शनिवार, 18 सितंबर 2010

हिंदी में लिखने का एक और बढ़िया औजार – विशाल मोनपारा का प्रमुख टाइपपैड

यूँ तो गूगल ट्रांसलिट्रेशन ने यूनिकोड हिंदी लिखना बेहद आसान बना दिया है, मगर सिर्फ चंद लाइनें ही लिखनी हो तब. यदि आप लंबे लेख और उपन्यास लिखने की सोच रहे हैं वो भी कठिन और युग्म शब्दों में, तो गूगल का हिंदी लेखन औजार आपको नानी याद दिला देगा. इस लिहाज से इनस्क्रिप्ट आईएमई का कोई मुकाबला नहीं. दूसरे नंबर पर आता है आईएमई हिंदी टाइपराइटर रेमिंगटन. मगर क्या करें, जनता को आसान विकल्प – फ़ोनेटिक ही पसंद आता है.
 
इस लिहाज से हिंदी (तथा अन्य भारतीय भाषा में) लेखन के फ़ोनेटिक औजारों में विशाल मोनपारा के बनाए गए कुछ औजार बेहद काम के हैं.
 
1. प्रमुख आईएमई (डाउनलोड कड़ी) – 500 केबी का यह औजार एक एक्जीक्यूटेबल फ़ाइल में आता है, जिसे इंस्टाल करने की आवश्यकता नहीं. इसे डाउनलोड कर किसी भी डिरेक्ट्री/फोल्डर से डबल क्लिक कर चलाएँ अथवा स्टार्टअप में डाल दें. इसे चलाने पर सिस्टम ट्रे में आइकन बन जाता है जिसे क्लिक कर टॉगल कर हिंदी में लिख सकते हैं. इस टूल के जरिए फ़ोनेटिक हिंदी में (जैसे कि कमल के लिए kamala, कमला के लिए kamalaa तथा कमाल के लिए kamaala ) विंडोज के किसी भी प्रोग्राम/ब्राउजर के इनपुट विंडो में हिंदी में लिख सकते हैं. मेल / चैट विंडो में भी कमाल की हिंदी लिख सकते हैं. मेरे विचार में अब तक उपलब्ध फ़ोनेटिक आईएमई में सबसे आसान. हिंदी के कठिन शब्दों को भी आसानी से लिखा जा सकता है. बहुभाषी भी है. हिंदी टाइप करने का उदाहरण इस तरह है-
 


आप देखेंगे कि शब्दों को जोड़ने व अलग करने (ZWJ तथा ZWNJ) के लिए बढ़िया, इंटेलिजेंट तरीके से ^ व ^^ का प्रयोग किया गया है.
 
2. प्रमुख टाइप पैड फायरफाक्स एड ऑन (डाउनलोड कड़ी) – इस एड ऑन को फायरफाक्स में इंस्टाल कर आप फायरफाक्स ब्राउजर में कहीं भी – चैट पर, टिप्पणियों में, ब्लॉगों में हिंदी लिख सकते हैं. परंतु यदि आप प्रमुख आईएमई प्रयोग कर रहे हैं तो इसकी आवश्यकता नहीं है.
 
3. प्रमुख टाइपपैड (डाउनलोड कड़ी) – 400 केबी डाउनलोड का यह औजार वस्तुतः टाइनीएमसीई रिच टैक्स्ट एडीटर है जिसमें प्रमुख आईएमई प्लगइन लगा हुआ है. इसको डाउनलोड कर किसी डिरेक्ट्री/फोल्डर में अनजिप करें और टाइनीएमसीई (pramukhtypepad.htm) चलाएँ. विकल्प में देवनागरी पर क्लिक कर एडीटर में सीधे फ़ोनेटिक हिंदी में टाइप करें. आप हिंदी सामग्री के रूप रंग व फ़ॉन्ट आकार को भी यहाँ बढ़िया से सज़ा संवार सकते हैं क्योंकि यह WYSIWYG एचटीएमएल एडीटर है. इसमें लिखी सामग्री का कॉपी-पेस्ट कर प्रयोग में लिया जा सकता है. इसमें गुजराती वर्तनी जांचक भी है. उम्मीद करते हैं कि इसमें शीघ्र ही हिंदी का भी वर्तनी जांचक जुड़ेगा.
 
हिंदी टाइपपैड हग–2 औजार की तरह है और कुछ इस तरह काम करता है –


 
विशाल ने इन प्रोग्रामों को एलजीपीएल के तहत मुफ़्त में प्रयोग व वितरण हेतु जारी किया है. उनके इस शानदार कार्य के लिए धन्यवाद.

23 blogger-facebook:

  1. स्तुत्य प्रयास हिन्दी के लिये।

    उत्तर देंहटाएं
  2. जानकारी के लिए आपको व रचनाकर्म के लिए विशाल को धन्यवाद.

    उत्तर देंहटाएं
  3. .
    बढ़िया जानकारी रवि जी...आभार
    .

    उत्तर देंहटाएं
  4. रवि जी,

    आपकी दी गयी जानकारी सटीक व स्पष्ट है. मैंने अभी अभी हिंदी में ब्लॉग लिखना शुरू किया है

    चुकि मै ब्लॉग की सुन्दरता पर भी उतना ही ध्यान देता हु जिंतना की लेखन शैली पर इसलिए मुझे कई दिनों से एक बात खली जा रही है की ब्लॉग स्पाट पर हिंदी भाषा में लिखने का विकल्प तो है परन्तु हिंदी में कोई अतिरिक्त font नहीं है, जैसे की इंग्लिश में है, कृपया बताइए की मै ब्लॉग पर हिंदी के फॉण्ट डल सकता हूँ या नहीं, यदि हाँ तो मुझे इसकी विधि बताये.

    आपके उत्तर के इंतजार में ............................

    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं

  5. महत्वपूर्ण जानकारी का आलेख,
    किन्तु गुरु जी, यह ब्लॉग खुलने में 37 सेकेन्ड से अधिक ही लगे,
    K9 वेब सेक्यूरिटी ने इसके साथ जुड़े हुये लिंक http://www.vishalon.net/LinkClick.aspx?fileticket=UsZQQPB3JPo%3d&tabid=287&mid=613 को असुरक्षित बताते हुये इसे अपनी ज़ोख़िम पर खोलने की सँस्तुति दी । ज़ोख़िम तो मैंनें ले लिया, पर आपको भी सूचित करना मेरा दायित्व बन गया । आपका अनुचर - अमर

    उत्तर देंहटाएं
  6. अमर जी,
    धन्यवाद. मैंने दोबारा इस फ़ाइल को डाउनलोड कर विंडोज सेक्योरिटी एसेंशियल द्वारा स्कैन किया तो पाया कि फ़ाइल पूरी तरह सुरक्षित है.
    अब -
    कभी कभी फाल्स पॉजिटिव कोई वायरस स्कैनर बता देता है.
    कभी कभी कोई स्कैनर सही में वायरसों को पकड़ नहीं पाता है.
    अतः पाठकों को स्वयं के जोखिम पर भली प्रकार सुरक्षा जाँच कर लेने के पश्चात् इसका प्रयोग करने की सलाह दी जाती है.

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत अच्छी लगी ये जानकारी… मैं हिन्दी राइटर यूज करता हूँ… सही काम करता है और अब तो हाथ भी बखूबी चलते हैं :)

    फिर भी ट्राई करने की सोच रहा हूँ :)

    उत्तर देंहटाएं
  8. ह्म्म्म्म बढ़िया तो है लेकिन अभी हाथ गड़बड़ा जा रहे हैं :P

    उत्तर देंहटाएं
  9. सिद्धार्थ जी,
    बरहा में आपका हाथ जमा है तो वो ही बेहतर है. वैसे यह बरहा जैसा ही है, परंतु इस्तेमाल में उससे भी आसान. यह बिना इंस्टालर के आता है - इसे अपने पेन ड्राइव में रख कर कहीं भी ले जा सकते हैं और सीधे वहीं से चला भी सकते हैं. सेटअप इत्यादि या एडमिन एकाउंट इत्यादि का झंझट नहीं. फिर इसकी जटिल शब्दों की टाइपिंग के लिए बढ़िया विकल्प दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  10. क्या विशाल मोनपारा विंडोज 7 के 64 बिट पर सही काम करेगा। प्लीज बताए।

    उत्तर देंहटाएं
  11. ओह, तो आपकी समस्या 64 बिट के कारण हो रही है. मेरे विचार में यदि समस्या न हो तो तुरंत ही वापस 32 बिट पर वापस चले जाएँ. बहुत से प्रोग्राम व हार्डवेयर 64 बिट में चलते ही नहीं या फिर उनका व्यवहार असामान्य हो जाता है.

    उत्तर देंहटाएं
  12. रवि सर आपने बताया कि ये समस्या 64 बिट के कारण हो रही है। पर 64 बिट को 32 बिट में कैसे बदला जा सकता है। गूगल सर्च किया इस सवाल को तो वहाँ बताया गया कि ये बदला नही जा सकता है। इसको बदलने के लिए फिर से इंस्टाल करना होगा विंडोज 7 को। पर मेरा विंडोज 7 तो लेपटाप के साथ आया था। उसको दुबारा से कैसे इंस्टाल किया जा सकता है। और क्या मैं विंडोज एक्स पी डाल सकता हूँ। अगर हाँ तो कैसे? और हिंदी टाईपिंग़ समस्या को दूर करने के लिए मैंने बरहा और गूगल आई एम ई भी डाल कर देख लिया पर काम नही बना। वर्ड पेड पर टाईपिंग़ करने में दिक्कत आ रही है बल्कि गूगल आई एम ई से लिखने पर वर्ड पेड खुलता ही नहीं। प्राईवेसी जैसा मेसेज आता है और उसको बंद करने पर वर्ड पेड बंद ही हो जाता है। मैं बस यह चाहता हूँ कि मैं हिंदी टूल कीट से वर्ड पेड में हिंदी टाईपिंग़ कर सकूँ। वैसे गूगल डाक्ट और ब्लोग पर तो टाईपिंग़ कर पाता हूँ। जैसे आपको कमेंट के लिए कर रहा हूँ। आशा करता हूँ कोई हल जरुर बताऐगे आप।

    उत्तर देंहटाएं
  13. सुशील जी,
    मेरे विचार में आपको अपने लैपटॉप को यदि वो गारंटी पीरियड में है तो कंपनी को रिक्वेस्ट कर विंडोज 7 32 बिट इंस्टाल करवाना चाहिए. यदि गारंटी पीरियड का लफड़ा न हो तो हटा कर विंडोज एक्सपी डाल सकते हैं. वैसे आपके लैपटॉप में दो से अधिक पार्टीशन हों तो दूसरे पार्टीशन में विंडोज एक्सपी भी डाल सकते हैं. पर ये सब आपको अपने वेंडर या आसपास के कम्प्यूटर हार्डवेयर प्रोफ़ेशनल से ही करवाना होगा.

    उत्तर देंहटाएं
  14. रवि सर आज मैंने डेल dell) वालो को फोन किया था। आपकी सलाह पर कि 64 विट को 32 बिट में बदलने के लिए तो उन्होंने एक तरीका सुझाया है कि इस समस्या को सुलझाने का कि मैं window xp mode and window virtual pc को डाऊनलोड कर लूँ जिससे मैं विंडो 7 और विंडो एक्स पी दोनों मोड में काम कर सकता हूँ अर्थात जो साफ्टबेयर विंडो 7 में नही चलते है वो विंडो एक्स पी में चला सकूँ। क्या सच में ऐसा हो सकता है और वो कामयाब हो सकता है, दूसरा मेरी समस्या का समाधान उसमें हो सकेगा? क्या विंडो 7 का जो वर्ड पेड जिसमें मैं फिलहाल हिंदी में टाईपिंग़ नही कर पाता हूँ क्या तब विंडो एक्स पी के वर्ड पेड में हिंदी टाईप कर सकूँगा? क्या सच में दोनों में वर्ड पेड अलग अलग होंगे। प्लीज गाईड करें। वैसे कई बार आपसे सवाल पूछ रहा हूँ आपको दिक्कत भी हो रही होगी। पर क्या करूँ? मुझे पूरा विश्वास है कि आप ही मेरी इस समस्या का समाधान निकाल सकते है। बार बार परेशान करने के लिए माफी चाहूँग़ा।

    उत्तर देंहटाएं
  15. सुशील जी, इससे आपका काम बन तो सकता है, मगर विंडोज एक्सपी धीमा चलने की संभावना है क्योंकि वो वर्चुअल पीसी मोड में विंडोज 7 के ऊपर चलेगा. ट्राई करने में कोई हर्ज नहीं है क्योंकि ये जेनुइन सॉफ़्टवेयर आपको मुफ़्त में डाउनलोड के लिए उपलब्ध हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  16. अच्छी जानकारी।
    दोस्तों को बता दूँगा पर हम तो तीन साल से बरहा पैड और बरहा IME के आदी हो चुके हैं।
    बरहा त्यागकर इसे अपनाने में कोई विशेष फ़ायदा नजर नहीं आ रहा।

    वैसे छोटी पोस्टों और ब्लॉग पर लघु टिप्पणी करने के लिए मुझे Quillpad अच्छा लगा।
    यह तो एक intelligent editor है और टाईपिंग में त्रुटियाँ बरदाश्त करता है और अपने आप adjust कर लेता है।
    काश इसे download करके इसका प्रयोग हम offline कर सकते।
    पर Quillpad online ही काम करता है।

    शुभकामनाएं
    जी विश्वनाथ

    उत्तर देंहटाएं
  17. रविजी इस अनमोल उपहार के लिये धन्यवाद. यह बधाई सन्देश भी इसी साधन का उपयोग करके लिखा है.

    उत्तर देंहटाएं
  18. हिन्दी राइटर में कोई समस्या है? है तो अईअईया लिखने में या बुद के बाद हलन्त लगाकर धि लिखने में। लेकिन इसके अलावे तो जबरदस्त काम करता है वह। गति बहुत अच्छी है इसपर। हाँ, पोर्टेबल नहीं है…

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

---------------------------------------------------------

मनपसंद रचनाएँ खोजकर पढ़ें
गूगल प्ले स्टोर से रचनाकार ऐप्प https://play.google.com/store/apps/details?id=com.rachanakar.org इंस्टाल करें. image

--------