अमंगलकारी मंगल फ़ॉन्ट

क्या आप अपने कम्प्यूटर के डिफ़ॉल्ट मंगल फ़ॉन्ट से परेशान हैं? देखें कि इसका रूप बदलने के लिए क्या कुछ किया जा सकता है-

लिनक्स गीक इसीलिए विंडोज़ को गरियाते हैं. जहाँ आप लिनक्स में सिस्टम फ़ॉन्ट को मनमर्जी का चुन सकते हैं, विंडोज पर यदि आप यूनिकोड हिन्दी में काम करना चाहते हैं तो सिस्टम के डिफ़ॉल्ट फ़ॉन्ट मंगल (जो यूआई या अन्य अनुप्रयोगों में डिफ़ॉल्ट तय होता है) को बदल ही नहीं सकते. विंडोज के यूनिकोड फ़ॉन्ट प्रदर्शक यूनिस्क्राइब में हिन्दी के लिए डिफ़ॉल्ट में मंगल फ़ॉन्ट ही तय है, और इसे बदला नहीं जा सकता! यदि आप कुछ तोड़ निकालते हैं, तो ये विंडोज़ के लाइसेंसिंग से छेड़छाड़ होगी. एमएस वर्ड जैसे अनुप्रयोगों में आप संपादन व पाठ के लिए तथा नए आधुनिक ब्राउज़रों में प्रदर्शन हेतु दूसरे अच्छे हिन्दी के यूनिकोड फ़ॉन्ट ले तो सकते हैं, पर फिर बात वही ढाक के तीन पात जैसी होगी यदि आपको नोटपैड++ जैसे अनुप्रयोगों पर काम करना होगा.

पिछले दिनों नोटपैड++ पर विंडोज़ एक्सपी पर काम करते समय नुक्ते, बिंदी इत्यादि प्रदर्शन की तमाम समस्याएँ आईं. समस्या नोटपैड++ पर नहीं थी, बल्कि मंगल फ़ॉन्ट में थी. छोटे आकार में इनका प्रदर्शन इतना खराब होता था कि समझ में ही नहीं आता था कि मात्राएं व बिन्दु कहां लग रहे हैं. अचानक खयाल आया कि विंडोज़ 7 के साथ उपलब्ध मंगल फ़ॉन्ट का रूप बहुत सुधरा हुआ है और यह बेहतर प्रदर्शन कर सकता है क्योंकि इसका आकार भी पहले वाले 202 किबा से कम, 174 किबा है, और शायद ये समस्या न आए.

मैंने तत्काल विंडोज 7 से मंगल फ़ॉन्ट कॉपी किया, विंडोज़ एक्सपी से डिफ़ॉल्ट स्थापित मंगल फ़ॉन्ट को निकाल बाहर किया और नया मंगल फ़ॉन्ट स्थापित किया.

और ये रहा नतीजा - एकदम चकाचक!!



स्क्रीनशॉट बड़े आकार में देखने के लिए उन पर चटका लगाएँ.



नोटपैड++ नए मंगल फ़ॉन्ट के साथ


ब्लॉगवाणी नए मंगल फ़ॉन्ट के साथ



बीबीसी हिन्दी नए मंगल फ़ॉन्ट के साथ

(सभी चित्र विंडोज़ एक्सपी पर)

वैसे तो माइक्रोसॉफ़्ट को नया मंगल फ़ॉन्ट विंडोज़ एक्सपी के उपयोक्ताओं को मुफ़्त में उपलब्ध करवाना चाहिए, परंतु ऐसी व्यवस्था माइक्रोसॉफ़्ट में कहां? आप चाहें तो विंडोज़ 7 का ट्रायल संस्करण संस्थापित कर वहां से मंगल फ़ॉन्ट कॉपी कर सकते हैं. इसमें समस्या हो तो आप चाहें तो इसके लिए मुझे ईमेल कर सकते हैं, मैं आपको मंगल का नया संस्करण ईमेल से भेज दूंगा ( अलबत्ता इसे आसान डाउनलोड हेतु कहीं उपलब्ध नहीं करवा सकता)

अद्यतन - 19 अगस्त 09 -- एक तुलना - नए मंगल फ़ॉन्ट और एरियल यूनिकोड फ़ॉन्ट में. स्क्रीनशॉट नीचे देखें:

टिप्पणियाँ

  1. You have given a good news. Thank you very much.

    उत्तर देंहटाएं
  2. भाई रवि जी, जानकारी के लिये धन्यवाद (हमेशा की तरह)। अभी मैंने कम्प्यूटर फ़ारमेट किया था तब उससे पहले उसमें एक फ़ॉण्ट था Arial Unicode के नाम से, बड़ा अच्छा दिखाई देता था, लेकिन अब पता नहीं कहां गायब हो गया…। फ़िलहाल मुझे मंगल में ही काम करना पड़ता है… यदि आपके पास XP में इंस्टाल होने लायक कोई और यूनिकोड फ़ॉण्ट हों तो कृपया अवश्य भिजवायें…

    उत्तर देंहटाएं
  3. Nice writing. Get Add-Hindi button widget, It will increase your blog visitors and traffic with top Hindi Social Bookmarking sites. Install button from www.findindia.net

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुरेश चिपलूणकर जी,
    एक्सपी में इंस्टाल होने योग्य हिन्दी के दर्जनो यूनिकोड फ़ॉन्ट की सूची डाउनलोड कड़ियों सहित यहाँ है -

    http://www.wazu.jp/gallery/Fonts_Devanagari.html

    उत्तर देंहटाएं
  5. इतनी अच्छी चीज बताने के लिये धन्यवाद.

    मुझे भी नया वाला मंगल इमेल कर दीजियेगा.

    anunad@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  6. ये तो आपने बहुत अच्छी जानकारी दी है । हम भी काफी दिन से इस परेशानी को झेल रहे थे ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. एक अच्छी जानकारी हेतु आभार

    उत्तर देंहटाएं
  8. रविरतलामी जी, आपसे एक मदद की अपेक्षा है।
    समस्या ये है कि पिछले कुछ दिनों से ब्लागर डैशबोर्ड में सिर्फ एचटीएमएल ही काम कर रहा है। कम्पोज मोड तथा ऊपर की पट्टी जिस में लिंक,बोल्ड,इटैलिक फान्ट इत्यादि दिखाई देते हैं,वो नहीं दिखाई दे रही। जिस कारण से कोई पोस्ट लिखने में भी असुविधा हो रही है ओर न ही पोस्ट में कोई तस्वीर जोड पा रहा हूँ।
    आशा करता हूँ कि आप इस समस्या निवारण में मेरी मदद करेंगे।
    धन्यवाद्!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. एरियल का क्‍या, उसके बारे में चर्चा नहीं की।

    उत्तर देंहटाएं
  10. वत्स जी,
    आप ब्राउज़र बदल कर देखें. समस्या ब्राउज़र सेटिंग में होनी चाहिए.

    सिद्धार्थ जी,
    एरियल यूनिकोड 20+ मेबा की सिंगल फ़ाइल है, जो सिस्टम में बहुत लोड डालता है. जब तक आपका दस्तावेज़ बहुभाषी न हो इसका प्रयोग न करें तो अच्छा.

    उत्तर देंहटाएं
  11. रवि जी,
    मैं internet explorer,firefox,apple safari nd google chrome ये चारों ब्राऊजर प्रयोग करके देख चुका हूँ,किन्तु समस्या जस की तस बनी हुई है।

    उत्तर देंहटाएं
  12. भईया वत्‍स जी की समस्‍या पिछले कुछ दिनों से क्रोम में हमारी भी थी अभी आपने कहा तो हमने मोजिला देखा सारे आप्‍शन काम कर रहे हैं. धन्‍यवाद. हमें नया मंगल फोंट मेल करने की कृपा करें.

    उत्तर देंहटाएं
  13. वत्स जी, फिर तो आपके ब्लॉगर डैशबोर्ड में एडिट विकल्प में प्लेन एचटीएमएल सेट हो गया होगा या फिर आपके कम्प्यूटर में जावा स्क्रिप्ट इत्यादि अक्षम हो गया होगा. किसी जानकार को दिखाएँ. कारण वैसे तो मामूली प्रतीत होता है, मगर विवेचना आवश्यक है.

    उत्तर देंहटाएं
  14. रवी जी लिनेक्स में काम करने का यही फायदा है। इन सब मुशलों से दूर। हिन्दी में टाइप करने में कभी भी कोई मुश्किल नहीं हुई। SCIM का हिन्दी का फोनेटिक कीबोर्ड भी विन्डोज़ पर चलने वाले फोनेटिक की बोर्ड से भिन्न है पर मेरे उससे कहीं बेहतर।

    उत्तर देंहटाएं
  15. लिनक्स गीक इसीलिए विंडोज़ को गरियाते हैं. जहाँ आप लिनक्स में सिस्टम फ़ॉन्ट को मनमर्जी का चुन सकते हैं, विंडोज पर यदि आप यूनिकोड हिन्दी में काम करना चाहते हैं तो सिस्टम के डिफ़ॉल्ट फ़ॉन्ट मंगल (जो यूआई या अन्य अनुप्रयोगों में डिफ़ॉल्ट तय होता है) को बदल ही नहीं सकते.

    खामखा ही गरियाते हैं जी। मैंने तो इंटरनेट एक्सप्लोरर, फायरफॉक्स, ऑपरा आदि में मंगल को हटा के एरियल यूनिकोड सैट कर रखा है और नोटपैड में भी वही सैट है। तो लिखना भी उसी में होता है और ब्राऊज़र में हिन्दी का पन्ना खुलता है तो उसकी हिन्दी भी इसी सुन्दर फांट में आती है, और यह तो कई साल से है ऐसा। :)

    उत्तर देंहटाएं
  16. अरे अमित जी, बात यूआई की हो रही थी, साथ ही नोटपैड++ पर काम करने की हो रही थी. इनमें मंगल को आप हटा ही नहीं सकते. बाकी जगह तो एरियल से ज्यादा सुपर कोकिला, उत्साह इत्यादि हैं, और बढ़िया चलते हैं!

    उत्तर देंहटाएं
  17. इतनी अच्छी चीज बताने के लिये धन्यवाद.

    मुझे भी नया वाला मंगल फ़ॉन्ट इमेल कर दीजियेगा.

    prasadsatya@in.com

    उत्तर देंहटाएं
  18. वत्स जी, पाबला जी ने इस पर विस्तृत समाधान पेश किया है -
    देखें -

    http://blogbukhar.blogspot.com/2009/08/html-compose.html

    उत्तर देंहटाएं
  19. रवि जी,
    पाबला जी की इस पोस्ट के लिंक हेतु आपका आभार्!

    उत्तर देंहटाएं
  20. बहुत उपयोगी जानकारी दी आपने। विंडोस में काम करना हो तो मंगल से बैर कैसे चलेगा। पर इस फोंट में एक-दो त्रुटियां हैं, जैसे ड और ढ के नीचे नुक्ता ठीक से नहीं पड़ता है। ऐसा लगता है कि नए मंगल में इस त्रुटि को ठीक कर दिया है। इससे यह फोंट काफी हद तक त्रुटि-रहित हो गई होगी।

    उत्तर देंहटाएं
  21. नया संस्करण आँखों को ज़्यादा भाता है। लेकिन एक चीज़ अखरती है, इसमें द के संयुक्ताक्षर नहीं बनते।
    जैसे "विद्या" को एक बार मंगल (नया) और एक बार दूसरे किसी देवनागरी फ़ॉन्ट में देखें।

    उत्तर देंहटाएं
  22. देर से आलेख पढ़ रहा हूँ । काम की जानकारी मिली । नये मंगल की जरूरत तो हमें भी है । कृपया हमें भी भेंज ही दें । आभार ।

    उत्तर देंहटाएं
  23. मुझे भी नया वाला मंगल इमेल कर दीजियेगा.
    vishnunayak@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  24. main hindi men likhna chaahta hun par is tippani ke liye hindi ki devnagri lipi yahan kyon nahi aa paa rahi hai. apke blog se naya hi juda hun isliye koi mitra mujhe sujhav de kya karna chahiye
    Thanks

    उत्तर देंहटाएं
  25. रवि जी,
    मैं लगभग 20 वर्षों से अलग-अलग हिन्‍दी साफ्टवेयर्स का प्रयोग करता रहा हूँ. यह मंगल फाण्‍ट की परेशानी अभी तक ठीक से हल नहीं हो पायी है.
    1. यह विण्‍डोज़ एक्‍स पी में इन्‍सटाल एम एस आफिस -2000 पैकेज में ठीक से काम नहीं करता. वर्ड में टाइप करो तो शब्‍द टूट जाते हैं और स्‍पेस मनमर्जी चला जाता है. आफिस 2003 लोड करने पर ठीक से काम कर रहा है. परंतु कठिनाई ये कि कार्यालय के सभी पी सी में 2000 वर्शन है और 2003 में तैयार पी पी टी फाइलें 2000 में नहीं पढी जाती. कोई हल बताएं.
    2. भाषा इंडिया से विभिन्‍न की-बोर्ड ले आउट इन्‍सटाल किये. पर, ए पी एस हिन्‍दी साफ्टवेयर जैसा सरल फानेटिक की-बोर्ड अभी तक देखने में नहीं आया. क्‍या कोई नवीनतम जानकारी मंगल फानेटिक पर आप देंगे.
    3. विंकी, ए पी एस हिन्‍दी साफ्टवेयर्स के डाटा को मंगल में कन्‍वर्ट करने के लिए कोई टूल है. भाषा इण्‍डिया के टूल टी बी आई एल और परिवर्तन देखे. हल नहीं मिला.
    कृपया इन सभी समस्‍याओं पर तुरंत कुछ मदद करें तो सुचारू रूप से कार्य करने में सुविधा होगी.
    होमनिधि शर्मा

    प्रधान, राजभाषा विभाग
    , भारत डायनामिक्‍स लि., रक्षा मंत्रालय, हैदराबाद.

    उत्तर देंहटाएं
  26. होमनिधि जी,
    पावरपाइंट प्रेजेन्टेशन में हिन्दी में लिखी गई सामग्री को चित्र रुप में सहेज कर उसका स्लाइड बनाएँ. यह 2000 समेत सभी पुराने संस्करणों में बढ़िया दिखेगा
    मेरे विचार में यदि आप इनस्क्रिप्ट सीख लें तो यह फ़ोनेटिक से भी ज्यादा सरल और आसान होगा.
    विंकी और एपीएस के 1-1 पेज का मैटर (वर्ड फ़ॉर्मेट में) मुझे भेजें. देखते हैं कि क्या किया जा सकता है

    उत्तर देंहटाएं
  27. मंगल असुन्दर भी है और देवनागरी को (विशेषकर दायें और नीचे से लगने वाले संयुक्ताक्षरों) को ठीक से प्रदर्शित/मुद्रित भी नहीं करता। मुझे तो संस्कृत २००३ सबसे सुन्दर और सही प्रदर्शन वाला देवनागरी फॉण्ट लगा। यह मंगल ही नहीं एरियल यूनिकोड ऍमऍस से भी सुन्दर है। मैंने अपने ब्राउजर में देवनागरी के लिये इसी को डिफॉल्ट सैट कर रखा है।

    उत्तर देंहटाएं
  28. please send me mangal or lohit font please i need it

    उत्तर देंहटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

विशाल लाइब्रेरी में से पढ़ें >

अधिक दिखाएं

---------------

छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें.

इंटरनेट पर हिंदी साहित्य का खजाना:

इंटरनेट की पहली यूनिकोडित हिंदी की सर्वाधिक प्रसारित व लोकप्रिय ईपत्रिका में पढ़ें 10,000 से भी अधिक साहित्यिक रचनाएँ

हिन्दी कम्प्यूटिंग के लिए काम की ढेरों कड़ियाँ - यहाँ क्लिक करें!

.  Subscribe in a reader

इस ब्लॉग की नई पोस्टें अपने ईमेल में प्राप्त करने हेतु अपना ईमेल पता नीचे भरें:

FeedBurner द्वारा प्रेषित

ऑनलाइन हिन्दी वर्ग पहेली खेलें

***

Google+ Followers

फ़ेसबुक में पसंद करें