मंगलवार, 8 नवंबर 2011

प्रखर देवनागरी फ़ॉन्ट परिवर्तक के नए संस्करण में वर्ड के हिंदी तालिका (टेबल), एक्सेल शीट इत्यादि के पुराने हिंदी फ़ॉन्टों को तालिका सहित यूनिकोड में रूपांतरित करने की सुविधा

प्रखर देवनागरी में 250 से भी अधिक पुराने हिंदी फ़ॉन्टों को यूनिकोड में 100% शुद्धता से परिवर्तन करने की सुविधा है.

इसके नए संस्करण में तालिका युक्त सामग्री तथा एक्सेल शीट से कॉपी की गई सामग्री को भी परिवर्तित करने की सुविधा है. इस सुविधा को आप अपने डाटाबेस की फ़ाइल से तालिका युक्त आरटीएफ फ़ाइल में बदल कर भी प्रयोग कर सकते हैं. परिवर्तन में तालिका का रूप व फ़ॉर्मेट भी बरकरार रहता है.

यह स्क्रीनशॉट वर्ड से कॉपी की गई तालिका युक्त सामग्री का रूपांतरण दर्शाता है -

image

 

निम्न स्क्रीनशॉट में एक्सेल शीट से कॉपी की गई तालिका युक्त सामग्री का रूपांतरण दर्शित है:

image

 

आप देखेंगे कि परिवर्तन न सिर्फ 100% शुद्धता से हुआ है, बल्कि तालिका व फ़ॉर्मेट भी बरकरार है.

बहुत से कार्यालयों में हिंदी में बहुत सारा डेटाबेस और सामग्री तालिका रूप में ही बनाई जाती रही है और उनको फॉर्मेट बिगाड़े बगैर यूनिकोड में परिवर्तित करने का यह औजार वरदान सरीखा है.

इसका डेमो संस्करण आप यहाँ http://www.4shared.com/u/5IPlotQZ/DangiSoft_India.html  से डाउनलोड कर जाँच परख कर सकते हैं. और यदि ये आपको काम का प्रतीत होता है तो इसे बखूबी खरीद सकते हैं. कीमत है मात्र 1500 रुपए, जो इस सॉफ़्टवेयर की खूबियों को देखते हुए एकदम पैसा वसूल है. साथ ही आपको मिलता है असीमित संस्करण अपडेट की सुविधा और सॉफ़्टवेयर सपोर्ट.

अधिक जानकारी के लिए इसके डेवलपर श्री जगदीप डांगी से उनके ईमेल dangijs@gmail.com  पर संपर्क कर सकते हैं.

9 blogger-facebook:

  1. बढि़या जानकारी। परम्‍परागत हिन्‍दी फोन्‍ट्स में टेबल में हिन्‍दी टाइपिंग करने पर अक्‍सर शब्‍द बिगड़ जाते थे। इस साफटवेयर ने यह काम आसान कर दिया है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. अपनी सारी रचनायें हम समेट चुके हैं, यूनीकोड में। बहुत ही उपयोगी..

    उत्तर देंहटाएं
  3. बढ़िया…जगदीप को जी बहुत धन्यवाद इसके लिए…

    उत्तर देंहटाएं
  4. मैं भी विगत दो वर्षों से डांगी जी द्वारा विकसित विभिन्न सॉफ्टवेयरों/ टूल का प्रयोग अपने शासकीय (डी.आर.डी.ई. ग्वालियर, भारत सरकार, रक्षा मंत्रालय) और निजी कार्यों में करता रहा हूं और यह कहने में मुझे कोई संकोच नहीं कि डांगी जी के इन सरल सॉफ्टवेयरों की मदद से ही मैं अस्की/ इस्की फोंट से यूनीकोड फोंट पर स्थानांतरित हुआ हूं। व्यावसायिक अनुवादक होने के कारण यूनीकोड प्रयोग ने मेरे लिए इंटरनैट पर संभावनाओं के नए द्वार खोले। मैंने व्यक्तिगत रूप से अपने कई मित्रों को डांगी जी द्वारा विकसित इन सॉफ्टवेयरों को प्रयोग में लाने की अनुशंसा की है। हाल ही में मेरे अभिन्न मित्र सुप्रसिद्ध हास्य कवि प्रदीप चौबे जी को जब इस सॉफ्टवेयर की खूबी के बारे में बताया तो वे अत्यंत प्रसन्न हुए। उनसे भी बढ़कर निकले डांगी जी, जिन्होंने अपने तमाम सॉफ्टवेयर श्री प्रदीप चौबे जी को उपहार स्वरूप प्रदान निशुल्क किये। चौबे जी आजकल डांगी जी द्वारा विकसित एक अन्य सॉफ्टवेयर प्रलेख देवनागरी लिपिक पर धुंआधार अभ्यास कर रहे हैं और अब वे कुशलता पूर्वक यूनीकोडेड हिंदी टाइप करने लग गये हैं।

    मैं डांगी जी द्वारा विकसित तमाम सॉफ्टवेयरों के प्रयोग की अनुशंसा करता हूं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. मैं भी विगत दो वर्षों से डांगी जी द्वारा विकसित विभिन्न सॉफ्टवेयरों/ टूल का प्रयोग अपने शासकीय (डी.आर.डी.ई. ग्वालियर, भारत सरकार, रक्षा मंत्रालय) और निजी कार्यों में करता रहा हूं और यह कहने में मुझे कोई संकोच नहीं कि डांगी जी के इन सरल सॉफ्टवेयरों की मदद से ही मैं अस्की/ इस्की फोंट से यूनीकोड फोंट पर स्थानांतरित हुआ हूं। व्यावसायिक अनुवादक होने के कारण यूनीकोड प्रयोग ने मेरे लिए इंटरनैट पर संभावनाओं के नए द्वार खोले। मैंने व्यक्तिगत रूप से अपने कई मित्रों को डांगी जी द्वारा विकसित इन सॉफ्टवेयरों को प्रयोग में लाने की अनुशंसा की है। हाल ही में मेरे अभिन्न मित्र सुप्रसिद्ध हास्य कवि प्रदीप चौबे जी को जब इस सॉफ्टवेयर की खूबी के बारे में बताया तो वे अत्यंत प्रसन्न हुए। उनसे भी बढ़कर निकले डांगी जी, जिन्होंने अपने तमाम सॉफ्टवेयर श्री प्रदीप चौबे जी को उपहार स्वरूप प्रदान निशुल्क किये। चौबे जी आजकल डांगी जी द्वारा विकसित एक अन्य सॉफ्टवेयर प्रलेख देवनागरी लिपिक पर धुंआधार अभ्यास कर रहे हैं और अब वे कुशलता पूर्वक यूनीकोडेड हिंदी टाइप करने लग गये हैं।

    मैं डांगी जी द्वारा विकसित तमाम सॉफ्टवेयरों के प्रयोग की अनुशंसा करता हूं।

    उत्तर देंहटाएं
  6. आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद!
    सादर
    जगदीप दाँगी

    उत्तर देंहटाएं
  7. मैं भी दांगी जी के इन प्रयासों को सादर नमन करता हूँ…। मैं इनकी मेहनत, ज्ञान एवं लगन का प्रशंसक हूँ…

    उत्तर देंहटाएं
  8. सॉफ्टवेर बेचा जाना सबसे अच्छी बात लगी. औजार काम का है.

    उत्तर देंहटाएं
  9. dear sir i like ur software very much but its not full version.. i need to change some fonts but its not allow us to make changes.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------