शनिवार, 14 अप्रैल 2007

अब आप हिन्दी में ब्लॉग कर सकते हैं!


तो क्या हम पिछले चार साल से तो भाड़ भूंज रहे थे?

गूगल ने अपने आधिकारिक ब्लॉग में लिखा है कि अब आप हिन्दी में ब्लॉग कर सकते हैं. शीर्षक और साथ में दिए लेख से तो लगता है कि अब तक हिन्दी में ब्लॉग ही संभव नहीं था. दरअसल ब्लॉगर में हिन्दी ट्रांसलिट्रेशन औजार जोड़ने वाली बात को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बताने के लिए इस लेख को लिखा गया और उत्साहजन्य अतिरेक में तो अति हो गई.

अप्रैल 2004 में हिन्दी चिट्ठाजगत् की पहली पोस्टिंग नौ दो ग्यारह में आलोक द्वारा की गई और जून 2004 से मैंने हिन्दी में ब्लॉग लिखना शुरू किया. और ये सभी ब्लॉगर ब्लॉग में ही खोले गए थे!

गूगल जो तमाम दुनिया से सामग्री ढूंढ ढांढ कर लाता है - वहाँ ऐसी अज्ञानता युक्त अर्ध-सत्य बातें - भाई ये बात कुछ हज़म नहीं हुई!

Tag ,,,

12 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. संजय बेंगाणी7:53 pm

    कमाल है, हम किसकी राह देख रहे है?
    चलो हिन्दी में ब्लोग शुरू करें...जय बाबा गुगलदेव की.

    उत्तर देंहटाएं
  2. googal ko ye bataya ja sakta hai kya

    उत्तर देंहटाएं
  3. Ek Mahashaya ko ravi Ji ne bataya..unhone ne inki hi do posts copy karke apne blog pe Chhp deen.

    :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. ऐसी चिरकुटई पर इन महानुभवों, संस्‍थाओं तक आप लोग अपनी गतिविधियों की चर्चा करके इनकी गलती सुधरवा क्‍यों नहीं करते.. ?

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. ओह अंतर्राष्‍ट्रीय अटैन्‍शन के लिए- हूँ ... अब कल गूगल लिखेगा हिंदी भारत नाम एक देश की भाषा है। जो एशिया में स्थित है और तब हमें यह पता चलेगा, जैसे कोलम्‍बस ने खोजा था अमेरिका।

    उत्तर देंहटाएं
  7. यह अच्छा बता गये. हमें तो पता ही नहीं था!!! :)

    उत्तर देंहटाएं
  8. (durbhagyawash mujhe abhi comments hindi fonts mein likhna nahin aataa)
    Aap sahi kah rahe hain ... kafi samay se log hindi mein blog kar rahe hain, google ne ek transliteration suvidha ko badha-chadha kar pesh kiya hai.
    Lekin jo fonts yahan dono hi tarah se upyog ho rahe hain, unke bare mein aapka kya vichar hai?
    Mere kuch vichar is vishay par -
    Aap sahi kah rahe hain

    उत्तर देंहटाएं
  9. अरे वाह, चलो सब लोग अपना-अपना हिन्दी ब्लॉग शुरु करें। जय गूगल बाबा की! :)

    उत्तर देंहटाएं
  10. दरअसल उनकी पोस्ट का टाइटल होना चाहिए था: Now you can blog in Hindi easily आदि।

    आपकी पोस्ट पढ़कर आदत के मुताबिक गूगल के ब्लॉग पर टिपियाने की इच्छा हुई तो पता चला कि उधर कमेंट्स सुविधा नहीं है।

    खैर इससे इन्कार नहीं किया जा सकता कि इस टूल के आने से कई लोगों को हिन्दी ब्लॉगिंग के बारे में पता चलेगा और वो उससे जुड़ेंगे।

    इस बात का सबूत है गूगल के ब्लॉग की उपरोक्त पोस्ट से जुड़े बैकलिंक जिसमें बहुत सी जनता को इसी पोस्ट से पता चला कि हिन्दी में भी ब्लॉगिंग हो सकती है। यह देखकर मुझे ज्ञान बांटने की खुजली हुई तो देखा कि आप और मिश्र जी पहले ही जाकर कुछ जगह बांट आए हैं। खैर मैं भी सबको जाकर काम के लिंक दे आता हूँ, बाकी दो चार भी आ गए तो मेहनत सफल समझूंगा।

    उत्तर देंहटाएं
  11. muntezir ki baate7:01 pm

    tippeniyon main shamil hone ko ek or dimag ka kida bilbila raha hai
    muntezir hazir hogi ab apni kubulahat ke saath
    google ki nadiya bahati rahe or sabhi abhilashi gote lagate rahe
    shubhkamnaon ke saath 'seema muntezir'

    उत्तर देंहटाएं
  12. hindi men blog kar skte hain. jaan kar khooshi huee.mere coumputer ki screen par HINDI KI GRAMMER KHAASKAR MAATRAON KI KAFHI GALTI NAZAR AATI HAIN KYUN?

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---