गुरुवार, 22 मई 2008

चिट्ठापठन आंकड़ों के खेल -2




चिट्ठा पठन-पाठन के पिछले विश्लेषण में मैथिली गुप्त की टिप्पणी के जरिए ब्लॉगवाणी का एक छोटा सा प्रायोगिक हथियार मिल गया. आप भी आंकड़ों का ये खेल स्वयं खेल सकते हैं. आप देख सकते हैं कि किसी चिट्ठे को ब्लॉगवाणी ने अब तक कितने पाठक भेजे. आप औसत निकाल सकते हैं कि आपके अब तक के लिखे गए चिट्ठों पर औसतन प्रति चिट्ठा कितने पाठक ब्लॉगवाणी के जरिए आए.

इसके लिए ब्लॉगवाणी में जाकर उस विशिष्ट चिट्ठे का ब्लॉगवाणी आईडी प्राप्त करना होगा. यह उस चिट्ठे के लिंक पर माउस रखने पर ब्राउजर के स्थिति पट्टी पर प्रकट होगा. आप चाहें तो यह कड़ी नोटपैड पर नकल कर चिपका कर भी पढ़ सकते हैं. अब उस आईडी को इस लिंक http://blogvani.com/Bloggerdetail.aspx?BlogID= के = चिह्न के बाद भरें और ब्राउजर में खोलें. उदाहरण के लिए हिन्द युग्म की आईडी है 388. तो http://blogvani.com/Bloggerdetail.aspx?BlogID=388 कड़ी को खोलने पर आपको उस चिट्ठे का अब तक का ब्लॉगवाणी के द्वारा भेजे गए पाठक की जानकारी मिलेगी.


इस तरह की सुविधा संभवतः चिट्ठाजगत् में भी होनी चाहिए, परंतु वह आमजन के पहुँच में है, इसका मुझे ज्ञान नहीं है.


मैंने कुछ ऐसे चिट्ठों के औसत जानने की कोशिश की जिन्हें आमतौर पर ब्लॉगवाणी के जरिए ज्यादा पढ़े जाते हैं.

चिट्ठा - औसत हिट्स
फुरसतिया – 89

ज्ञानदत्त पाण्डेय की मानसिक हलचल – 84

मोहल्ला - 79

भड़ास – 77

प्रत्यक्षा – 70

उड़न तश्तरी – 94


जाहिर है, उड़न तश्तरी 100 का जादुई आंकड़ा पार करने के बहुत करीब है. (मेरी खोजबीन में मुझे 100 या उससे अधिक औसत के चिट्ठे नहीं मिले, आपको मिले हों तो कृपया भूल सुधार करें) चूंकि ये आंकड़े सिर्फ ब्लॉगवाणी के जरिए आए पाठकों के हैं, और पाठक विविध तरीकों से चिट्ठों पर पहुंचते हैं, अतः इन आंकड़ों को सिर्फ संकेत स्वरूप माना जाना चाहिए.

11 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. किसी भी ब्लाग के आंकड़े प्राप्त करने के लिये उस ब्लाग के फोटो को किलकाने भर से उस ब्लाग के आंकड़े मिल जाते हैं. जैसे आपके फोटो को किलकाने पर आपके ब्लाग के आंकड़े मिल जायेंगे.

    आपके इस लेख से हमें अपनी कमी का पता चला. हम ब्लागवाणी की उपलब्ध सुविधा को लोगों तक पहुंचा नहीं पा रहे हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  2. रवि जी, आप द्वारा दी गई जानकारी बढि़या है। बलागवाणी की स्क्रीन पर आपकी पोस्ट के पास ही ही पड़े मेरे प्रश्नो का उत्तर देने का कष्ट करें।

    उत्तर देंहटाएं
  3. मैथिली जी, चिट्ठे के चित्र को क्लिक करने से आंकड़ों की ब्लॉगवाणी में उपलब्ध थी, इसका मुझे कतई भान नहीं था. कहीं पर इसकी सूचना भी नहीं थी. शायद आपका कहना सही है कि ब्लॉगवाणी में और भी सुविधाएं होंगी, जो मुझ जैसे प्रयोक्ताओं तक नहीं पहुंच पा रही होंगी. उम्मीद है कि इन कमियों को शीघ्र दूर किया जा सकेगा.

    उत्तर देंहटाएं
  4. अगर उक्त हिट्स प्रति पोस्ट हैं, तो ब्लॉगवाणी निश्चय ही मेरी बहुत मदद कर रहा है।
    मैथिली जी को बहुत धन्यवाद! अगर वे मेरे आंकड़े पीरियॉडिकल ई-मेल कर सकें तो हम उनका गण्डा-बन्द शिष्यत्व लेने तो प्रेरित होंगे!

    उत्तर देंहटाएं
  5. जी हां रवि जी.. मैं तो कई महीनों से इस सुविधा का लाभ उठा रहा हूं.. आज बहुत दिनों के बाद मैंने अपना औसत पाठक देखा तो पाया की हम भी पचास मार चुके हैं.. :) लगभग 2 महीने पहले ये आंकड़ा 40 के आस पास था.. अभी 62 पर है..

    उत्तर देंहटाएं
  6. उक्त औसत के आंकड़े अगर प्रति पोस्ट औसत हैं तो ब्लॉगवाणी हमारी महती सहायता कर रहा है। और मैथिली जी को बहुत धन्यवाद।
    अगर इन आंकड़ों का पीरियांडिकल ई-मेल दे सकें मैथिली जी तो आनन्द आ जाये!

    उत्तर देंहटाएं
  7. रोचक. हमने भी अपने आंकडे ढूंढे. पर केवल तीन पोस्ट्स के आंकडे तो भ्रामक ही होंगे. कम से कम पचास पोस्ट्स के बाद ही इस चक्कर में पड़ना चाहिए.

    औसत ११३ हिट्स प्रति पोस्ट.

    उत्तर देंहटाएं
  8. बेनामी1:34 pm

    बहुत शोध युक्त जानकारी। धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं
  9. इस ज्ञान का उपयोग यह अज्ञानी भी कभी तो कर ही लेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  10. ये सब देखकर बड़ा अच्छा सा लग रहा है. :)

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---