संदेश

June, 2012 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं
आसपास की कहानियाँ ||  छींटें और बौछारें ||  तकनीकी ||  विविध ||  व्यंग्य ||  हिन्दी || 2000+ तकनीकी और हास्य-व्यंग्य रचनाएँ -

महिलाओं का अल्टीमेट एप्प : क्लॉथ

चित्र
यदि आप घर में सर्वे करें या बाजारों में. एक चीज आम मिलेगी. बाजार भरे पड़े हैं स्त्रियों की पोशाकों की दूकानों से. मेले-ठेले में भी अधिकतर दुकानें साड़ी-सलवार-सूट-चुन्नी-लहंगा-चोली के ही होते हैं. साथ ही होता ये है कि कोई भद्र पुरुष अपनी धर्मपत्नी के साथ बाजार तेल लेने जाता है तो वो साथ में अनिवार्य रूप से दो जोड़ी सलवार सूट के भी ले आता है – धर्मपत्नी को कलर और फ्रैब्रिक और कीमत इतना आकर्षित करता है कि खरीदे बिना नहीं रहा जाता. और, घर की आलमारियाँ तो स्त्रियों की पोशाकों से इतनी भरी रहती हैं कि हर वर्ष प्रत्येक सुंदर-सुव्यवस्थित घर को एक अदद अतिरिक्त आलमारी की जरूरत पड़ती ही है. अब जब घर में आलमारियाँ कपड़ों और ड्रेस से भरी पड़ी हों तो समस्या और भी बढ़ जाती है. क्या पहनें और क्या न पहनें. फिर ये भी बड़ा प्रश्न सामने आ जाता है कि इसे कब पहना था और इसकी बारी अभी तक आई या नहीं. और कभी कभी कोई ड्रेस देखकर लगता है कि अरे, इसे तो अब तक पहना ही नहीं. ये तो नया का नया ही रखा है. परंतु आज भी इसे नहीं पहन सकते – मुहूर्त नहीं है या ऐसा अवसर नहीं है. स्त्रियों के लिए भारी तकलीफ की बात ये होती है…

आपके एण्ड्रॉयड फ़ोन के लिए हिंदी / मराठी में प्रेडिक्टिव टैक्स्ट इनपुट सुविधा युक्त देवनागरी टाइपिंग औजार - एडॉप्टैक्स्ट

चित्र
एडॉप्टैक्स्ट एक कृत्रिम बुद्धि युक्त टैक्स्ट इनपुट औजार है जो आपकी लेखन शैली को जैसे जैसे आप टाइप करते जाते हैं, वैसा अपनाता जाता है और अपनी मेमोरी में रखता है. इसका सामान्य सा मतलब है - आपके द्वारा बारंबार टाइप किए जाने वाले शब्दों को यह पहले ही पहचान कर आपके लिए खुद ब खुद टाइप कर देता है. यही नहीं, इसमें स्वचालित त्रुटि सुधार सुविधा भी है जो संदर्भ के मुताबिक कार्य करता है. इसमें बहुत से शब्दकोश भी हैं. इसमें आप मराठी/हिंदी समेत अन्य 50 भाषाओं में भाषाई  एड आन जोड़कर  टाइप कर सकते हैं.यह टचस्क्रीन और कीबोर्ड दोनों में ही कार्य के लिए ऑप्टीमाइज्ड है.एडॉप्टैक्स्ट को गूगल प्ले की साइट से यहाँ से डाउनलोड कर इंस्टाल करें -https://play.google.com/store/apps/details?id=com.kpt.adaptxt.betaडाउनलोड के बाद Adaptxt को सक्रिय करने के चरण: 1) जाएं सेटिंग्स > "भाषा व कुंजीपटल"
2) स्क्रॉल कर नीचे जाएं और पाएं "Adaptxt Beta", चेक बॉक्स को टिक करें और चुनें "ठीक"
3) नीचे “Adaptxt Beta सेटिंग्स” पर टैप करें
4) "ऍड-ऑन प्रबंधक" पर टैप करें और सूची में से किसी भी …

ब्लॉग अड्डा में हिंदी ब्लॉगिंग पर ऑनलाइन विचार-विमर्श

चित्र
ब्लॉगिंग को समर्पित ब्लॉग अड्डा में हिंदी ब्लॉगिंग पर त्रिदिवसीय विचार विमर्श प्रारंभ किया गया है. विचार-विमर्श शनिवार देर रात तक जीवंत चलता रहेगा. इस विचार-विमर्श में अपनी बात रखने के लिए आप भी आमंत्रित हैं.विचार-विमर्श की सामग्री बाद में भी पठन-पाठन हेतु उपलब्ध रहेगी.यदि आपके मन में कोई प्रश्न हों, कोई विचार हों या दूसरे हिंदी ब्लॉगिंग के बारे में क्या कह रहे हैं यह जानना चाहते हों तो ब्लॉग अड़्डा डिस्कशन फ़ोरम में हिंदी ब्लॉगिंग पर विचार विमर्श में यहाँ जाएँ.

यात्रा संस्मरण : मॉल की एक यात्रा

चित्र
एक जमाना था जब गरमी की छुट्टियों में लोग बाग़ पहाड़ों की ओर जाते थे. परंतु धन्य है! गर्मियाँ भले ही अब कई मामलों में उससे ज्यादा पड़ रही हो, सोनू-मोनू के सेमेस्टर के कारण छुट्टियाँ जरा भी नहीं पड़ रहीं. और ऐन-केन-प्रकारेण अगर छुट्टियाँ मिल भी गईं तो भाई रेलवे के रिजर्वेशन का क्या होगा. तो कौन भला आदमी धक्के खाकर पहाड़ों की ओर जाएगा. और यदि आप ठान लें कि पहाड़ों पर जाना ही है तो महंगी हवाई यात्रा पकड़ लें, मगर वह भी टुकड़ों में होगी और फिर इन टुकड़ों में की गई यात्रा के अपने अलग दुखड़े होंगे. इसीलिए, आज का मानव पहाड़ों के बजाए मॉल की ओर चला जाता है. तफरीह करने. जब भी जैसी भी जितनी भी छुट्टी मिलती है, वो मॉल की ओर दौड़ लेता है. सेंट्रलाइज्ड एयरकंडीशनिंग से उसे वहाँ का मौसम पहाड़ों जैसा ही ठंडा लगता है. एक दिन जरा सी छुट्टी मिली तो अपने राम ने भी सोचा कि चलिए माल की तफरीह कर लें. इधर गर्मी बड़ी पड़ रही थी तो बिजली रानी भी बारंबार बंद हो रही थी. आदमी के साथ जब समस्या आती है तो एक तरफ से नहीं आती. वो कई तरफ से एक साथ आती है. गरमी आती है तो अपने साथ बिजली की कमी भी ले आती है. घरों की बिजली…

टेक्नोलॉज़ी के दीवानों के लिए पेश है खास हिंदी में साइट - गिज्बॉट

चित्र
जुलाई 2011 से प्रारंभ हुई साइट यूं कहिए कि अभी आकार ले रही है, और यदि ये गिज्मोडो की तरह नित्य 100-50 आलेख छापने लगे तो ये मानकर चलिए कि इसे लोकप्रिय होने से कोई नहीं रोक सकता.वैसे भी यह साइट बहुभाषी है - यानी हिंदी के अलावा अन्य भारतीय भाषाओं में भी है यह.आलेख छोटे और जानकारी परक हैं. अच्छी गुणवत्ता के चित्रों सहित.यदि आप टेक्नोलॉज़ी के दीवाने हैं तो आपको यह गिज़्बॉट साइट शर्तिया पसंद आएगा. इसकी एक बड़ी खूबी यह है कि आप इसका आरएसएस फ़ीड भी है जिसे आप सब्सक्राइब कर सकते हैं.गिज्बॉट पर पिछले दिनों छपे आलेखों पर एक नजर -

विंडोज़ 8 पर पहली हिंदीमयी नज़र

चित्र
विंडोज़ 8 रिलीज प्रीव्यू आपके डाउनलोड व जांच परख के लिए अब उपलब्ध है. मैंने भी इसे हिंदी की उपलब्ध सुविधा की जांच परख के लिहाज से उतारा और अपने एक पुराने कंप्यूटर पर स्थापित किया.इसकी स्थापना को न सिर्फ सुधारा गया है, बल्कि तेज भी बनाया गया है. बमुश्किल दस-पंद्रह मिनट में यह स्थापित हो गया. परंतु इसने पुराने विंडोज 7 की स्थापना को तो पहचान लिया - यानी आप विंडोज 7 के साथ ड्यूअल बूट मोड में इसे स्थापित कर सकते हैं - मगर मेरे हार्ड-डिस्क के अन्य पार्टीशन के लिनक्स को इसने फिर से पहचानने से इंकार कर दिया.हिंदी के लिए इसका इंटरफेस पैक हालांकि अभी जारी नहीं हुआ है, मगर विश्व की अन्य तमाम महत्वपूर्ण भाषाओं की तरह हिंदी भाषाई कंप्यूटिंग का खयाल इसमें रखा गया है. हिंदी के अलावा अन्य भारतीय भाषाओं - मसलन मराठी, गुजराती, तमिल, पंजाबी इत्यादि के कुंजीपट भी यहाँ अंतर्निर्मित उपलब्ध हैं. कुंजीपट का प्रीव्यू भी वहीं उपलब्ध है.लॉगिन स्क्रीन पर ही भाषा व कुंजीपट चुनने की सुविधा मिलती है - और आप बाकायदा हिंदी भाषा व कुंजीपट चुन सकते हैं. हिंदी भाषा चुनने पर आपके कैलेंडर व अंक इत्यादि हिंदी में उपलब्ध ह…

ग़रीबी की रेखा बनाम अमीरी की रेखा

चित्र
भारतीय योजना आयोग के मुताबिक अमीरी की न्यूनतम रेखा - 35 लाख का शौचालय!अच्छा, बताइए, इतने महंगे शौचालय में यदि कभी आपको मजबूरन जाना पड़ा तो क्या आपकी निकलेगी या ऊपर की ऊपर ही अटक जाएगी?

आइए, ऑनलाइन हो जाएं...

पूरी दुनिया ऑनलाइन होने की ओर भाग रही है. बची खुची कसर मेरे मोहल्ले के धोबी और नाई ने अभी हाल ही में पूरी कर दी. कल मैं प्रेस के लिए कपड़े डालने गया तो पाया कि उस दुकान का नया नामकरण हो गया है - सबसे-सफेद-धुलाई-डॉट-कॉम. बात दुकान के नए नामकरण की होती तो फिर भी ठीक था. काउंटर पर जहाँ अपने रामू काका कपड़े देते लेते थे और जिस होशियारी से हजारों की संख्या में एक जैसे कपड़ों में से प्रत्येक ग्राहक को उसके सही कपड़े निकाल देते थे, वहाँ एक अदद कंप्यूटर कब्जा जमाया बैठा था और सामने बैठा था एक ऑपरेटर.
मैंने उस ऑपरेटर से अपने कपड़े के बारे में पूछा. तो उसने मुझे ज्ञान दिया कि अब दुकान फुल्ली ऑनलाइन हो गई है और अब आप घर बैठे अपने कंप्यूटर से अपन कपड़े की वर्तमान स्थिति के बारे में पता कर सकते हैं कि वो धुल चुकी है, इस्तरी के लिए गई है या फिर अभी धोबी-घाट में पटखनी खा रही है. तो मैंने उससे पूछा कि भइए, जरा अपने कंप्यूटर में देख कर मेरे कपड़े की वर्तमान पोजीशन बताओ जो मैंने इस्तरी के लिए पिछले दिन दिए थे. वह पलट कर बोला घंटे भर बाद आना, अभी तो सर्वर डाउन है.
मोहल्ले के नाई की स्थिति भी कोई जुदा नहीं…

मैं तो होशियार पैदा हुआ था, फ़ेसबुक ने मेरा सत्यानाश कर दिया!

चित्र
आई वॉज़ बॉर्न इंटेलिजेंट, फ़ेसबुक रूईन्ड मी! एंड दैट इज व्हाय आई एम हियर...?(पचमढ़ी के एक चाय की गुमटी का चित्र )

आपके लिए पेश है निःशुल्क तकनीकी हिंदी - अंग्रेज़ी डिक्शनरी (शब्दकोश)

चित्र
अनुनाद जी ने तकनीकी हिंदी समूह में बताया :
मैंने वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग द्वारा नेट पर उपलब्ध करायी गयी
शब्दावली का उपयोग करके 'सिम्पल डिक्शनरी अप्लिकेश' (SDA) के साथ उपयोग किये
जाने योग्य एक शब्दकोश तैयार किया है। यह आफलाइन उपयोग की दृष्टि से तैयार
किया गया है।
विशेषताएँ:
१) इसमें लगभग सभी विषयों की पारिभाषिक शब्द समाहित हैं।
२) इसमें लगभ्ग १ लाख ६६ हजार प्रविष्टियाँ हैं।
३) यह एक टेक्स्ट फाइल है जिसे 'सिम्पल डिक्शनरी अप्लिकेश' (SDA) के साथ काम
में लाया जा सकता है। किन्तु टेक्स्ट फाइल होने के कारण इसे किसी भी साधारण
टेक्स्ट एडिटर में भी खोला, देखा और परिवर्तित/परिवर्धित किया जा सकता है।
(ज्ञातव्य है कि SDA बहुत ही छोटे आकार का एक अत्यन्त उपयोगी शब्दकोश
अनुप्रयोग (डिक्शनरी अप्लिकेशन) है। )
४) गुणी लोग इसका किसी अन्य कार्यों के लिये 'कच्चे माल' की तरह भी उपयोग कर
सकते हैं।

अनुनाद जी को धन्यवाद.
मैंने उनके द्वारा अपलोड किए टैक्स्ट फ़ाइल का 'कच्चे माल की तरह' प्रयोग कर मुफ़्त उपलब्ध सरल शब्दकोश अनुप्रयोग (सिंपल डिक्शनरी एप्लीकेशन) के साथ ही डाउनलोड योग्य जिप…

केंट वाटर प्यूरीफ़ायर खरीदने से पहले जरा इसे पढ़ लें!

कोई वाटर प्यूरीफ़ायर खरीदने की सोच रहे हैं? तो सबसे पहले यह देख लें कि कंपनी की आफ़्टर सेल्स सर्विस कैसी है. आपने हेमामालिनी को यत्र तत्र सर्वत्र केंट वाटर प्यूरीफ़ायर के गुणों का बखान करते हुए उसे खरीदने की सलाह देते देखा-सुना होगा. मगर ठहरिए! हेमामालिनी की बातों में मत जाइए! पहले मेरी आप-बीती सुनिए, फिर उसके बाद कोई निर्णय लीजिए. मैं लंबे समय से यूरेका फ़ॉर्ब्स का सामान्य वाटर प्यूरीफ़ायर (क्लासिक मॉडल) प्रयोग करता रहा था. यह नगर निगम के जल प्रदाय से होने वाले पानी को साफ करने के लिए उपयुक्त है. इसमें मेंटेनेंस भी नहीं के बराबर होता है और बेहद किफायती भी है. परंतु जब हम अपने नए घर में शिफ़्ट हुए तो यहाँ ट्यूबवेल का पानी पीने के लिए आता है जो कि स्वाद में कसैला है. तब आरओ (रिवर्स ऑस्मोसिस) वाटर प्यूरीफ़ायर लगाने को सोचा गया क्योंकि यह सामान्य वाटर फ़िल्टर काम का नहीं रह गया था. आरओ फ़िल्टर पानी में घुले हुए स्वाद बिगाड़ने वाले सॉल्ट को फ़िल्टर कर उसे सुस्वादु बनाता है. मैंने कुछ विकल्पों के लिए खोजबीन शुरू की कि कौन सा मॉडल उपयुक्त खरीद और रखरखाव में किफायती होगा. और, जैसा कि आप…

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें