शुक्रवार, 9 सितंबर 2011

हारं - एक नई हिंदी ब्लॉग संकलिनि (एग्रीगेटर) ?

image

एक चुपचाप शुरूआत हुई है. ब्लॉग संकलक की. तेजोदम लगता है. बिना किसी फ़ालतू साज संवार या फोकटिया स्टेट्स वगैरह के. पूरा प्रोफ़ेशनल प्रतीत होता है. पेज भी बढ़िया डिजाइन किया और साफ सुथरा लग रहा है. सफल होने के पूरे गुण दिख रहे हैं.

वस्तुतः यह सिर्फ हिंदी नहीं बल्कि और अन्य भारतीय भाषाओं के लिए भी है. वर्तमान में अंग्रेज़ी हिंदी के अलावा तेलुगु, तमिल, कन्नड़, गुजराती, पंजाबी और मलयालम के लिए भी ब्लॉग संकलक है यहाँ.

हारं का टैगलाइन है -

garland of Languages of India an amalgamation of the diversified traditions gracefully presented with novelty

हारं का स्वागत् करें यहाँ - http://www.haaram.com/default.aspx?ln=hi

10 blogger-facebook:

  1. मुझे इसकी जानकारी लगभग एक-डेढ़ माह पहले श्री चंदन कुमार मिश्र से मिली थी, तब से बुक मार्क बना कर इसका लाभ ले रहा हूं.

    उत्तर देंहटाएं
  2. है तो बड़ा मजेदार। दूसरों का हाल चाल और बयान भी कई बार जानने में काम आता है और यही इसका लाभ है। अच्छा ही किया है इसके संचालक ने। वे धन्यवाद के पात्र हैं और आप भी, क्योंकि इस लेख से कई लोगों को यह जानने को मिलेगा। राहुल जी ने तो पहले ही मेरे नाम में श्री लगाकर सब कह दिया।

    उत्तर देंहटाएं
  3. बुकमार्क बना लिया है। अच्छा लग रहा है, पिछले 24 घंटों में सबसे अधिक टिप्पणी किसने की यह भी पता चल रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. Thank you Ravi, for writing an article on behalf of haaram. More features will be coming soon. keep an eye.

    By the way don't miss comments sections. This makes life easy to keep track of all our comments.

    -haaram

    उत्तर देंहटाएं
  5. हमारी दुकान का वहां लतापता नहीं है!

    उत्तर देंहटाएं
  6. अच्छा प्रयास है, जानकारी के लिये धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं
  7. अच्छा है! देखते हैं अब इसको भी। बधाई इसके बनाने वालों की!

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहोत अच्छे काम कि बात बताई
    नया हिन्दी ब्लोग
    http://hindiduniyablog.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------