मंगलवार, 27 फ़रवरी 2007

हिन्दी में व्यावसायिक चिट्ठाकारिता - अमित अग्रवाल की नज़र से

प्रतिष्ठित, व्यावसायिक रूप से अत्यंत सफल, अंग्रेज़ी चिट्ठाकार अमित अग्रवाल ने हिन्दी चिट्ठों में भी व्यावसायिक संभावनाएँ देखी हैं.

उन्होंने अपने चिट्ठा-पोस्ट में हिन्दी भाषा के चिट्ठाकारों के लिए कुछ व्यावसायिक संभावनाओं तो तो तलाशा ही है, कुछ गुर भी बताए हैं.

धन्यवाद अमित. आपके दिशानिर्देशों का हमेशा स्वागत है!

Tag ,,,

Add to your del.icio.usdel.icio.us Digg this storyDigg this

2 टिप्पणियाँ./ अपनी प्रतिक्रिया लिखें:

  1. मैंने अमित अग्रवाल जी से अनुरोध किया था कि वे इस बारे में कुछ लिखें। फिर मुझे लगा कि शायद मेरी ईमेल स्पैम वगैरा में चली गई या इग्नोर कर दी गई। लेकिन उन्होंने इस बारे में लिखने का समय निकाला। उनका धन्यवाद तथा इस बारे में सूचना देने के लिए आपका भी धन्यवाद !

    उत्तर देंहटाएं
  2. रवि भाई

    अमित जी को पढ़ना हमेशा की तरह खास ही होता है और इस बार और ज्यादा क्योंकि हिन्दी ब्लागिंग पर कुछ बोले.

    इस ब्लाग पर भी नज़र डालें- हमारा जिक्र भी अंग्रजी माध्यम से उन लोगों के बीच जा रहा है. मुझे लगता है, इस तरह से भी कुछ विस्तार होगा.

    http://onepowerfulword.blogspot.com/2007/02/list-blogging-glam-lies-and-no-life.html

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणियों के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद.
कृपया ध्यान दें - स्पैम (वायरस, ट्रोजन व रद्दी साइटों इत्यादि की कड़ियों युक्त)टिप्पणियों की समस्या के कारण टिप्पणियों का मॉडरेशन लागू है. अतः आपकी टिप्पणियों को यहां पर प्रकट होने में कुछ समय लग सकता है.

----

----

नया! छींटे और बौछारें का आनंद अपने स्मार्टफ़ोन पर बेहतर तरीके से लें. गूगल प्ले स्टोर से छींटे और बौछारें एंड्रायड ऐप्प image इंस्टाल करें. ---