टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

लीजिए पेश है भारत का खास भारत के लिए, बी-पैड* मात्र 101 रु. में

bpad

जिस तरह से एप्पल आई-पैड ने तहलका मचाया उसी तरह से यह नया बी-पैड भी तहलका मचाने वाला है. आपको याद होगा कि हाल ही में 1500 रुपए मूल्य के भारतीय आईपैड जैसे गॅजेट का बड़ा हो हल्ला मचा था. सरकार उसे सबसिडी के मार्फत 500 रुपए तक में सबको टिकाने की योजना भी बना रही है. देखना ये है कि क्या वो वाकई काम का होगा, या फिर सरकारी घोषणाओं और चुनावी वायदों की तरह महज एक छलावा ही होगा.

इस बीच, हाल ही में बी-ग्रुप नाम की एक नई आभासी भारतीय कंपनी द्वारा खास ‘भारत के भारतीयों के लिए भारत में’ डिजाइन किया हुआ बी-पैड लांच किया जाने वाला है, जो न सिर्फ बेहद उन्नत कारीगरी और विश्वस्तरीय भारतस्तरीय तकनॉलाज़ी का बेहतरीन नमूना है, बल्कि टेक्नोलॉजी में उन्नयन और नायाबी का नायाब नमूना भी है.

बी-पैड में ढेरों खूबियाँ भी हैं जिनमें शामिल हैं उसकी सेल्फ एस्केलेबल आर्टिफ़िशल इंटेलिजेंट कैपेबिलिटी जो हर भारतीय मौसम और मूड के अनुकूल अपने आप को ढालने की क्षमता रखती है. वस्तुतः बी-पैड की खूबियों और उसकी विशेषताओं का संपूर्ण वर्णन नहीं किया जा सकता. एक प्रकार से इस खास गॅजेट में विशेषताएँ अनंत और अंतहीन हैं.

बी-पैड की कुछ प्रमुख विशेषताएँ हैं-

  • बी-पैड को खास भारतीय भ्रष्टाचारियों के लिए पीडीए की तरह उनकी दैनंदिनी जरूरतों को ध्यान में रख कर डिजाइन किया गया है.
  • बी-पैड भ्रष्ट निवेश के तमाम नामी-बेनामी सौदों, दस्तावेजों को पूर्ण गोपनीय तरीके से संग्रहित रखता है. बी-पैड की गोपनीयता के सामने ब्लैकबेरी और विकिलीक्स की गोपनीयता भी पानी भरे.
  • बी-पैड भ्रष्टाचार के सत्रह सौ साठ तरीके सुझाता है तथा नित्य उसमें नए आयाम भी जोड़ता है.
  • बी-पैड भ्रष्ट बने रहने और मीडिया तथा जाँच एजेंसियों से बचे रहने के खास, शर्तिया गुर बताता है.
  • बी-पैड हर असंभव स्रोतों से पैसा बनाने की तरकीबें बताता है. मसलन - रेत में से तेल निकालने, समुद्र की लहरों से नावाँ पीटने के गुर बताता है.
  • स्विस बैंक खातों से सीधे, ऑनलाइन एनीव्हेयर, एनीटाइम 12x24x7 बैंकिंग सुविधा सिर्फ और सिर्फ बी-पैड में.
  • उन्नत जीपीआरएस सिस्टम से लैस जो रीअल टाइम में बी-पैड बताता है कि उस स्थल पर किन किन योजनाओं का क्रियान्वयन हो रहा है, और कौन सी योजना बनाई जा सकती है और इनमें कैसे और किस तरीके से अधिकतम भ्रष्टाचार किया जा सकता है.
  • कैग (CAG) तथा एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट से सफलता पूर्वक बचने तथा उनसे सेटिंग भिड़ाने के शर्तिया सफल गुर बताता है बी-पैड.
  • आयकर विभाग, सेवाकर विभाग, एक्साइज इत्यादि की नजरों में धूल झोंकने व उनको झांसा देने के अंतर्निर्मित विस्तृत गाइड, टिप्स एंड ट्रिक्स तथा अपडेटेड जानकारी देता है बी-पैड.
  • बी-पैड में है हाऊ टू रीमेन लुक ईमानदार एंड बी भ्रष्ट एट द सेम टाइम – एक विशिष्ट अलग तरह की नई, सफलता प्रदान करने में श्योर शॉट, 10 बिन्दु की गाइड.
  • के फ़ैक्टर प्रीमियम ग्राहकों, प्रयोक्ताओं – कलमाड़ियों-कोड़ाओं जैसों को विशेष छूट पर बी-पैड का उन्नत, लिमिटेड एडीशन, बीटा संस्करण उपलब्ध.

अब इतनी ख़ूबियों के बाद भी आप आगे इस बी-पैड की विशेषताओं के बारे में जानना चाह रहे हैं? हद है! अब तक तो आपको इसके खरीदारों की लाइन में होना चाहिए.

तो देख क्या रहे हैं? शीघ्र संपर्क करें. बी-पैड के स्पेशल लिमिटेड एडीशन के कुछ ही नंबर बचे हैं.

---

*बी-पैड = भ्रष्ट-पैड

---

अद्यतन : कुछ जागरूक पाठकों ने सवाल उठाया है कि इतना शानदार गॅजेट इतना सस्ता कैसे? तो अंदर की खबर ये है कि रु. 101 तो मात्र नेग-दस्तूर के लिहाज से लिए जा रहे हैं. दरअसल निर्माताओं का मानना है इस गॅजेट की लागत को कंपनी प्रॉडक्ट लांच के पहले हफ़्ते में ही पूरा वसूल लेगी. चूंकि इस गॅजेट द्वारा सम्पन्न किए गए हर सौदे में से एक प्रतिशत खुद-ब-खुद कंपनी के खाते में जमा हो जाता है.

एक टिप्पणी भेजें

चिट्ठे का स्वरूप कुछ बदला साफ साफ सा लग रहा है. सही कह रहा हूँ, या वहम है?

संजय जी,
सही कह रहे हैं. बहुत देर से पता चला, पर चल गया कि पाठक रंग-रोगन नहीं, सामग्री के नाम पे आते हैं, तो फालतू का रंग-रोगन हटा दिया :)

अभी बुक करा के आते है.... पर आपने बुकिंग की साईट तो बताई नहीं?

लगता है नेता और सरकारी अफसर तो इस गेजेट पर टूट पड़ेंगे :)

हमारी औकात अभी इसे खरीदने की नहीं हुयी है । नाममात्र के भ्रष्ट हैं । बीवी से छिप कर कभी पिक्चर देख आते हैं और चाट खा आते हैं ।

मज़ेदार! लज़्ज़तदार!!

हा हा

तब तो बहुत काम की चीज़ है।

ये तो हमें सरकारी अफ़सरों को उपयोग करने के लिये अनुशंसा करते हैं। भारतवासियों के लिये बड़ी काम की चीज !!

अरे साहब,
ये aestrik लगाकर बी.पैड = भ्रष्ट पैड ऊपर लिख देते तो क्या चला जाता आपका?

मज़ा आ गया रवि साहब, बहुत खूब।

रवि जी सूचना प्रौद्योगिकी के विकास में सबका ख़याल रखा जाएगा। बहुत अच्छा व्यंग्य है।

बेनामी

क्या दिमाग चाटते रहते हो यार. 10 मिनट खराब कर दिया.

अरे वाह, कमाल है ऐसी तकनालॉजी तो ऍपल के पास भी क्या खाक होगी। कीमत भले ही कम हो लेकिन ब्लैक में खूब बिकेगा। देश में इसके खरीदारों बोले तो भष्ट्रचारियों की कमी नहीं।

जब विशेषतायें पढ़नी शुरु की फिर समझ आया इसके बारे में, आप तो मजाक भी सीरियस होकर करते हो। जय हो गुरुवर आपकी भी और इस बी-पैड बनाने वालों की भी।

vishal

ultimate likha hai aapne

बहुत बढ़िया जानकारी उम्दा ये तो बी केश हे

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget