शनिवार, 22 सितंबर 2007

एक और मुफ़्त ऑफ़िस औज़ार: आईबीएम लोटस सिंफनी

हाल ही में विश्व की नामी सॉफ़्टवेयर-हार्डवेयर कंपनी आईबीएम ने अपने एक नए नवेले ऑफ़िस सूट का बीटा संस्करण आम जनता के मुफ़्त इस्तेमाल हेतु जारी किया. आईबीएम लोटस सिंफनी नाम का यह ऑफिस सूट एक नजर में एक और मुफ़्त उपलब्ध और लोकप्रिय ऑफिस सूट - ओपन ऑफ़िस का प्रतिद्वंद्वी जान पड़ता है. सिंफनी में वर्ड, प्रजेंटेशन और स्प्रेडशीट प्रोग्रामों को एकीकृत किया गया है. स्टार ऑफ़िस को गूगल ने मुफ़्त इस्तेमाल के लिए हाल ही में जारी किया है. लगता है दुनिया मुफ़्त के लंच और मुफ़्त के बीयर की ओर तीव्र-गति से अग्रसर हो रही है.

आईबीएम लोटस सिंफनी को आप मुफ़्त डाउनलोड कर संस्थापित कर सकते हैं. परंतु इसकी डाउनलोड प्रक्रिया बहुत ही लंबी और उबाऊ है. डाउनलोड के लिए आपको इसके साइट पर पंजीकृत होना पड़ता है, जो दो-चरणों में होती है, और वो भी अनर्थक और उबाऊ होती है. आईबीएम की साइट पर दो बार पंजीकृत करने की मेरी कोशिश अधूरी रहने पर मैंने विकल्प की तलाश की.

आईबीएम के साइट पर लोटस सिंफनी की डाउनलोड कड़ी ढूंढने पर परिणाम शून्य नजर आया.

ibm lotus symphony

लिहाजा डायरेक्ट डाउनलोड कड़ी के लिए मैंने गूगल की शरण ली. और मुझे सॉफ़्टपीडिया की कड़ी सहित कुछ और कड़ियाँ तो मिली हीं, बग मी नॉट जैसी सेवा का भी पता चला जो कि बायपास कम्पलसरी रजिस्ट्रेशन के दर्शन पर काम करता है. बग मी नॉट को आप स्वयं के रिस्क पर आजमाएँ. आईबीएम लोटस सिंफनी बीटा विंडोज की डायरेक्ट डाउनलोड कड़ी यह रही. लिनक्स तंत्र के लिए आईबीएम लोटस सिंफनी की डाउनलोड कड़ी के लिए थोड़ी सी खोज बीन करनी होगी.

मुझे इसका टैब्ड इंटरफ़ेस अच्छा लगा. आप कितने ही फ़ाइलों को एक साथ खोल कर रख सकते हैं तथा अलग अलग टैब में वर्ड, प्रजेन्टेशन और स्प्रेडशीट फ़ाइलों को भी खोल कर रख सकते हैं. इसका इंटरफ़ेस कुछ नया सा, बहु-स्तरीय है जिसे अपनाने में आपको कुछ समय लग सकता है.

आईबीएम लोटस सिंफनी के प्रेफ़रेंसेज़ संवाद से आप इसके आचार-व्यवहार को कई तरीके से बदल सकते हैं. मैंने शीघ्र ही इसकी हिन्दी सक्षमता के लिए कुछ जांच परख की.

प्रेफरेन्सेज़ संवाद में एशियाई तथा इंडिक कॉम्प्लेक्स टैक्स्ट लेआउट को सक्षम करने का विकल्प दिया गया है (बाइ डिफ़ॉल्ट यह सक्षम नहीं है). इसे सक्षम करने के उपरांत भी आईबीएम लोटस सिंफनी में हिन्दी इस्तेमाल में समस्याएँ आती रहीं.

वर्ड फ़ाइलों को खोलने पर इसमें रेंडरिंग (हिन्दी पाठ को सही रूप में दिखाना) की समस्याएँ आती रहीं. प्रेजेन्टेशन में एक छोटा सा हिन्दी प्रस्तुतिकरण बनाया गया तो प्रदर्शन के दौरान हिन्दी पाठ कुरूप हो गया.

 

lotus symphony6

(वर्ड फ़ाइल में हिन्दी फ़ॉन्ट प्रदर्शन सही नहीं है)

 

lotus symphony presentation

(प्रजेन्टेशन प्रोग्राम में हिन्दी कुछ इस तरह कट-फट जाती है)

 

वैसे, स्प्रेडशीट में हिन्दी का बढ़िया समर्थन दिखाई दिया. एक छोटे से डाटा को भर कर हिन्दी में सॉर्ट किया गया तो इसने बढ़िया परिणाम दिखाए.

lotus symphony spreadsheet

(स्प्रेडशीट में बिना छांटा डाटा, जिसे बढ़िया, अनुक्रम में छांटा गया)

प्रारंभ होने में आईबीएम लोटस सिंफनी अच्छा खासा समय लेता है, और कहीं कहीं यह धीमा चलता प्रतीत होता है. एमएसवर्ड से कोई डेढ़ गुना ज्यादा मेमोरी का इस्तेमाल आईबीएम लोटस सिंफनी करता पाया गया.

इसके हिन्दी फ़ॉन्ट प्रदर्शन की समस्या को दूर कर दिया जाए, व इसमें हिन्दी का कोई वर्तनी जांचक जोड़ दिया जाए, तब तो यह हमारे लिए एक बढ़िया विकल्प रहेगा, अन्यथा हाल-फिल-हाल यह हमारे किसी काम का नहीं.

 

लोटस सिंफनी बीटा की डायरेक्ट डाउनलोड कड़ी

---------------.

7 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. अगर हिन्दी ठीक से नहीं दिखा सकता तो अपने किस काम का?

    सिर्फ एक ही बात काम की लगी, Tabs वाली।

    उत्तर देंहटाएं
  2. वही बात कि जब इसमे हिन्दी सक्षम नही है तो फ़िर किस काम का!

    शुक्रिया जानकारी देने के लिए!

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छा किया आपने गुण दोष बता दिये. नहीं तो लपक कर डाउन लोड कर लेते हैं और फिर सिर धुनते हैं!

    उत्तर देंहटाएं
  4. संजय बेंगाणी8:04 pm

    अच्छा काम का विश्लेषण. थैंक्यू जी.

    उत्तर देंहटाएं
  5. टैब सिस्टम बहुत ही काम की चीज है. अन्य आफ़िस पैकेजों जैसे कि एम एस आफ़िस मे भी ये सुविधा होनी चाहिये.

    बहुत ही उपयोगी जानकारी. धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  6. विश्लेषण से फायदा ही मिलेगा कि लगाना है कि नहीं. आभार. :)

    उत्तर देंहटाएं
  7. गुरुजी प्रणाम , गज़ब कि रिसर्च और अनाल्य्सिस है आपकी ,काफी टाईम सेविंग जानकारी दी है आपने ..गुरुजी एक बात और कभी कभी शिष्यों के ब्लोग पे आकर अपने विचार दे दिया करिएँ ,कि हम क्या सही और क्या गलत लिख रहे है ,अभी हम बच्चे है ,कुछ हमारा भी मार्ग दर्शन कर दिया कीजिये ,आप लोगो(आप ,समीर जी ,पंकज जी ,अनूप जी ,पाण्डेय जी आदि) से ही प्रेरणा मिली लिखने कि ..और आप लोगो से ही शिक्षा ले रह हूँ ...एकलव्य कि तरह " ....अच्छा गुरदेव अब चलते है ....प्रणाम

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---