अगर बीमार नहीं पड़ना है तो... मानसिक हलचल की जुगलबंदी कीजिए.

ज्ञानदत्त पाण्डेय ने बड़ी मेहनत से कोई पाँच घंटे में यह गर्दभ-ऊंट स्लाइड शो बनाया है. बहुत ही शानदार. उद्धरण योग्य. परंतु इसमें एक झमेला है. आप पहले डाउनलोड करें, फिर उसे चलाकर देखें. तो हममें से बहुत से अलालों को (मैं इसे छोड़कर जाने वाला ही था, परंतु जाने क्या सोचकर क्लिक कर डाउनलोड कर ही लिया) ये झंझटिया काम लगता है. वैसे भी आजकल यू-ट्यूब के जमाने में पावरपाइंट प्रेजेन्टेशन किसी सेमीनार के अलावा अपने कम्प्यूटर पर कौन देखता होगा भला?

तो मैंने इसे फ्री पावरपाइंट-वीडियो कनवर्टर प्रोग्राम से वीडियो में परिवर्तित कर दिया, और एक छोटी सी तबले की जुगलबंदी का ऑडियो भी वीडियो में डाल दिया ताकि प्रस्तुतिकरण थोड़ा और मनोरंजक लगे.

तो, अब इस शानदार प्रस्तुति को अपने मित्रों को पावरपाइंट संलग्नक के रूप में नहीं, बल्कि फंकी यू-ट्यूब कड़ी के रूप में भेजें. बदले में उनका आभार (मन ही मन दी गई गाली नहीं,) आपको मिलने की पूरी गारंटी, नहीं तो इस पोस्ट को पढ़कर बरबाद हुआ आपका समय आपको वापस लौटाने की भी पूरी गारंटी :)







विषय:

एक टिप्पणी भेजें

मस्त और सशक्त! कहें तो सही माने में ब्लॉगिंग! नम्बर 100/100!

ज्ञानजी नम्बर बाँटने पर तुले है. :)


वीडियो मस्त है,
हाँ, पढ़ने में पावर पॉइंट वाला स्पष्ट था.

और झंझट रहित बनाने के लिए साधूवाद

हम आपसे सहमत नहीं इस बारे में. यू-ट्यूब च्युंगम टाइप की चीजों के लिए बेहतर है, चबाइए और थूक दीजिये. पर फुल स्क्रीन पर इस ज्ञानवर्धक आलेख का कोई आल्टरनेटिव नहीं है. 95 प्रतिशत लोगों के कंप्यूटर पर पावर पॉइंट स्लाइड शो चलाने में सक्षम कोई न कोई सॉफ्टवेयर अवश्य होगा. सहेज कर रखिये और मित्रों को भी फारवर्ड कीजिये.

आँख बंद किये तबला ही सुनते रह गये. :)

काम अच्छा किये हैं, सो बधाई.

ज्ञान जी अगर गाने लगें तो आपको तबला वादक बनाना पक्का!! :)

फुल स्क्रीन के लिए इधर देखें:
http://show.zoho.com/public/jitu9968/ArtofIllnessRemoval-pps

संगीत हम नही डाले, क्योंकि तबला बजाने की कोशिश की थी, टूट गया।

फुलस्क्रीन का लिंक : http://show.zoho.com/ViewURL.sas?USER=jitu9968&DOC=ArtofIllnessRemoval-pps&SLIDE=1

रवि भाई, पिछली टिप्पणी मे हाइपर लिंक ठीक कर लें और ये वाली कमेन्ट हटा दें।

तकनीकी जुगाड़ मे तो एक नंबर के हैं पर मै अपने आप को घोस्ट बस्टर जी के नज़दीक खड़ा पाता हूं!

हम सुबह पावर पाइंट देखते समय सोच ही रहे थे कि यह अपने आप नहीं चल सकता है क्या। आप ने कर दिखाया, और तबला फ्री में। ये जुगाड़ हम कैसे सीख पाएंगे? जितना सीख गए हैं उतना ही भारी है।

अपने पल्ले तो कुछ नहीं पड़ा, पॉवर पोंइट और तबला अच्छा लगा, इसे और सरल कर के बताइए न सब थोड़े बुद्धीमान हैं, कुछ हम जैसे भी हैं।

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

[blogger][facebook]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget