शुक्रवार, 21 जून 2013

यात्रा २ - आरामगाह

5 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. सराहनीय प्रस्तुति आभार . ये है मर्द की हकीकत आप भी जानें संपत्ति का अधिकार -४.नारी ब्लोगर्स के लिए एक नयी शुरुआत आप भी जुड़ें WOMAN ABOUT MAN

    उत्तर देंहटाएं
  2. बढ़िया अभिव्यक्ति ..
    ( बोनस में टिप्पणी यह भी हो सकती थी )
    बधाई !

    उत्तर देंहटाएं
  3. यह चित्र तो ललचा रहा है - नजर आ रही किसी ऐ बेंच पर बैठ जाने को। बहुत ही सुकून देनेवाला।

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---