवार, 5 जनवरी 2013

लीजिए, पेश है चाणक्य फ़ॉन्ट के लिए निःशुल्क हिंदी वर्तनी जांचक

  यूनिकोड हिंदी में लिखी सामग्री की वर्तनी जाँच के लिए तो अब हमारे पास कई अच्छे और निःशुल्क विकल्प हैं, परंतु प्रिंट मीडिया में धुंआधार उप...

मंगलवार, 1 जनवरी 2013

इंसान बनाओ, माँ!

(प्रस्तुत आलेख  - राजस्थान पत्रिका के संपादक श्री गुलाब कोठारी के ब्लॉग से साभार पुनर्प्रकाशित. संदर्भ के लिए यहाँ देखें) कोई सोचकर देखे...

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---