August 2011

आइए, थोड़ा उदास हो जाएँ...

आह! अब तो उल्टी गंगा बहानी होगी. उदास रहने के बहाने ढूंढने होंगे, जुगाड़ लगाने होंगे.   अब तक तो हम खुश रहने के हजार बहाने ढूंढते रहे थे. ज...

मेरा लोकपाल कैसा हो? बिलकुल मेरे जैसा हो!

चलिए, प्रस्ताव पास हो गया, आश्वासन मिल गया. लोकपाल की वास्तविकता अब महज चंद दिनों दूर की बात है. दिल्ली बेहद करीब है. समझिए कि हम सीमा में...

हिंदी ब्लॉगरों के लिए मुफ़्त ग्राफ़िक डिज़ाइनिंग सेवा

हाजिर है आपके हिंदी ब्लॉग के लिए मुफ़्त प्रोफ़ेशनल ग्राफ़िक डिजाइनिंग सेवा. कुछ दिन पहले श्री भरत चौधरी का ईमेल प्राप्त हुआ जिसमें उन्होंने...

असली बंगला खरीदने की औक़ात नहीं है? यहाँ चले आइए...

ये आभासी योजना तो, लगता है जैसे हम ग़रीबों के लिए ही बनाई गई है. बीस हजार स्क्वेयर फ़ीट जमीन पर लैंडस्केपिंग गार्डन के साथ स्वयं के स्वीम...

अन्ना वापस जाओ!

देश का अन्नाकरण हो रहा है और इधर आम-आदमी का हृदय धड़क रहा है. यदि भारत में सचमुच लोकपाल आ गया, यदि सचमुच भ्रष्टाचार मिट गया तो हमारे जैसे आ...

सोचती, बोलती तस्वीरें...

अपने पिछले प्रवास में खींची गई कुछ तस्वीरें. बहुत कुछ बोलती तो बहुत कुछ सोचती सी... ड्रीमहाउस   माँ   चूड़ियाँ -1 चूड़ियाँ 2   ...

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 91-100

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना ...

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 81-90

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना...

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 71-80

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना...

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 61-70

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामन...

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 51-60

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना...

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 41-50

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना...

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 31-40

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना...

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 21-30

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना...

ई-शिष्टाचार (e-Etiquette) - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 11-20

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना ...

ई-शिष्टाचार - आपके डिजिटल जीवन के लिए 101 गाइडलाइन 1-10

101 ई-शिष्टाचार एक समय था, जब आदमी जेंटलमेन (सभ्य पुरुष) होता था और स्त्री - लेडी. परंतु आज? आज हम रोज कुछ इस तरह के प्रश्नों का सामना क...

फ़ेकिंग न्यूज़ - सबसे असरदार खबरें, सबसे ईमानदार खबरें!

आह! हिंदी इंटरनेट को तो इसका जैसे बरसों से इंतजार था. फ़ेकिंग न्यूज़ - एक किस्म का द ऑनियन इन हिंदी. पर क्या ये सचमुच द ऑनियन की तरह है? ...

नईख़बर.कॉम - चोरी की सामग्री से सजी साहित्यिक दुकान?

यदि आपकी साइट की सारी की सारी सामग्री की चोरी कर कोई अन्य साइट अपनी दुकान सजा ले तो आपको कैसा लगेगा? आज मैं गूगल में कुछ सर्च कर रहा था तो ...