लीजिए पेश है अपनी तरह की पहली 'हिंदी तकनीकी अनुवाद स्टाइल गाइड'

हिंदी तकनीकी अनुवादों हेतु स्टाइल गाइड कहीं पर भी सार्वजनिक प्रयोग हेतु अब तक उपलब्ध नहीं था, जिसके अभाव में नए-पुराने सभी तरह के अनुवादकों को आमतौर पर समस्या आती रहती थी.

इस कमी को पूरा करने की एक शानदार कोशिश की है राजेश रंजन ने.

उन्होंने कंप्यूटर ट्रांसलेशन स्टाइल एंड कन्वेंशन गाइड फ़ॉर हिंदी नामक एक स्टाइल गाइड तैयार किया है जो तकनीकी - खास तौर पर आईटी-कंप्यूटर विषय के तकनीकी अनुवादों में अच्छी खासी सहायक होगी.

गाइड को वे आगे परिष्कृत भी करेंगे. इस हेतु आप चाहें तो अपने अमूल्य सुझाव उन्हें उनके ईमेल पते rajeshkajha एट yahoo.com पर प्रेषित कर सकते हैं.

गाइड को पीडीएफ ईबुक रूप में यहाँ नीचे एम्बेड विंडो में पढ़ सकते हैं अथवा डाउनलोड कर सकते हैं. चाहें तो इसे odt फार्मेट में डाउनलोड भी कर सकते हैं.

टिप्पणियाँ

  1. ये तो बहुत ही कम की गाइड है, मैं भी द्रुपल को हिन्दी में अनुवाद करने में मदद कर रहा हूँ, और साथ में ओपन मैगजीन के लिए भी हिन्दी अनुवाद की आवश्यकता पडती थी,

    यह गाइड काफी मदद करेगी, राजेश रंजन जी का शुक्रिया

    उत्तर देंहटाएं
  2. बड़ा ही सार्थक व सराहनीय प्रयास।

    उत्तर देंहटाएं
  3. शुक्रिया रविजी। इस काम काफी बढिया जगह देने के लिए।

    योगेंद्रजी का शुक्रिया...तारीफ के लिए :-)

    उत्तर देंहटाएं
  4. बेनामी5:11 pm

    नमस्ते।
    मैं रूस में हिन्दी पढ़ाती हूँ। पढ़ाने की दृष्टि से यह बढ़िया गाइड है, यहाँ रूस में ज़्यादा युवकों की IT में बड़ी दिलचस्पि है। उनके लिए यह गाइड पढ़ने से बहुत मज़ा अएगा!
    धन्यवाद!

    उत्तर देंहटाएं
  5. गाइड बहुत ही अच्छी है किन्तु यह समझ में नही आ रहा है कि यह गाइड हिन्दी में क्यों नही है। हिन्दी में यह होती तो और आनंद आ जाता। आखिर लिखी तो हिन्दी के लिए ही है ना!

    उत्तर देंहटाएं
  6. अंकुर जी,
    यह स्टाइल गाइड अन्य भारतीय भाषाओं के लिए बेस (मानक आधार)का काम करे इस लिहाज से इसे तैयार किया गया है - क्योंकि भारतीय भाषाई सिंटेक्स एक जैसे ही होते हैं, अतः अंग्रेजी में है. फिर भी, हिंदी में होता तो यह बेहतर होता यह मैं भी मानता हूं.

    उत्तर देंहटाएं
  7. अज्ञानी सर्वाधिक सुखी रहता है। इसीलिए मैं भी हूँ। लेकिन जब सयाने लोग इतने उत्‍साहित और प्रसन्‍न हैं तो मैं भी उनमें शामिल हो रहा हूँ।

    रंजनजी को साधुवाद और विनम्र आभार। उन्‍होंने हिन्‍दी की अनुपम सेवा की है।

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें