टेक्नोराती ब्लॉग सर्वे 2010 आंकड़े - क्या ब्लॉगिंग पुरूषों की बपौती है?

पिछले दिनों टेक्नोराती ब्लॉग सर्वे का आयोजन किया गया. अब तक के सर्वाधिक 7200 ब्लागरों द्वारा सर्वे में भाग लिया गया जिसमें मैंने भी भाग लिया था.

वैसे तो यह सर्वे प्रमुखतः अंग्रेज़ी ब्लॉगों के आंकड़े ही दिखाता है, मगर दुनिया के तमाम भाषाओं के ब्लॉगिंग रूख की ओर इसके आंकड़े इंगित तो करते ही हैं.

कुछ दिलचस्प आंकड़े हैं -

 

  • पिछले वर्ष 9% की तुलना में इस वर्ष 21% ब्लॉगर किसी न किसी रूप में व्यावसायिक रूप से ब्लॉगिंग करते हैं.
  • इनमें से 11% ब्लॉगरों की प्राथमिक आय ब्लॉगिंग से होती है.
  • शौकिया ब्लॉगिंग करने वाले 65% हैं जो पिछले वर्ष के मुकाबले 7% कम हैं. इसका अर्थ ये हुआ कि बहुत से शौकिया ब्लॉगर व्यावसायिक ब्लॉगिंग में उतर गए? शायद.
  • पिछले वर्ष 1% के मुकाबले इस वर्ष कारपोरेट ब्लॉगरों की संख्या में इजाफ़ा हुआ और आंकड़ा 4% तक जा पहुँचा.
  • अभी भी ब्लॉगिंग में पुरुषों का वर्चस्व है. दो तिहाई ब्लॉगर पुरूष ही हैं.
  • ब्लॉगिंग के साथ साथ सामाजिक मीडिया का प्रयोग बढ़ रहा है और फेसबुक और ट्विटर का योगदान ब्लॉगों के प्रचार प्रसार में किया जा रहा है.
  • 39% ब्लॉगर अब प्रभावी ब्लॉगिंग के लिए स्मार्टफ़ोनों व टेब्लेट्स का भी प्रयोग कर रहे हैं.
  • 70% ब्लॉगर छोटे छोटे पोस्ट लिखने में विश्वास रखते हैं और 50% ब्लॉगर पोस्टों के साथ चित्रों इत्यादि मीडिया का भी प्रयोग करते हैं.
  • 65% ब्लॉग जनता 18-44 वर्ष उम्र की है.
  • क्या आप अपने आपको प्रोफ़ेशनल ब्लॉगर मानते हैं? यदि हाँ, तो आपके पास औसतन 3 से
    अधिक ब्लॉग होने चाहिएँ.
  • शीर्ष के 100 ब्लॉग में प्रत्येक में प्रति माह औसतन 500 के आसपास पोस्ट प्रकाशित होती है. अब
    जरा आप बताएँ कि माह में आपके ब्लॉग में औसतन कितनी पोस्ट प्रकाशित होती है?
  • 65% लोगों का मानना है कि ब्लॉगिंग को चहुँओर गंभीरता से लिया जाने लगा है. वाह! ये हुई न बात!

 


(ऊपर का चित्र – साभार – टेक्नोराती ब्लॉग)

विस्तृत जानकारी नीचे दिए गए स्क्रिब्ड विंडो में देखें.

State Of The Blogosphere Presentation 2010

टिप्पणियाँ

  1. जय हो ब्लॉगरी की...
    विजय हो हिंदी ब्लॉगरी की...

    उत्तर देंहटाएं
  2. सार्थक और सराहनीय प्रस्तुती.....सामाजिक सरोकार के लिए आने वाले समय में ब्लोगिंग का सार्थक और मजबूती से प्रयोग होगा....

    आप सभी को खासकर इमानदार इंसान बनने के लिए संघर्षरत लोगों को दीपावली की हार्दिक बधाई और शुभकामनायें....

    उत्तर देंहटाएं
  3. रोचक जानकारी।

    काश इन प्रश्नों का उत्तर भी होता।

    १)भारत में कितने लोग ब्लॉग्गिंग करते हैं?
    २)कितने हिन्दी में, कितने अंग्रेज़ी में, और कितने प्रान्तीय भाषाओं में?
    ३)कितने ब्लॉग्गर नियमित रूप से ब्लॉग्गिंग करते हैं?(यानी की सप्ताह में कम से कम दो पोस्ट)
    ४)कितने लोग मैदान में उतरकर, टिक नहीं पाते और ब्लॉग्गिंग छोड देते हैं और औसतन कितने महीने या वर्ष बाद?
    ५)यदी ब्लॉग्गर सफ़ल बन जाता है और व्यावसायिक ब्लॉग्गर बन जाता है तो कितना कमा सकता है? (न्यूनतम/अधिकतम/औसत?)
    ६)एक ब्लॉग्गर कितने पाठकों की टिप्पणी का उत्तर दे सकता है या पढ सकता है? अवश्य एक सीमा होगी। यदि टिप्पणीयाँ उससे भी ज्यादा आने लगती हैं तो ब्लॉग्गर न उसे पढ पाएगा और न उत्तर दे सकेगा। celebrity bloggers का शायद यही अनुभव होता होगा। क्या करें जब किसी के ब्लॉग पर हजारों लोग टिप्प्णी करते है? ऐसे कितने ब्लॉग हैं जिनके ३०० से भी ज्यादा टिप्पणियाँ होती हैं
    ७)भारत के top ten ब्लॉग्गर्स कौन हैं। (हिन्दी में और अंग्रेज़ी में, readership/hits के अनुसार)

    उत्तर देंहटाएं
  4. अपना औसत तो प्रति माह 150 पोस्ट का ही रहा है :-(

    ब्लॉगिंग या समाज का हर वह काम पुरूषों के कब्जे में तब तक रहेगा जब तक धनोपार्जन के साथ व्यय करने की शक्ति उनके पास है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. 'असतो मा सद्गमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय, मृत्योर्मा अमृतं गमय ' यानी कि असत्य की ओर नहीं सत्‍य की ओर, अंधकार नहीं प्रकाश की ओर, मृत्यु नहीं अमृतत्व की ओर बढ़ो ।

    दीप-पर्व की आपको ढेर सारी बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं ! आपका - अशोक बजाज रायपुर

    उत्तर देंहटाएं
  6. रोचक तथ्य। ब्लॉगरी बढ़ रही है।

    उत्तर देंहटाएं
  7. ऑंकडे रोचक भी हैं और 'सोचक' भी। महिलाओं को नौकरी करने के साथ ही साथ घर के सारे काम भी करने पडते हैं। अच्‍छे-अच्‍छे प्रगतिशील भी इस मामले में पारम्‍परिक और रूढिवादी हैं। जिस दिन महिलाऍं ब्‍लागिरी में उतरेंगी उस दिन ब्‍लाग जगत की नीरसता ओर रंगविहीनता समाप्‍त हो जाएगी। महिलाओं की दुनिया हर मायने में पुरुषों की दुनिया से अधिक महत्‍वपूर्ण और अधिक अर्थवान है।

    शौकिया ब्‍लागरों की संख्‍या में कमी गम्‍भीर चिन्‍ता की बात होनी चाहिए। यह शौक ही है जो जीवन्‍तता और गतिशीलता बनाए रखता है।

    उत्तर देंहटाएं
  8. आप को सपरिवार दीपावली मंगलमय एवं शुभ हो!
    मैं आपके -शारीरिक स्वास्थ्य तथा खुशहाली की कामना करता हूँ

    उत्तर देंहटाएं
  9. बढिया जानकारी ...दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें