टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

आईआईटी और आईआईएम : कौन किसे कह रहा है स्तरहीन?

iit iim without any level

किसने कैसी है उँगली उठाई स्तरहीन

देखिए कौन किसे कह रहा स्तरहीन

 

मुश्किल से राज की ये बात पता चली

शान से जीते हैं वही जो हैं स्तरहीन

 

कोई भी आता नहीं है यहाँ इस तरह

क्यों जमाने भर की भीड़ है स्तरहीन

 

जवाब की कामना किस मुँह से करोगे

सवाल ही जब दागा गया है स्तरहीन

 

रवि का तो बड़ा नाम है ईमानदारों में

दरअसल वो है जरा सा कम स्तरहीन

एक टिप्पणी भेजें

चेला गुरू से गुरुतर हो गया
शिक्षण बद से बदत्तर हो गया :)

स्तरहीनता ही स्तरीय होने का मानक हो गयी है ......

हा हा हा हा, बोलने का अधिकार है।

कुछ तो स्तर होगा ही। उच्च न सही, निम्न ही सही। लेकिन स्तर हो ही नहीं यह बात हजम नहीं हुई।

स्तरहीन और निम्नस्तरीय में क्या अंतर है? या दोनो एक ही बात है?

अब क्या कहे अब IIT जैसे संस्थानों इस्तर ठीक नहीं है तो हमारे कॉलेज का इस्तर क्या होगा ...

बहुत अच्छा (स्तरीय) लगा इसे पढ़ना।

अब बोलने के लिये कुछ तो चाहिये ना !

वाह। वाह। सदैव की तरह लाजवाब।

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget