टेढ़ी दुनिया पर रवि रतलामी की तिर्यक, तकनीकी रेखाएँ...

दोस्त, आपका हिंदी प्रेम जाइज है लेकिन...

अचानक ही धड़ाधड़ गोस्टैट हिन्दी के बारे में (स्पैम?) कमेंट मिलने लगे और साथ ही ई-मेल से सूचना भी कि गो-स्टैट साइट के जरिए आप अपने ब्लॉग के स्टेटिस्टिक्स हिन्दी में भी प्राप्त कर सकते हैं...

सचमुच हिन्दी अब इंटरनेट की स्थापित भाषा बन गई है और अब इसमें चहुँओर व्यावसायिकता की घोर संभावनाएँ दिखाई देने लगी हैं. हो सकता है, भविष्य में कुछ ऐसे नए नायाब वेब अनुप्रयोग इस्तेमाल करने को मिलें जो पहले पहल हिन्दी में ही जारी किए जाएंगे और फिर वे भले ही बाद में अंग्रेजी में पोर्ट हों.

 

हिन्दी में स्टेटकाउंटर के नाम पर मैं किलकता और खुश होता हुआ गोस्टैट हिन्दी पर पहुँचा तो मेरी खुशी वहाँ काफूर हो गई.

आप पूछेंगे क्यों?

 

hindi-go-stats

(हिन्दी का गोस्टैट)

eng-go-stats

(अंग्रेजी का गोस्टैट)

(चित्रों को बड़े आकार में देखने के लिए उस पर क्लिक करें)

 

तमाम साइट हिन्दी के गलत-सलत अनुवादों और वर्तनी की गलतियों से अटा पड़ा है.

भाई साहब, मित्र, आपका हिन्दी प्रेम जाइज है, लेकिन जरा हिन्दी ठीक-ठाक तो रखें. गोस्टैट साइट कोई व्यक्तिगत ब्लॉग साइट नहीं है, बल्कि एक व्यावसायिक संगठन है जिसका कुछ तो उत्तरदायित्व है.

 

आपसे अनुरोध है कि किसी अच्छे अनुवादक को तत्काल हायर करिए अन्यथा अपना यह हिन्दी पृष्ठ तत्काल बन्द कर दें. मुझे नहीं लगता कि गलत, त्रुटिपूर्ण हिन्दी को देखकर कोई बन्दा यहाँ रजिस्टर करेगा भी!

विषय:

एक टिप्पणी भेजें

अपन तो बच गए. वैसे यह तो बताएं कि क्‍या कोई और अच्‍छी साइट नहीं है ऐसी? या सबसे बढिया स्‍टैट के लिए कौन सा विकल्‍प है? बताना चाहें तो चिट्ठाकार पर बता दीजिएगा दूसरों का भी भला होगा.

इस गो-स्टैट तो हम इसकी सड़ल्ली हिन्दी के कारण बचे।

आपकी बात जायज है। एक व्यावसायिक संगठन में इस तरह की गलतियां अछम्य मानी जाती हैं।

सही कहा। अशुद्धियों को देख कर जितनी कोफ्त होती है उससे ज्यादा शर्मिन्दगी का अहसास होता है।

खराब हिन्दी से कष्ट होता है. मेरी अपनी बात करूँ तो गलत हिन्दी के भय से कई बार अनुवाद का काम छोड़ चुका हूँ, दुख होता है और भय भी लगता है, मगर सिख रहा हूँ.

व्यवसायिक साइट पर ऐसी हिन्दी अक्षम्य है.

हिन्दी प्रेम जाइज / हिन्दी प्रेम जायज़...??

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

अन्य रचनाएँ

[random][simplepost]

व्यंग्य

[व्यंग्य][random][column1]

विविध

[विविध][random][column1]

हिन्दी

[हिन्दी][random][column1]
[blogger][facebook]

तकनीकी

[तकनीकी][random][column1]

आपकी रूचि की और रचनाएँ -

[random][column1]

MKRdezign

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget